• Home
  • Haryana
  • Rohtak
  • बीएसबी में छोड़ा 200 क्यूसेक पानी, कल से ज्यादा होगी सप्लाई
--Advertisement--

बीएसबी में छोड़ा 200 क्यूसेक पानी, कल से ज्यादा होगी सप्लाई

जल संकट झेल रहे शहरवासियों को सोमवार से कुछ राहत मिल सकती है। चार दिन से पानी की राशनिंग झेल रहे शहरवासियों की...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 03:35 AM IST
जल संकट झेल रहे शहरवासियों को सोमवार से कुछ राहत मिल सकती है। चार दिन से पानी की राशनिंग झेल रहे शहरवासियों की शिकायत के बाद सिंचाई विभाग की ओर से 200 क्यूसेक पानी भालौठ सब ब्रांच नहर में छोड़ा गया है। इस पानी को लिफ्ट करने से रविवार तक जलघरों के टैंक भरे जाएंगे। सोमवार से पानी की सप्लाई का समय बढ़ाया जा सकता है। वहीं, उम्मीद है कि दोनों समय भी जलापूर्ति पब्लिक हेल्थ विभाग कर सकता है। पानी किल्लत होने के बाद पब्लिक हेल्थ विभाग ने सिंचाई विभाग के शीर्ष अफसरों को पत्र भेजने के साथ ही 2 बार रिमाइंडर दिया था। इस पर संज्ञान लेते हुए सिंचाई विभाग की ओर से 200 क्यूसेक पानी रोहतक पहुंच गया है। उसे लिफ्ट कर वाटर वर्क्स के टैंक भरे जा रहे हैं। प्राथमिकता सबसे ज्यादा कठिनाई झेल रहे फर्स्ट वाटर वर्क्स से जुड़े मोहल्लों व काॅलोनियों की लगभग एक लाख आबादी को राहत प्रदान करनी है। वर्तमान समय में दिनभर में यहां मात्र एक समय ही पानी मिल रहा है और वह भी 25 से 40 मिनट ही आपूर्ति हो रही है।

- संबंधित खबर पेज-5 पर

कन्हेली हेड पर

पहुंचा नहरी पानी

भालौठ सब ब्रांच नहर में शनिवार देर शाम तक खुबड़ू हेड से छोड़ा गया 730 क्यूसेक नहरी पानी कन्हेली हेड पहुंच गया। यहां फाटक पहले से गिराए जाने से नहर में पानी का लेवल मेंटेन हुआ तो पब्लिक हेल्थ विभाग को पाउंडिंग कर पानी लिफ्ट करने में सहूलियत हो रही है। पब्लिक हेल्थ विभाग के अधिकारियों की मानें तो अगले चार से पांच दिन तक शहर केे पानी की किल्लत दूर हो जाएगी। 8-9 अप्रैल को नियमित रूप से आने वाली नहर भी आ जाएगी। इससे लगभग एक माह तक पानी की किल्लत नहीं रहेगी।

कल से दोनों समय भी दे सकते हैं पानी

रोहतक. बीएसबी नहर में पानी लिफ्ट करने के लिए पम्प लगाते कर्मचारी।


नहरी क्लोजर ग्रुप 4 से 5

करने पर आई दिक्कत

नहरी क्लोजर के चार ग्रुप के हिसाब जेएलएन में 1 अप्रैल को नहरी पानी आ जाता, लेकिन अब क्लोजर के प्रदेश में 5 ग्रुप बना दिए गए हैं। इससे अब जेएलएन में पानी 8 अप्रैल को आएगा। वहीं, बीएसबी 23 मार्च को बंद की गई थी। इसमें 32 दिन बाद पानी आएगा। वाटर वर्क्स की क्षमता कम होने के कारण नहरी पानी इतने समय के लिए स्टोर नहीं हो रहा। इस वजह से पानी की राशनिंग चार दिन से शुरू कर दी थी।

जलसंकट दूर करने को तीन हजार वाटर टैंकर का लगा टेंडर

गर्मी के मौसम को देखते हुए पब्लिक हेल्थ ने मार्च महीने में ही पानी की आपूर्ति के लिए 3000 वाटर टैंकर का टेंडर लगाया है। इसमें वाटर सप्लायर को 15 से 17 वाटर टैंकर का प्रबंध रखने का निर्देश हैं ताकि डिमांड के मुताबिक संबंधित काॅलोनियों में पानी पहुंचाया जा सके। पब्लिक हेल्थ एक टैंकर पानी के बदले में सप्लायर को 317 रुपए प्रति टैंकर के हिसाब से भुगतान करेगा।