Hindi News »Haryana »Rohtak» शहर के पॉश इलाकों म

शहर के पॉश इलाकों म

फर्श, शीशे, शटर तोड़ते हुए उखाड़ी एटीएम, मगर धमाका कौन सुनता? मार्केट में चौकीदार तक नहीं, हैरत की बात; दिन में गार्ड,...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 01, 2018, 01:25 PM IST

फर्श, शीशे, शटर तोड़ते हुए उखाड़ी एटीएम, मगर धमाका कौन सुनता? मार्केट में चौकीदार तक नहीं, हैरत की बात; दिन में गार्ड, रात को सूनी, बीमे का खेल


शहर के पॉश इलाकों में शामिल सेक्टर 2-3 के शॉपिंग सेंटर में बदमाशों ने बुधवार को देर रात जिले में एटीएम चोरी की सबसे बड़ी वारदात को अंजाम दिया। 27 लाख 79 हजार 200 रुपए से भरी एटीएम को चोर उखाड़ कर ले गए। गुरुवार की सुबह जब सिक्योरिटी गार्ड मार्केट पहुंचा तो मामले का पता चला। पुलिस को जांच के दौरान एटीएम के बरामदे के पास सड़क पर किसी गाड़ी के टायरों के निशान मिले हैं। पुलिस का मानना है कि बोलेरो या स्कॉर्पियो जैसी गाड़ी में चोर आए थे। एटीएम को किसी क्रेन नुमा मशीन से खींचकर गाड़ी में डाला गया है। फर्श पर एटीएम के घसीटने के निशान भी मिले हैं। केबिन जिस तरह की हालत में मिला है, उससे लगता है कि इसे उखाड़ते वक्त धमाका हुआ होगा। मगर रात 3 से सुबह 5 बजे के बीच हुए इस धमाके को सुनने वाला कोई नहीं था। क्योंकि इतनी बड़ी मार्केट में एक भी चौकीदार नहीं है। एटीएम पर गार्ड तैनात है लेकिन उसकी ड्यूटी सुबह 6 से लेकर रात 10 बजे तक है। रात को एटीएम को सूना छोड़ दिया जाता है।

सेक्टर 2-3 की मार्केट से 27 लाख 79 हजार कैश समेत एटीएम उखाड़ ले गए चोर

शटर पर नहीं थे ताले, चोर आसानी से अंदर घुसे, पहले सीसी कैमरे पर डाला ब्लैक स्प्रे, फिर उखाड़ी एटीएम

रात 3 से तड़के 5 बजे के बीच उखाड़ी एटीएम

2:30 बजे : पुलिस की वैन ने लगाया था चक्कर

थाना इंचार्ज देवेंद्र मान का कहना है कि रात करीब ढाई पुलिस की मोबाइल वैन मार्केट गई थी, तब एटीएम सुरक्षित था। उसके बाद वैन दूसरे इलाकों में गश्त करने चली गई। यानि 3 बजे के बाद की घटना होगी।

5.00 बजे : मार्केट में खुल चुकी थी एक दुकान

परिधि जनरल स्टोर के संचालक बबलू ने बताया कि रात साढ़े दस बजे दुकान बंद कर घर गया था। सुबह 5 बजे दुकान खोलने आया था। तब यहां कोई नहीं था। एटीएम की तरफ ध्यान नहीं गया।

6.00 बजे : गार्ड के पहुंचने पर एटीएम नहीं थी

सिक्योरिटी गार्ड सतीश ने बताया कि सुबह 6 से लेकर रात 10 बजे ड्यूटी होती है। बुधवार को ड्यूटी पर मार्केट आया तो एटीएम गायब थी। शटर उखड़ा हुआ था। शीशे टूटकर सड़क तक पड़े थे।

गार्ड सतीश बोला, मंगलवार को मेरा भाई था ड्यूटी पर

किलोई गांव के सतीश ने बताया उसकी ड्यूटी सुबह छह बजे से लेकर शाम दस बजे तक ड्यूटी है। पिछले तीन महीने यहीं ड्यूटी है। उसका भाई अशोक की भी इसी एटीएम पर ड्यूटी है। मंगलवार को उसका भाई ड्यूटी पर था। बुधवार की सुबह छह बजे जब वह ड्यूटी पर आया तो उसको एटीएम का शटर उखड़ा मिला। इसके बाद उसने सुपरवाइजर को फोन कर बताया।

रोहतक. सेक्टर 2 मार्केट में टूटा एटीएम बूथ।

सड़क पर मिले टायरों के निशान, गाड़ी में मिनी क्रेन के जरिए एटीएम को लिफ्ट की संभावना, पहले भी ऐसा हुआ था

इतने नोट ले गए चोर

नोट संख्या राशि

100 67 6,700

500 3,365 16,82,500

2000 545 10,90,000

कुल 27,79,200

नोट : एटीएम कंपनी से प्राप्त आंकड़ा।

नॉलेज

दो तरह के होते हैं एटीएम : बैंक अधिकारियों की मानें तो एटीएम दो तरह के होते हैं। इसमें एक कोपेक्स एटीएम हैं, जिसमें हर तरह की सुरक्षा के फीचर लगाए गए हैं। बैंकों की ओर से इन्हीं एटीएम को लगाया गया है। इस एटीएम में जैसे ही कोई चोरी की कोशिश करता है तो सायरन और अन्य सुरक्षा मानकों से पता चल जाता है। दूसरी तरह का एटीएम बीएलई कहलाता है। इस एटीएम में लो-कॉस्ट एटीएम आते हैं। केंद्र सरकार की ओर से प्राइवेट कंपनियों से इस तरह के एटीएम लगाने की योजना को शुरु किया था, लेकिन सुरक्षा फीचर ना होने के चलते अधिकतर ये एटीएम ही निशाने पर होते हैं।

जिले में 35 लो-कॉस्ट एटीएम : जिले में फिलहाल प्राइवेट कंपनी की ओर से 35 लो-कॉस्ट एटीएम लगाए गए हैं, चूंकि ये सस्ते पड़ते हैं। इनकी असुरक्षा के कारणों के चलते ही निदेशालय की ओर से 31 मार्च तक इन एटीएम को हटाने या सुरक्षा पुख्ता करने के लिए भी कहा गया है। वहीं लो-कॉस्ट एटीएम ही अपराधियों के निशाने पर भी बने हुए हैं। चूंकि इनका फाउंडेशन कमजोर होता है। इसके लिए ज्यादा मशक्कत नहीं करनी पड़ती।

मार्केट में एक ही कैमरा :सेक्टर 2-3 की सबसे बड़ी मार्केट के जिस ब्लॉक में एटीएम चोरी हुआ है, वहां केवल एक दुकान पर कैमरा लगा है। एटीएम से करीब 100 मीटर दूर इस दुकान में बने ऑफिस की सीसीटीवी फुटेज को थाना इंचार्ज देवेंद्र मान ने कब्जे में लिया। पड़ताल में वारदात की एक भी फुटेज नहीं मिली।

इन3 बिंदुओं पर जांच

1. कौन सी थी गाड़ी : मार्केट की दुकान में लगे सीसीटीवी कैमरे से कोई सुराग न मिलने पर पुलिस अब विभिन्न रास्तों पर लगे कैमरे की फुटेज जांच रही है ताकि यह पता चल सके कि एटीएम को किस गाड़ी में लेकर गए।

2. कोई सेलफोन नंबर : पुलिस इलाके के मोबाइल टावर का डंप उठवाया है। ताकि सेलफोन नंबरों को खंगाल कर बदमाशों की गिरेबां तक पहुंच सके। हालांकि पुलिस को बदमाशों की तरफ से सेलफोन की उम्मीद कम है।

3. पुराने गैंग पर नजर : एटीएम उखाड़ने की वारदातों में लिप्त गैंग से जुड़े बदमाशों के बारे में भी पुलिस पड़ताल कर रही है। इनमें कितने जेल के अंदर है और कितने बाहर।

अंदर पढ़े

पेज-5

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Rohtak News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: शहर के पॉश इलाकों म
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Rohtak

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×