• Home
  • Haryana
  • Rohtak
  • 2 अप्रैल को धरना स्थगित, 12 को करनाल में धरने की दी चेतवानी
--Advertisement--

2 अप्रैल को धरना स्थगित, 12 को करनाल में धरने की दी चेतवानी

रोहतक | नियम 134 ए के तहत आर्थिक रूप से कमजोर परिवार के मुखिया बच्चे को प्राइवेट स्कूल में दाखिला दिलाने के लिए 10...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 03:30 AM IST
रोहतक | नियम 134 ए के तहत आर्थिक रूप से कमजोर परिवार के मुखिया बच्चे को प्राइवेट स्कूल में दाखिला दिलाने के लिए 10 अप्रैल तक ही आवेदन फार्म जमा करा सकेंगे। 15 अप्रैल को असेसमेंट टेस्ट लिया जाएगा। टेस्ट में पास होने के लिए बच्चों को 55 फीसदी अंक लाना अनिवार्य है, जबकि दूसरे बच्चे 33 फीसदी अंक लाने पर भी प्राइवेट स्कूलों में दाखिला पा रहे हैं। जो कि हरियाणा सरकार का आर्थिक रूप से कमजोर परिवार के प्रति खुला अन्याय व भेदभाव है। यह बात शनिवार को दो जमा पांच मुद्दे जन आंदोलन संगठन के अध्यक्ष एडवोकेट सत्यवीर सिंह हुड्डा ने दी। उन्होंने कहा कि नियम 134 ए के तहत जिस स्कूल में बच्चा पढ़ता है, फीस माफ नहीं होगी। इन अन्याय के खिलाफ अब संगठन की ओर से दो अप्रैल की बजाय 12 अप्रैल को करनाल में धरना प्रदर्शन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि हमारा संगठन दलितों के भारत बंद के आह्वान का समर्थन करता है।

धरने की रहेंगी प्रमुख मांगें

असेसमेंट टेस्ट में पास प्रतिशत 55 फीसदी की बजाय 33 फीसदी की जाए। जिस स्कूल में बच्चा पढ़ता है उसमें बच्चे की फीस माफ नही होगी, इस शर्त को वापिस लिया जाए। नियम 134-ए के तहत बच्चों का अधिकार घटे हुए 10 फीसदी से बढ़ाकर वापस 25 फीसदी किया जाए। स्कूलों की मनमानी व महंगी फीस का निश्चित किया जाए ताकि शिक्षा के व्यापारीकरण पर अंकुश लग सके। पहली कक्षा में आरटीई. एक्ट के तहत दाखिलों में सरकारी स्कूल से लिख कर देना कि वहां सीट खाली नहीं है और तभी निजी स्कूल में फीस माफ होगी, इसे तुरंत वापस लिया जाए।