• Home
  • Haryana
  • Rohtak
  • डेरे में डकैती : एसएचओ बोले- बाबा बदल रहा है बयान, थाने ले जाएंगे, ग्रामीण अड़े तो 120 लोगों पर हाईवे र
--Advertisement--

डेरे में डकैती : एसएचओ बोले- बाबा बदल रहा है बयान, थाने ले जाएंगे, ग्रामीण अड़े तो 120 लोगों पर हाईवे रोकने का केस

सांघी गांव के डेरा बाबा लोधीवाला में हुई डकैती पर सदर थाना पुलिस की एक टीम सुबह गांव में जांच के लिए पहुंची। इस...

Danik Bhaskar | Feb 01, 2018, 01:20 PM IST
सांघी गांव के डेरा बाबा लोधीवाला में हुई डकैती पर सदर थाना पुलिस की एक टीम सुबह गांव में जांच के लिए पहुंची। इस दौरान बदमाशों की गिरफ्तारी की मांग पर ग्रामीणों ने रोहतक-पानीपत हाईवे 71 ए पर जाम लगा दिया था। एसएचओ मंदीप माेर ने ग्रामीणों को मामले में जल्द कार्रवाई का भरोसा दे करीब 40 मिनट बाद जाम खुलवा दिया। इसके बाद जांच के लिए डेरा लोधीवाला में पहुंचे। वहां पर बाबा सुंदरनाथ व दूसरों के बयान लेने शुरू किए। दरअसल मामला बिगड़ा बाबा सुंदरनाथ से बातचीत के दौरान एसएचओ ने जब बाबा से पूछा तो उन्होंने बयान दिया कि बदमाशों के जाने के बाद उसने अपने हाथ खुद खोल लिए थे। इसके बाद वो कमरे से बाहर इसलिए नहीं आ सका क्योंकि दरवाजा बाहर से बंद था। बाद में सफाई कर्मचारी राजेश ने दरवाजा खोल उसे बाहर निकाला। इसी दौरान मौके पर खड़े खुफिया विभाग के कर्मचारियों से पुलिस को सूचना मिली की सफाई कर्मचारी राजेश उनके सामने कह रहा था कि बाबा के हाथ उसने खोले। कुछ और बातों पर पुलिस को बाबा पर यकीन नहीं हुआ। एसएचओ मंदीप मोर ने बाबा को पूछताछ के लिए थाने ले जाने की बात कही तो ग्रामीण अड़ गए।

ग्रामीण बोले- कोई अपने घर में डाका क्यों डलवाएगा

ग्रामीणों का तर्क था कि 65 साल उम्र के बाबा सुंदरनाथ इस गांव में 15 साल की उम्र में आए थे। डेरे की संपति के मालिक वो खुद हैं। ऐसे में वो ऐसा काम नहीं कर सकते। उन पर शक न करें। इस पर ग्रामीणों और एसपी में काफी देर बहस हुई। बाद में ग्रामीणों ने कहा कि बाबा से जो बात पुलिस जानना चाहती है उसके लिए एक पांच सदस्यीय कमेटी बना वो पुलिस को सहयोग करेंगे। पर बाबा को थाने नहीं ले जाने देंगे। बाद में एसएचओ मंदीप मोर वहां से चले गए। इसके बाद देर शाम पुलिस ने सुबह पानीपत हाईवे जाम करने के मामले में गांव के रामभगत, प्रताप, भगत सिहं, बलबीर, उमेद, रामकरण, राजकुमार हुड्डा, सुरजा, रामफल, साधुराम, वजीर, राजपाल, अनिल, सुमित, सुधीर, नवीन, सुनील उर्फ शीना, राजेश, रणधीर, रवि, मनजीत, विजय, सुभाष व बाबा सुंदरनाथ व आशीष समेत 120 लोगों के खिलाफ रोड जाम करने का केस दर्ज कर लिया है।

एसएचओ से बहस करते ग्रामीण।