--Advertisement--

न्यू ईयर सेलिब्रेशन से पहले शहर में क्राइम आउट ऑफ कंट्रोल....

नववर्ष के आगाज की तैयारियों के बीच शहर में एकाएक आपराधिक घटनाएं बढ़ने लगी है।

Dainik Bhaskar

Dec 29, 2017, 06:02 AM IST
unsolved murder case in  rohtak

रोहतक | नववर्ष के आगाज की तैयारियों के बीच शहर में एकाएक आपराधिक घटनाएं बढ़ने लगी है। पांच दिन में चार हत्याएं हो चुकी है जबकि पांचवीं हत्या को लेकर संशय बना हुआ है। बजरंग भवन फाटक के नजदीक लाइन के बगल में मिले शव को लेकर हत्या की आशंका हुई है। ऐसे हालातों के बीच गौर करने वाली बात यह है कि पुलिस वारदातों को रोकने में ही नाकाम नहीं है बल्कि हत्याओं के खुलासे में नाकाम साबित हो रही है। प्रॉपर्टी डीलर सत्यवान मलिक मर्डर केस में भी पुलिस अभी तक कातिलों को नहीं पकड़ पाई है।

टैक्सी ड्राइवर के नजदीकी 15 लोग जांच के दायरे में, अभी तक नहीं मिला कोई सुराग

सेक्टर-2 के पास मंगलवार को हुई खरावड़ के धर्मेंद्र की हत्या मामले में भी पुलिस के हाथ अभी तक खाली हैं। कई एंगल से जांच करने के बाद पुलिस की राह नतीजों से पहले बंद हो रही है। अब पुलिस धर्मेंद्र के मोबाइल की कॉल डिटेल के आधार पर 15 लोगों से पूछताछ करेगी। इसी से हत्या की सारी वजहों से पर्दा उठने की पुलिस को आस है। वहीं धर्मेंद्र की पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर भी नया खुलासा हुआ है। उसकी हत्या सिर पर पत्थरों से वार कर की गई थी। सिर को पत्थरों से बुरी तरह कुचला गया था। पुलिस ने डीके हत्याकांड से पर्दा उठाने के लिए उसकी कॉल डिटेल का सहारा ले रही है। पुलिस को जो डिटेल मिलें हैं उसके अनुसार धर्मेंद्र ने वारदात की रात से पहले दिनभर में 15 लोगों से फोन पर बातचीत की थी। उसकी पत्नी की आखिरी बार उससे रात को दस बजे के करीब बात हुई थी।

पोस्टमार्टम में युवक की कई पसलियां टूटी मिली, लीवर भी फटा हुआ मिला

बजरंग भवन के फाटक से करीब 500 मीटर की दूरी पर जीआरपी को रात करीब 12 बजे 35 वर्षीय युवक का शव रेलवे लाइन के पास मिला है। युवक के दाहिने हाथ पर एसएस कमल लिखा है। शव की शिनाख्त नहीं हो पाई। पुलिस इस मामले में हत्या और हादसे को लेकर उलझी गई है। पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टर ने बताया कि मृतक की पसलिया टूटी है और लीवर फटा है। इस कारण युवक की मौत हुई है। सब इंस्पेक्टर राजपाल सिंह ने बताया कि मृतक की पहचान हो जाए तो इसके बाद ही हत्या कर मुकदमा दर्ज होगा। अभी पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के असली कारणों का पता चल पाएगा, रिपोर्ट आने में दो दिन का अोर समय लगेगा।

रसींद्र की हत्या के छह दिन बाद भी हत्यारों को नहीं ढूंढ पाई पुलिस

दुर्गा भवन मंदिर के पास पुराना लाटरी बाजार में 23 दिसंबर की सुबह करीब आठ बजे रसींद्र का शव मिला था। पुलिस जांच में सामने आया था कि युवक के सिर में पत्थर मारकर उसकी हत्या की गई है। जबकि उसे करीब 100 मीटर की दूरी पर एक दूसरा युवक गंभीर हालात में मिला था। पुलिस ने घायल को उपचार के लिए पीजीआईएमएस में भर्ती करवाया। जो फिलहाल पीजीआईएमएस के वार्ड पांच में उपचाराधीन है। पुलिस घायल की शिनाख्त के प्रयास कर रही है। घायल के दाहिने हाथ पर पूर्ण चंद लिखा हुआ है। पुलिस का कहना है कि अगर घायल व्यक्ति को होश आए तो उसके बाद ही इस घटनाक्रम के बारे में खुलासा हो पाएगा।

डेयरी संचालक को गोली मारने से पहले मारे थे चाकू

लाढ़ौत रोड पर हुई भैयापुर गांव के डेयरी संचालक राजेश देशवाल की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में नया खुलासा हुआ है। राजेश को एक ही गोली मारी गई थी। उसके शरीर पर अन्य जो दो निशान मिले थे वो गोली के घाव नहीं थे। उस पर चाकू या किसी दूसरे नुकीले हथियार से छाती व कंधे पर वार किया गया था। जबकि प्रथम दृष्ट्या उसके घावों को देखकर पुलिस व चिकित्सक उसके शरीर पर मिले तीनों घावों को गोली लगने के निशान मान रही थी। मृतक राजेश के भाई सोमबीर ने भी अपने बयान में हत्या गोलियां मारकर करने की बात लिखवाई थी। वहीं अभी तक पुलिस हत्याकांड की वजह व हत्यारों के बारे में अधिक जानकारी नहीं जुटा पाई है। गुरुवार को राजेश का गांव में अंतिम संस्कार कर दिया गया।


पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा-गोली
मारने से पहले किया था चाकू से हमला

गुरुवार को पीजीआईएमएस में राजेश देशवाल के शव का पोस्टमार्टम हुआ। रिपोर्ट में सामने आया कि राजेश को गोली मारने से पहले चाकू मारे गए थे। उसके कंधे व छाती पर चाकू से वार के दो निशान मिले हैं। इसके बाद राजेश को पेट में गोली मारी गई। अधिक खून बहने की वजह से ही उसकी मौत हुई। वहीं पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर अब पुलिस की जांच थ्योरी भी बदली है। जांच में ये बात भी सामने आई है कि वारदात के दौरान राजेश की हत्यारों से हाथापाई भी हुई थी। लेकिन हत्यारों की संख्या ज्यादा होने पर राजेश कमजोर रहा। उसके चेहरे पर भी कई खरोंच के निशान मिले हैं।


मुखबिरी से पुलिस जोड़ेगी घटना की कड़ियां
राजेश की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में गोली के अलावा चाकू से वार करने का खुलासा होने के बाद पुलिस की जांच थ्योरी भी बदली है। पुलिस के अनुसार गोली मारकर हत्या के एंगल में पहले वो मान रही थी कि राजेश के साथ रंजिश में किसी ने पेशेवरों से इसे अंजाम दिलाया है। अब चाकू से भी हमला करने से ये माना जा रहा है कि जिस शख्स से राजेश की सीधे रंजिश थी वो भी हत्यारों में शामिल था। ऐसे में पुलिस ने अपने मुखबिरों को गांव व उन लोगों के बीच एक्टिव कर दिया है जो राजेश और उसके जानकार हैं। अर्बन एस्टेट थाना प्रभारी मंजीत मोर का कहना है किि पुलिस की दो टीम हत्यारोपियों तक पहुंचने के प्रयास में जुटी हुई है। जल्द ही इसका केस में खुलासा कर देंगे।

X
unsolved murder case in  rohtak
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..