--Advertisement--

पिता के साथ CM से मिलने पहुंची सिंगर की बेटी, 4 घंटे तक करती रही पुलिस से संघर्ष

मुख्यमंत्री मनोहर लाल से मिलने पहुंचे गायिका ममता शर्मा की बेटी हिना व पति रमेश कुमार को निराशा हाथ लगी।

Danik Bhaskar | Jan 28, 2018, 06:16 AM IST

रोहतक. राजीव गांधी स्टेडियम में गणतंत्र दिवस समारोह के मुख्य अतिथि मुख्यमंत्री मनोहर लाल से मिलने पहुंचे गायिका ममता शर्मा की बेटी हिना व पति रमेश कुमार को निराशा हाथ लगी। वो सुबह साढ़े आठ बजे ही कई लोगों के साथ राजीव गांधी स्टेडियम के मुख्य द्वार पर जुट गए थे। दोपहर एक बजे तक चले समारोह में सीएम से मिलने के लिए हरसंभव प्रयास किए। लेकिन पुलिस ने उन्हें आयोजन स्थल में प्रवेश नहीं करने दिया। काफी जद्दोजहद के बाद एमडीयू के फैकल्टी हाउस में परिजन सीएम से मिले और सीबीआई जांच की मांग रखी।

सीएम ने पूरा मामला सुनने के बाद आईजी को निष्पक्ष जांच कर जल्द कार्रवाई के दिए। शुक्रवार सुबह 10 बजे तक राजीव गांधी खेल परिसर में बने आयोजन स्थल पर पुलिस व खुफिया विभाग को पता ही नहीं चला कि गायिका ममता शर्मा के परिजन सीएम से मिलने के प्रयास में हैं। परिजन स्टेडियम के गेट पर इस इंतजार में खड़े थे कि जैसे ही सीएम का काफिला स्टेडियम के अंदर प्रवेश करेगा। वह गाड़ी रोककर ममता हत्याकांड की उच्चस्तरीय जांच की मांग करेंगे।


लेकिन उन्हें सीएम के कार्यक्रम स्थल पर आने का पता नहीं चल पाया। बाद में उन्होंने अंदर जाकर सीएम से मिलने का प्रयास किया। लेकिन पुलिस ने उन्हें गेट पर ही रोक दिया। इस दौरान पुलिस के अधिकारियों ने बताया कि दो आरोपियों को पकड़ लिया गया है और पुलिस उस पर जांच कर रही है। मृतक ममता की बेटी हिना ने आरोप लगाया कि एसएचओ ने रिपोर्ट बदल दी है। बार-बार मांगने के बाद भी एसएचओ एफआईआर की कापी नहीं दे रहा है। मर्डर केस में दो लोग नहीं, 7 लोगों का ग्रुप है। इसलिए वह सीएम से मिलकर सीबीआई जांच कराना चाहती हैं। पुलिस ने सीएम से मिलने को मना किया तो परिजन व ग्रामीण भड़क गए, उन्होंने सरकार और पुलिस प्रशासन मुर्दाबाद के नारे लगाने शुरू कर दिए। स्टेडियम के अंदर जबरन प्रवेश करने के लिए धक्कामुक्की की। माहौल बिगड़ता देख मौके पर एक गाड़ी फोर्स के अतिरिक्त फायर ब्रिगेड और वरिष्ठ पुलिस अफसर जा पहुंचे। दोपहर 1 बजे तक चले कार्यक्रम के दौरान ममता के परिजनों ने 5 बार कार्यक्रम में घुसने की कोशिश की। हर बार पुलिस ने उन्हें रोक दिया।

कार्यक्रम समापन के बाद अंदर से आ रहे वाहनों को भी प्रदर्शनकारियों ने रोकने की कोशिश की, लेकिन हर बार पुलिस उन्हें धकेल कर किनारे करती रही। पुलिस ने प्रस्ताव रखा कि गणतंत्र दिवस कार्यक्रम के बाद सीएम मनोहर लाल एमडीयू फैकल्टी हाउस जाएंगे। वहां मिलवा दिया जाएगा, तब जाकर लोग सड़क से हटे। गायिका ममता के बेटे भारत ने बताया कि काफी विरोध जताने के बाद पुलिस ने हमें सीएम से फैकल्टी हाउस में मिलवाया। सीएम ने आईजी को आदेश देकर निष्पक्ष जांच कर कार्यवाही करने को कहा है।