Hindi News »Haryana »Rohtak» Ram Rahim Violence Rs 120 Crore

राम रहीम को सजा के बाद हुई हिंसा में हुआ - 120 करोड़ का नुकसान

प्रदेश सरकार ने हाईकोर्ट में सौंपा नुकसान का पूरा ब्योरा

Bhaskar News | Last Modified - Jan 18, 2018, 07:38 AM IST

  • राम रहीम को सजा के बाद हुई हिंसा में हुआ - 120 करोड़ का नुकसान

    चंडीगढ़/रोहतक.सिरसा स्थित डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को सजा के बाद हुई हिंसा व तोड़फोड़ से हुआ नुकसान 220 करोड़ तक पहुंच गया है। पंजाब सरकार ने हाईकोर्ट में पहले ही कहा था कि राज्य को इससे 100 करोड़ का नुकसान उठाना पड़ा। ऐसे में अब हरियाणा सरकार ने बुधवार को पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट में नुकसान का ब्यौरा सौंपते हुए राशि को 120 करोड़ से अधिक बताया है।


    हाईकोर्ट ने डेरे से इस पर उनका पक्ष मांगते हुए मामले पर छह फरवरी के लिए सुनवाई तय की है। बुधवार को मामले की सुनवाई आरंभ होते ही हरियाणा सरकार की तरफ से अर्जी दायर कर कहा गया कि राज्य में 18,29,37,977 रुपये की संपत्ति को नुकसान पहुंचाया गया। इसके अलावा 80,57,63,058 रुपये का राजस्व नुकसान हुआ। सिक्योरिटी व दूसरी व्यवस्थाओं पर कुल 20,09,33,824 रुपये खर्च किए गए। जस्टिस सूर्यकांत, जस्टिस एजी मसीह व जस्टिस अवनीश झिंगन की खंडपीठ ने इस पर डेरे को अपना पक्ष रखने को कहा है।

    यह इलेक्शन पिटिशन या सिविल सूट नहीं: हाईकोर्ट

    डेरे की ओर से अर्जी दाखिल करते हुए इस याचिका पर ही सवाल उठा दिए गए। कहा गया कि याचिका सुनवाई के योग्य नहीं है। ऐसे में इसे खारिज किया जाए। हाईकोर्ट ने इस पर कहा कि यह कोई इलेक्शन पिटिशन या सिविल सूट नहीं है, जहां इस तरह की आपत्ति दर्ज की जाएं। हाईकोर्ट ने जनहित में इस मामले पर सुनवाई की है। कोर्ट ने कहा कि वे अर्जी पर 6 फरवरी को सुनवाई करेंगे।

    डेरा कांपलेक्स में काम करने वाले हाईकोर्ट पहुंचे
    डेरा सच्चा सौदा कांपलेक्स में काम करने वाले डेरे की सहयोगी संस्थाओं ने भी बुधवार को हाईकोर्ट में अर्जी दायर कर उनके बैंक खाते खोले जाने और काम करने की छूट दिए जाने की मांग की। कहा गया कि उनका काम काज ठप्प हो गया है। वे डेरे के साथ सीधे तौर पर नहीं जुड़े हैं। ऐसे में उन्हें अपना काम करने की अनुमति देते हुए बैंक खाते खोले जाएं।

    बाबा के सिक्योरिटी इंचार्ज व पीए ने पुलिस का नहीं किया सहयोग

    डेरा प्रकरण के दौरान पंचकूला और सिरसा में हुई हिंसा के मामले में गिरफ्तार हुए डेरा प्रमुख गुरमीत सिंह की सिक्योरिटी के इंचार्ज कर्मजीत सिंह उर्फ हैप्पी व पीए राकेश कुमार का सिरसा पुलिस ने तीन दिन का रिमांड ले रखा है। रिमांड के पहले दिन दोनों ही आरोपियों ने पुलिस की पूछताछ में सहयोग नहीं किया है। पुलिस ने आगजनी और हिंसा के संबंध बनी रणनीति के बारे में उनसे पूछताछ की थी, मगर दोनों ही गोलमाल जवाब देकर टालते रहे। सिरसा एसआईटी इंचार्ज डीएसपी अजय कुमार ने बताया कि दोनों आरोपियों से अब तक हुई पुलिस पूछताछ में कोई विशेष जानकारी नहीं मिल पाई है। अभी उनसे पूछताछ जारी है। यहां बता दें कि कर्मजीत और राकेश दोनों ही बाबा के नजदीकी थे। डेरे में होने वाली तमाम गतिविधियों के बारे में उन्हें जानकारी होती थी। इसलिए सिरसा पुलिस को शक है कि है कि हिंसा के लिए बनी रणनीति में ये शामिल थे। इसके अलावा डेरा से निकाले गए सामान के बारे में भी पुलिस पूछताछ कर रही है। गुरुवार को दोनों आरोपियों को शहर थाना पुलिस डेरा सच्चा सौदा में ले जाकर निशानदेही भी करवाएगी। वहीं मंगलवार शाम को डेरा चेयरपर्सन विपासना इंसां के संबंध में भी पंचकूला एसआईटी सिरसा सिटी थाने में आई थी।

    साढ़े 13 करोड़ अधिक का हुआ था नुकसान

    डेरा सच्चा सौदा प्रकरण मामले में आगजनी और हिंसा में हुए नुकसान की रिपोर्ट हरियाणा सरकार ने हाईकोर्ट में सौंप दी है। हरियाणा सरकार ने इस पूरे प्रकरण में 1 अरब से अधिक रुपये का नुकसान दर्शाया है। वहीं सिरसा जिला में सरकार ने 12 करोड़ रुपये से अधिक का नुकसान दर्शाया है। रिपोर्ट के मुताबिक वीटा मिल्क प्लांट में हुई तोड़फोड़ और आगजनी में 1 करोड़ 25 लाख 35 हजार रुपये के वाहन क्षतिग्रस्त हुए हैं। इसके अलावा साढे 34 लाख रुपये के दूध से बनने वाले उत्पाद का नुकसान हुआ, 1 करोड़ 72 लाख 11 हजार रुपये की मशीनें क्षतिग्रस्त दर्शाई गई है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Rohtak

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×