• Hindi News
  • Haryana
  • Rohtak
  • सेक्टर 1 वासी बोले 26 साल बाद दोबारा नोटिस देने का क्या मतलब
--Advertisement--

सेक्टर-1 वासी बोले- 26 साल बाद दोबारा नोटिस देने का क्या मतलब

Rohtak News - रोहतक. सेक्टर एक में इन्हांसमेंट को लेकर बैठक करते आडब्ल्यूए के पदाधिकारी। 80 हजार के प्लाट की इनहांसमेंट के डेढ़...

Dainik Bhaskar

Feb 01, 2018, 01:20 PM IST
सेक्टर-1 वासी बोले- 26 साल बाद दोबारा नोटिस देने का क्या मतलब
रोहतक. सेक्टर एक में इन्हांसमेंट को लेकर बैठक करते आडब्ल्यूए के पदाधिकारी।

80 हजार के प्लाट की इनहांसमेंट के डेढ़ लाख रुपए नहीं देंगे, हाईकोर्ट जाएंगे

भास्कर न्यूज | रोहतक

हुडा विभाग की ओर से दोबारा इनहांसमेंट नोटिस भेजने की तैयारी को लेकर सेक्टर एक के रेजीडेंट वेलफेयर एसोसिएशन की बुधवार को बैठक हुई, जिसमें प्लाट धारकों ने आक्रोश व्यक्त किया। साथ ही सर्वसम्मति से इसका विरोध करने का फैसला किया गया।आरडब्ल्यूए के प्रधान कदम सिंह अहलावत की अध्यक्षता में शाम को 4 बजे हुई बैठक में वक्ताओं ने हुडा विभाग के रवैए पर आपत्ति जताई गई। वक्ताओं ने कहा कि यह प्लाटधारकों के साथ ज्यादती है। नोटिस भेजी गई तो 80 से 90 हजार रुपए में सेक्टर एक में प्लाट खरीदने वालों को आज डेढ़ लाख रुपए तक इनहांसमेंट की रकम जमा करानी होगी। यह आम आदमी के साथ अन्याय है। वह भी जब वर्ष 1995 में एक बार इनहांसमेंट की अदायगी की जा चुकी है तो दोबारा से नोटिस का औचित्य ही नहीं बनता है। इस दौरान उपस्थित जगफूल दलाल, सतबीर मेहरा, सूबेदार दरियाव सिंह, यशपाल सिंह, डॉ. राजकुमार, अाजाद सिंह, सूबेदार मेजर स्वराज दलाल, सुखबीर सिंह नारा, वेद कादयान, बलबीर सिंह, मनजीत कुमार एवं राजेंद्र सिंह आदि ने बताया कि वे किसी भी कीमत पर इनहांसमेंट की राशि जमा नहीं करेंगे। साथ ही हुडा के इस फैसले को हाईकोर्ट में चुनौती देने की तैयार की जा रही है।

इनहांसमेंट पर तकरार

X
सेक्टर-1 वासी बोले- 26 साल बाद दोबारा नोटिस देने का क्या मतलब
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..