Hindi News »Haryana »Rohtak» पांच सेक्टरों के 4709 प्लाॅटधारकों पर 460 करोड़ का डाला इनहांसमेंट, 11 से देंगे धरना

पांच सेक्टरों के 4709 प्लाॅटधारकों पर 460 करोड़ का डाला इनहांसमेंट, 11 से देंगे धरना

पदाधिकारियों में मतभेद... जाट भवन में आरडब्लूए की राज्यस्तरीय बैठक में एक सर्वमान्य कमेटी नहीं होने से कई बार...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 02, 2018, 03:50 AM IST

पांच सेक्टरों के 4709 प्लाॅटधारकों पर 460 
करोड़ का डाला इनहांसमेंट, 11 से देंगे धरना
पदाधिकारियों में मतभेद... जाट भवन में आरडब्लूए की राज्यस्तरीय बैठक में एक सर्वमान्य कमेटी नहीं होने से कई बार हंगामे की स्थिति भी बनी।

15 वर्ष तक इनहांसमेंट नोटिस दबाने वाले हुडा अधिकारियों की सीबीआई जांच की मांग

भास्कर न्यूज | रोहतक

हरियाणा अर्बन डेवलपमेंट अथॉरिटी यानी हुडा की ओर से प्रदेश में सेक्टरों पर लगाए गए करीब 17 हजार 480 करोड़ रुपए के इनहांसमेंट के खिलाफ रविवार को 16 जिलों की आरडब्लूए एकजुट हुईं। रेजीडेंट वेलफेयर एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने जाट भवन में महासम्मेलन कर सरकार को 10 दिन का अल्टीमेटम दिया है। इसके बाद हर जिले में धरने शुरू किए जाएंगे। आरडब्लूए पदाधिकारियों ने कहा कि 5 से 15 वर्षों तक हुडा अधिकारी इनहांसमेंट के नोटिस दबाए बैठे रहे। अब मनमाने ब्याज और गलत कैलकुलेशन के साथ नोटिस जारी किए गए हैं। इसकी सीबीआई जांच होनी चाहिए। रोहतक में भी 5 सेक्टरों के 4709 प्लाॅटधारकों पर करीब 460 करोड़ रुपए का इनहांसमेंट डाला गया है। वहीं, भाजपा मीडिया प्रभारी राजीव जैन ने कहा कि सरकार 7 दिन में राहत का फार्मूला निकाल लेगी।

10 दिन के आरडब्लूए के अल्टीमेटम पर भाजपा मीडिया प्रभारी बोले, 7 दिन में सरकार निकाल लेगी फार्मूला

2003 में ही नोटिस भेज देते 15 वर्ष तक क्यों दबाए रखे

रोहतक के सेक्टर एक आरडब्लूए के प्रधान कदम सिंह अहलावत ने कहा कि हुडा ने रोहतक के 5 सेक्टरों पर 460 करोड़ रुपए का आर्थिक बोझ लाद दिया है। सेक्टर 6 के प्लाटधारकों पर 371 करोड़, सेक्टर एक के प्लाटधारकों पर 27 करोड़, सेक्टर 3 के प्लाटधारकों पर 12 करोड़, सेक्टर 4 के प्लाटधारकों पर 50 करोड़ रुपए के इनहांसमेंट के नोटिस भेजे गए हैं। हुडा की पॉलिसी के तहत ही यदि इन नोटिस का री-कैलकुलेशन करा लिया जाए तो हुडा को प्रत्येक प्लाटधारकों को पांच लाख से डेढ़ करोड़ रुपए तक का भुगतान करना पड़ जाएगा।

1991 में भर चुके हैं इनहांसमेंट, कई लोगों ने कर्ज लेकर घर बनाए

कदम सिंह ने कहा कि 1985 में उन्होंने सेक्टर 1 में प्लॉट लिया तो यहां पर सुनसान इलाका था। सांप-बिच्छू निकलते थे। चोरी ज्यादा होती थी। उन समेत अन्य प्लॉटधारकों ने इसे अाबाद किया। 1991 में भी उन्होंने इनहांसमेंट भरा। उन्होंने कहा कई लोगों ने अपने जीवन की सारी पूंजी लगाकर सेक्टरों में घर बनाए हैं। अब वे और पैसे नहीं भर सकते।

रोहतक में हुडा की ओर से भेजे गए नोटिस (दर रुपए प्रति वर्ग मीटर में)

सेक्टर प्लॉटधारक इनहांसमेंट दर

सेक्टर-1 1623 530.07

सेक्टर-3 1050 317

सेक्टर-4 एक्सटेंशन 859 3787

सेक्टर- 5 478 3787

सेक्टर-6 699 4006

इनहांसमेंट वापस लेना या न लेना वित्तीय मामला है। सरकार की ओर से इस मुद्दे पर दो बार मीटिंग की जा चुकी है। प्लाटधारकों को राहत देने की कोशिश की जा रही है। एक सप्ताह में राहत का फार्मूला लाया जाएगा। -राजीव जैन, मीडिया प्रभारी, भाजपा

सेक्टर-3 के 900 लोगों ने हाईकोर्ट में केस डाला

सेक्टर 3 निवासी रामचंद्र सिवाच ने बताया कि हुडा जब कंगाली के कगार पर आ गया तो सारा बोझ अब सेक्टरवासियों पर डालना चाह रहा है। इनहांसमेंट के खिलाफ सेक्टर 3 के करीब 900 लोगों ने मई 2017 में हाईकोर्ट में केस डाला था। इस पर 3 महीने में हुडा को जवाब देना था, लेकिन हुडा ने अब तक जवाब नहीं दिया। अब हाईकोर्ट में कोर्ट की अवमानना का केस दायर किया गया है। इस पर अगस्त में सुनवाई है।

30 फीसदी सोलेटियम चार्ज लेना गलत : वत्स

हिसार में सेक्टर इनहांसमेंट संघर्ष समिति के प्रधान कुलदीप वत्स ने कहा कि हिसार जिले में हुडा ने प्लाटधारकों को 200 करोड़ रुपए के इनहांसमेंट नोटिस भेज दिए हैं। 30 फीसदी सोलेटियम चार्ज दोबारा वसूला जा रहा है, जो सरासर गलत है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Rohtak

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×