Hindi News »Haryana »Rohtak» संस्कारों से उत्तम बनता मानव जीवन: डॉ. राजेंद्र

संस्कारों से उत्तम बनता मानव जीवन: डॉ. राजेंद्र

आर्य प्रतिनिधि सभा हरियाणा की ओर से दयानंदमठ में रविवार को मासिक वैदिक सत्संग आयोजित किया गया। शुभारंभ प्रात: 9...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 02, 2018, 03:50 AM IST

आर्य प्रतिनिधि सभा हरियाणा की ओर से दयानंदमठ में रविवार को मासिक वैदिक सत्संग आयोजित किया गया। शुभारंभ प्रात: 9 बजे यज्ञ से हुआ। यज्ञ के ब्रह्मा आचार्य सर्व मित्र आर्य रहे। पं. जितेंद्र शास्त्री, हनुमत मकड़ौली, दया आर्या ने उपस्थित आर्य जनों को ईश्वर भक्ति एवं स्वामी दयानंद के गीतों से भाव विभोर कर दिया। सभा के मंत्री उमेद सिंह शर्मा ने कहा कि हमें सत्संग में आकर अपने आचार और विचारों को शुद्ध करना चाहिए, जिससे हम उत्तरोत्तर प्रगति की ओर बढ़ सकें। हमें कुसंग से सदैव बचना चाहिए। मुख्यवक्ता वैदिक विद्वान डॉ. राजेंद्र विद्यालंकार ने वेद मंत्रों पर मानव जीवन के संदर्भ में विचार रखा। कहा कि ऋषि वर दयानंद के बताए हुए आदर्शों का पालन जरूरी है। उन्हें समाज और देश की सर्वाधिक चिंता रही है। मानव जीवन संस्कारों से बनता है। हमारे ऋषि-मुनि जानते थे कि हमारी उन्नति कैसे होगा। अत: उन्होंने हमें प्रकृति से जुड़ी अनेक समस्याओं के बारे में बताया।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Rohtak

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×