--Advertisement--

पिंजरे में बंदर की मौत होने पर केस दर्ज, गड्ढे में नहीं मिली लाश

ताजा खुदे गड्ढे के पास पड़ी थी जानवर की हड्डियां, नोच रहे थे कुत्ते।

Dainik Bhaskar

Nov 22, 2017, 07:36 AM IST
Case against Monkey in Cage

रोहतक। शहर से बंदर पकड़ो अभियान के दौरान माॅडल टाउन कम्युनिटी सेंटर में पिंजरे में रखे बंदर की मौत का मामला मंगलवार को तूल पकड़ गया। पीपुल फॉर एनीमल ऑफ हरियाणा (पीएफए) के अध्यक्ष नरेश कादियान ने केस दर्ज करवाते हुए सेंट्रल वाइल्ड लाइफ क्राइम कंट्रोल ब्यूरो, मुख्य वन प्राणी संरक्षक, वन मंत्री के संज्ञान में इस घटना को लाकर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। इसके बाद प्रशासन हरकत में आया और मृत बंदर की बॉडी को ढूंढता रहा।

- कम्युनिटी सेंटर से सटे बूस्टिंग स्टेशन परिसर से दोपहर में जानवर के बाल और जबड़े आदि की हड्डी पाई गई, जिसे कुत्ते नोच रहे थे। आशंका जताई जा रही है कि यह उसकी बंदर की हड्डियां थी। वहीं, बंदर पकड़ने वाले ठेकेदार कृष्ण का दावा है कि एक बंदर ज्यादा बीमार था, उसे इलाज दिया गया तो वह ठीक हो गया।

- बंदर को सकुशल जंगल भेजा गया है। कम्युनिटी सेंटर में पहुंचे मॉडल टाउन गोल मार्केट रेजीडेंट वेलफेयर एसोएिससन के प्रधान आनंद स्वरूप अरोड़ा, पुरुषोत्तम परमजीत अरोड़ा आदि ने बताया कि कम्युनिटी सेंटर की चहारदीवारी के पास बूस्टिंग स्टेशन साइड एक ताजा खुदा गड्ढा भी मिला, लेकिन उसमें मृत बंदर की लाश नहीं थी।

- आसपास जानवर के बाल हड्डियां पड़ी थीं। इसे मृत बंदर के अवशेष होने की आशंका जताई है। मॉडल टाउन निवासियों ने बताया कि मॉडल टाउन कम्युनिटी सेंटर में दो दिन पहले तीन पिंजरों में लगभग 40 बंदर मिले। कई बंदर उनमें घायल थे। उन्हीं में एक मृत बंदर को बूस्टिंग स्टेशन परिसर में दफन कर दिया गया।

X
Case against Monkey in Cage
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..