Hindi News »Haryana »Rohtak» 7 जिलों से लिए दूध के 104 में 84 सैंपल फेल, मिला कीटनाशक

7 जिलों से लिए दूध के 104 में 84 सैंपल फेल, मिला कीटनाशक

हरियाणाकी पहचान ताकत देने वाले दूध-दही से है। मगर लाला लाजपत राय यूनिवर्सिटी आॅफ वेटरनरी एंड एनीमल साइंस ने जब...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 11, 2017, 03:55 AM IST

हरियाणाकी पहचान ताकत देने वाले दूध-दही से है। मगर लाला लाजपत राय यूनिवर्सिटी आॅफ वेटरनरी एंड एनीमल साइंस ने जब गली-गली डोल में बिकने वाले दूध की जांच की तो इसकी पोल खुलकर सामने आई गई।

जांच में दूध का दूध और पानी का पानी ही नहीं हुआ बल्कि इसमें जहरीले अंश भी मिले हैं। ऐसे में शक्ति और पोषण का मुख्य स्रोत माना जाने वाला दूध अब आपको प्रोटीन और कैल्शियम देने की बजाए स्लो पायजन दे रहा है। शहर में दूधियों द्वारा बेचे जा रहे दूध में 9 तरह के कीटनाशक पाए गए हैं। हिसार की लुवास के वैज्ञानिकों द्वारा दूधियों के ढोल से लिए गए दूध के सैंपलों की जांच में यह खुलासा हुआ है। लुवास के वेटरनरी पब्लिक हेल्थ डिपार्टमेंट ने पिछले दिनों प्रदेश के सात जिलों हिसार, भिवानी, सिरसा, अम्बाला, महेंद्रगढ़, जींद रोहतक में दूधियों द्वारा बेचे जाने वाले दूध में कीटनाशकों की मिलावट पर शोध किया है।

वैज्ञानिकों ने 2016-17 में इन सात जिलों में दूध के 104 सैंपल लिए थे। जांच के दौरान वैज्ञानिकों ने इनमें से 84 सैंपलों में कीटनाशकों की मात्रा पाई है। 9 सैंपलों में तो कीटनाशकों की मात्रा सामान्य से अधिक पाई गई है। वैज्ञानिकों का कहना है कि कीटनाशक मिले हुए दूध को लगातार पीने से इंसान को कई प्रकार की बीमारियां अपनी चपेट में ले सकती हैं।

^दूध में कीटनाशकों की मात्रा मिली है। दूध में यह कैसे पहुंची इसकी यह जांच का विषय है। यह दूधियों द्वारा दूध में पानी मिलाने या फिर सीधे पशु से दूध में भी सकते हैं। डॉ.एनके महाजन, वरिष्ठ वैज्ञानिक, लुवास।

^कीटनाशक मिले दूध के लगातार सेवन से औसत आयु को घटा देता है। डॉ.नरेश सत्संगी, एसएमओ, सिविल अस्पताल।

कीटनाशक का शरीर पर असर

कीटनाशकमिले दूध के लगातार सेवन करने से इंसान को एक नहीं कई प्रकार की बीमारियां चपेट में ले सकती हैं। इसमें मुख्य रूप से कैंसर, किडनी, लीवर, हार्ट, ब्लड प्रेशर, पाचन प्रक्रिया खराब, बार-बार पेट खराब होना और आंखों पर असर डालता है। इसके अलावा इन कीटनाशकों का प्रभाव इंसानी शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता को कम कर देता है।

सैंपलों में कीटनाशक

कीटनाशक सैंपल

ट्राइजोफॉस28

मोनोक्रोटोफॉस 14

इडिफनफास 55

क्लोरोपायरीफाॅस 32

प्राइमिफास मिथाइल 15

मैलाथियाॅन 28

फैनट्रोथियान 24

डाइक्लोरवास 15

क्यूनलफॉस 32

किस जिले से कितने सैंपल

जिला सैंपल पॉजीटिव सामान्य

से अधिक

हिसार42 29 02

रोहतक 05 05 00

जींद 05 05 03

महेंद्रगढ़ 20 17 02

अम्बाला 11 11 02

सिरसा 19 15 00

भिवानी 02 02 00

4 जिलों के सभी सैंपलों

में मिले कीटनाशक

लुवासमें वैज्ञानिकों द्वारा जिन सात जिलों से दूध के सैंपल लिए उनमें से चार जिले तो ऐसे हैं जहां वैज्ञानिकों द्वारा लिए गए सभी सैंपलों में ही कीटनाशक मिले हैं। सबसे अधिक सैंपल हिसार से 42 सैंपल लिए थे, जिसमें से 29 सैंपल पाॅजीटिव मिले हैं। वहीं महेंद्रगढ़ से 20 सैंपल लिए थे जिसमें 17 सैंपलों में कीटनाशक की मात्रा पाई गई है जबकि जींद, भिवानी, रोहतक अम्बाला के सभी सैंपलों में कीटनाशक मिले हैं।

कैंसर, अपाचन, हाई ब्लड प्रेशर जैसी बढ़ रही बीमारियां

शोध

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Rohtak

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×