--Advertisement--

बस के नीचे दबने से हुई बेटे की मौत, लाश देख पिता बोले- अब कौन देगा पानी

17 साल के स्टूडेंट ओम उर्फ गगन ने हेलमेट नहीं पहन रखा था। बस ने स्टूडेंट के सिर को कुचल दिया, जिससे उसकी मौके पर ही मौत

Danik Bhaskar | Dec 08, 2017, 01:48 AM IST
गगन की लाश देख उसके पिता बेहोश हो गए। गगन की लाश देख उसके पिता बेहोश हो गए।

रोहतक. बहस्पतिवार दोपहर करीब 3 बजे पुलिस लाइन के सामने स्कूल बस ने एक बाइक सवार नाबालिग स्टूडेंट को टक्कर मार दी। 17 साल के स्टूडेंट ओम उर्फ गगन ने हेलमेट नहीं पहन रखा था। बस ने स्टूडेंट के सिर को कुचल दिया, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। जानकारी पाकर पहुंचे बच्चे के पिता ने बेटे की लाश देखी तो वो बेहोश हो गए। छात्र घर से चंद मिनट पहले ही पल्सर बाइक पर सवार होकर ट्यूशन के लिए निकला था। दो बहनों का इकलौता भाई था गगन...

- गगन दो बहनों का इकलौता भाई था। वह बाबा मस्तनाथ स्कूल में 11वीं का स्टूडेंट था। बाइक में मिले चालान को देखकर उसकी पहचान हुई।
- हादसे के बाद आरोपी बस ड्राइवर को पुलिस ने आस-पास के लाेगाें की मदद से मौके पर पकड़ लिया था, लेकिन बस में बच्चे होने की वजह से बस ड्राइवर को बस छोड़ने के लिए जाने दिया।
पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है।
- जांच अधिकारी भूप सिंह ने बताया कि पुलिस ने लड़के के शव का पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों के हवाले कर दिया है।
- आरोपी बस ड्राइवर के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। जल्द ही आरोपी को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

मैं नहीं रह सकता फूल के बिना, अब कौन देगा पानी
- गगन की मौत के बाद घटनास्थल पर पहुंचे उसके पिता अशोक अपने बेटे को मृत हालात में देख एकदम फूट पड़े। वे सड़क पर ही बेहाेश हो गए।
- रोते चिल्लाते हुए अशोक बोले- हाय मेरे फूल के बिना अब कैसे रह पाऊंगा। मुझे कौन पानी देगा। अशोक के स्कूली दोस्त भी फूट-फूटकर रोए।

सिर पर हेलमेट होता तो शायद बच जाती जान
बताया जा रहा कि ओम ने हेलमेट नहीं पहना हुआ था। अगर उसने हेलमेट पहना हुआ होता तो शायद जान बच सकती थी।

फिर भी नहीं चेत रहे स्कूल और कोचिंग मालिक
पुलिस स्कूली स्टूडेंट्स को ट्रैफिक रूल्स के बारे में अवेयर करने के लिए लगातार सेमिनार कर रही हैं। इसके बावजूद न तो स्कूल ऑनर और न ही कोचिंग सेंटर मालिक ट्रैफिक रूल तोड़कर आने वाले स्टूडेंट्स पर कार्रवाई कर रहे हैं।

गगन ग्यारहवीं क्लास का स्टूडेंट था। गगन ग्यारहवीं क्लास का स्टूडेंट था।
घटना से गुस्साए लोगों ने रोड पर प्रदर्शन भी किया। घटना से गुस्साए लोगों ने रोड पर प्रदर्शन भी किया।