Hindi News »Haryana »Rohtak» मिनी जू में एक एकड़ में बनेगा नेचुरल िततली पार्क

मिनी जू में एक एकड़ में बनेगा नेचुरल िततली पार्क

मिनी चिड़ियाघर तिलियार में अब 10 लाख रुपए की लागत से 1 एकड़ में नेचुरल बटर फ्लाई पार्क बनाया जाएगा। यहां आसपास के...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 01, 2018, 03:35 AM IST

मिनी जू में एक एकड़ में बनेगा नेचुरल िततली पार्क
मिनी चिड़ियाघर तिलियार में अब 10 लाख रुपए की लागत से 1 एकड़ में नेचुरल बटर फ्लाई पार्क बनाया जाएगा। यहां आसपास के क्षेत्र में पाई जाने वाली 25 किस्म की तितलियों को आकर्षिक करने के लिए भिन्न भिन्न वेरायटी के खुशबूदार फूलों से उनका प्राकृतिक आवास बनाया जाएगा। प्रोजेक्ट को 15 जुलाई तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। जीव विज्ञानियों के अनुसार तितलियां नेचुरल ईको सिस्टम की इंडिकेटर हैं। इसको देखते हुए जू प्रशासन की मांग पर केंद्रीय जू प्राधिकरण की ओर से मंजूरी मिल गई। इसके बाद एक एकड़ में पार्क विकसित करने का काम शुरू कर दिया गया है। अब तक यहां घास रोपने के बाद पानी लगा दिया गया है।

सेंट्रल जू अथॉरिटी की अनुमति के बाद मिनी चिड़ियाघर में नए पार्क का काम शुरू

पार्क में बनेगा तितली फव्वारा, कुर्सियां भी बनेंगी प्राकृतिक

तितली पार्क में यह बनेगा

प्रवेश द्वार

पथ

सेंट्रल प्लाजा

बटर फ्लाई फाउंटेन (फाउंटेन के चारों ओर बटरफ्लाई लुक की कुर्सियां)

स्पिल्ड वाटर

नर्सरी (जहां फूलों की पौध तैयार की जाएगी)

पॉली हाउस

सर्विस एंट्रेंस

पार्क में सब प्राकृतिक होगा

तितलियों के इस पार्क में सारा कुछ प्राकृतिक होगा। आगंतुकों के बैठने तक की व्यवस्था पेड़ों के तानों और जड़ों को विभिन्न रूप देकर की जाएगी यानी पेड़ की जड़ से टेबल और तनों से विश्राम की जगह बनेगी। संभवत: प्रदेश के किसी भी चिड़ियाघर में यह अपने ढंग का पहला प्रयोग है। इस संबंध में डीडब्ल्यूएलओ मनोज कुमार ने बताया कि पर्यटन को बढ़ावा देने और नई पीढ़ी के बच्चों के मनोरंजन और उनका ज्ञानवर्धन के लिए यह प्रकल्प विकसित किया जा रहा है। यहां वर्ष भर खिलने और सुगंध बिखेरने वाले रंग-बिरंगे फूलों की क्यारियां होंगी, जो चिड़ियाघर का सौंदर्यकरण करने के साथ ही तिलियार जू की विशिष्ट पहचान बनेंगे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Rohtak

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×