--Advertisement--

बिना बताए गैरहाजिर था हेड टीचर, अधिकारी से कंप्लेन करने पर साथी को मारी गोली

राजकीय प्राइमरी स्कूल के हेड टीचर ने सहयोगी टीचर को स्कूल में ही गाेली मार दी। गोली टीचर के कलेजे के पास लगी।

Danik Bhaskar | Dec 23, 2017, 04:28 AM IST

रेवाड़ी. राजकीय प्राइमरी स्कूल के हेड टीचर ने सहयोगी टीचर को स्कूल में ही गाेली मार दी। गोली टीचर के कलेजे के पास लगी। गंभीर हालत में उसे आईसीयू में भर्ती कराया गया है। मामला मोतला खुर्द का है। यहां सत्यनारायण हेड टीचर नियुक्त है, जबकि धीरेंद्र बतौर जेबीटी कार्यरत है। पुलिस के मुताबिक छह दिन पहले सत्यनारायण स्कूल से एक दिन की छुट्टी लेकर गया था, लेकिन पांच दिनों तक बगैर बताए गैरहाजिर रहा। धीरेंद्र ने इसकी शिकायत अधिकारियों से की थी। शुक्रवार को स्कूल की छुट्टी के बाद धीरेंद्र ताला बंद कर जाने लगा तो सत्यनारायण अपने बेटे के साथ पहुंचा और उसने स्कूल के कमरे में बंद कर धीरेंद्र की छाती में गोली मार दी। इसके बाद पहुंचे लोगों ने घायल टीचर को हॉस्पिटल में भर्ती कराया। क्या है पूरा मामला...

- बीईईओ मुकेश कुमार ने बताया कि सत्यनारायण की ड्यूटी में लापरवाही की लगातार शिकायतें आ रही थीं।

- पांच महीने पहले भी स्कूल से गैरहाजिर रहने को लेकर धीरेंद्र ने उसकी शिकायत की थी। तब सत्यनारायण को चेतावनी दी गई थी।

- जाटूसाना थाना प्रभारी एसआई राजेंद्र सिंह ने बताया कि गांव वालों ने हाल ही में मिड-डे मील में गड़बड़ी काे लेकर भी शिकायत भेजी थी।

- इससे सत्यनारायण और धीरेंद्र में अनबन थी। इन्हीं वजहों से आरोपी ने वारदात को अंजाम दिया।

- विक्टिम के बयान पर पिता-पुत्र के खिलाफ हत्या के प्रयास का मामला दर्ज कर जांच की जा रही है।

घायल की आपबीती; हेड टीचर बोले-अलमारी का ताला खोलना, मैं घूमा तो मार दी गोली...

मामला मोतला खुर्द का है। यहां सत्यनारायण हेड टीचर नियुक्त है, जबकि बेरली निवासी धीरेंद्र बतौर जेबीटी कार्यरत है।

- घायल टीचर धीरेंद्र ने बताया कि दोपहर के करीब साढ़े 3 बजे थे। स्कूल की छुट्टी हो चुकी थी, मैं भी जाने की तैयारी ही कर रहा था। तभी हेड टीचर सत्यनारायण बेटे के साथ आए। वे कमरे में रखी अलमारी का ताला खोलने लगे।

- सत्यनारायण ने मुझसे कहा कि ताला खुल नहीं रहा है, जरा खोलना। मैं अलमारी का ताला खोलकर जैसे ही घूमा तो उनके हाथ में पिस्तौल थी। अचानक उन्होंने फायरिंग कर दी। गोली मेरे सीने पर लगी। इसके बाद दोनों वहां से भाग गए।

- मैं जैसे-तैसे कमरे से बाहर आया। फिर इसके बाद मुझे याद नहीं क्या हुआ।