• Home
  • Haryana
  • Rohtak
  • शौरा कोठी की 6 गलियों में एक वर्ष से पानी सप्लाई ठप, एक नल पर लगती भीड़
--Advertisement--

शौरा कोठी की 6 गलियों में एक वर्ष से पानी सप्लाई ठप, एक नल पर लगती भीड़

माता दरवाजा स्थित शौरा कोठी की 6 गलियों में पाइप लाइन बिछने के बावजूद एक वर्ष से घरों में पीने के पानी की आपूर्ति...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 03:30 AM IST
माता दरवाजा स्थित शौरा कोठी की 6 गलियों में पाइप लाइन बिछने के बावजूद एक वर्ष से घरों में पीने के पानी की आपूर्ति नहीं हो पा रही है। इसकी वजह अंग्रेजों के जमाने में बसी इसी कॉलोनी की जर्जर पाइप लाइन व लो प्रेशर है। जल संकट झेल रहे लगभग एक हजार परिवार चंदा करके बूढ़ी माता चौक पर लिए गए कनेक्शन या गोकर्ण बूस्टर से पानी ढोने को मजबूर हैं। नगर निगम के वर्तमान वार्ड 3 अंतर्गत आने वाले इस इलाके में पीने के पानी की सप्लाई जींद रोड स्थित बूस्टर से होती है। पब्लिक हेल्थ विभाग में कंप्लेंट के बाद भी जब समाधान नहीं हुआ तो लोगों ने मीटिंग कर आपस में चंदा किया और नेहरू कॉॅलोनी साइड से पानी की पाइप लाइन बिछवाकर बूढ़ी माता चौक पर एक नल का कनेक्शन लिया। आज यहीं से शौरा कोठी के जरूरतमंद परिवार पीने का पानी भरते हैं। बाकी के दिनभर की जरूरत को वे सबमर्सिबल पंप के जरिए पूरी कर रहे हैं। शौरा कोठी निवासी सुरेंद्र पाहवा, विनोद, विकास, रमेश, विनय, शशि, नरेश, अनिल, सत्यवान, अशोक ने बताया कि हफ्ते में कभी कभी पांच से दस मिनट पानी आता है, लेकिन वह गंदा व बदबूदार होने से बेकार चला जाता है।

रोहतक. नहरू काॅलोनी में पानी की समस्या काे लेकर गंदा पानी और खाली मटके दिखाती महिलाएं।

आजाद नगर : यहां पर करीब 350 घरों की आबादी निवासी करती है। जसबीर कुमार ने एसडीओ सुरेश अहलावत से पानी का टैंकर भेजने की मांग की तो उन्होंने जल्दी टैंकर भिजवाने का आश्वासन भर दिया।

हकीकत नगर जनता कॉलोनी: लगभग 200 परिवारों रहते हैं। 25 दिन से पीने के पानी के लिए मुश्किल झेलनी पड़ रही है। रिटायर्ड मास्टर रामफल ने बताया कि टैंकर मांगने पर अफसर ने पीछे से पानी कम मिलने की कहानी सुना दी।

अंबेडकर कॉॅलोनी: लगभग 500 परिवार रहते हैं। हफ्ते भर से पानी की आपूर्ति नहीं हो पा रही है। यहां के निवासी मोनू ने फोन पर एक्सईएन भानु प्रकाश शर्मा से संपर्क किया तो उन्होंने बताया कि एक हफ्ते बाद व्यवस्था ठीक हो जाएगी।

ओल्ड हाउसिंग बाेर्ड: यहां लगभग 300 परिवार निवास करते हैं। जलापूर्ति ठीक करने के लिए पानी की नई पाइप लाइन बिछाई गई है। फिर भी समय और जरुरतभर पानी नहीं मिल पा रहा है।