--Advertisement--

सूने घर में लड़की लेकर पहुंचे पुलिसवाले, लोगों पर पिस्तौल तान दी ऐसी धमकी

अपराध रोकने का दावा करने वाले पुलिस पर ही बुधवार को सवाल खड़े हो गए।

Danik Bhaskar | Nov 16, 2017, 06:16 AM IST

रोहतक. अपराध रोकने का दावा करने वाले पुलिस पर ही बुधवार को सवाल खड़े हो गए। राजीव काॅलोनी के एक खाली मकान में तीन पुलिस कर्मचारी लड़की के साथ आए। लोगों ने यहां गलत काम का विरोध किया तो उन्होंने वर्दी की धौस दिखाते हुए कॉलोनीवालों पर पिस्तौल तान दी। काॅलोनी के लोग इकट्ठा हाे गए तो चारों वहां से खिसक लिए, लेकिन बाद में उनमें से दो पुलिस कर्मचारी फिर वापस आए आैर विरोध जताने वाली महिला के घर में घुस गए। आरोप है कि उन्होंने फिर पिस्तौल तानकर धमकी दी। मौके पर आई पीसीआर को भी घेरकर काटा बवाल..

- इस पर लोगों का गुस्सा फूट पड़ा और उन्होंने दोनों को पकड़कर बैठा लिया। पुलिस को इसकी सूचना दी। पीसीआर के आने पर लोेगों ने उनका भी घेराव कर लिया।

- करीब आधे घंटे तक हंगामे के बाद बड़ी मुश्किल से पीसीआर को निकाला गया। काॅलोनीवासी इकट्ठा होकर एसपी निवास पर पहुंचे। यहां उन्हें कार्रवाई का आश्वासन मिला।

- लोगों ने इसके बाद शिवाजी काॅलोनी थाने पहुंचकर कम्पलेन दी। फिलहाल पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की है। लोगों का आरोप है कि पुलिस कर्मचारी अक्सर यहां पर लड़कियों के साथ आते हैं।

माडल टाउन चौकी के कर्मी व जज के गनमैन की दी धमकी

- कॉलोनी में रहने वाली रेखा ने बताया कि बुधवार शाम करीब पांच बजे तीन पुलिसकर्मी एक लड़की को लेकर उसके घर के पास एक मकान में आए।

- उनमें से एक युवक मकान के बाहर पहरा देने लगा। मैं उसके पास गई और लड़की यहां लाने का विरोध किया। इस पर आरोपी ने झगड़ा करना शुरू कर दिया।

- इसके बाद अंदर से एक पुलिसकर्मी अर्धनग्न अवस्था में आया और उस पर पिस्तौल तान दी और बाेला मैं मॉडल टाउन चौकी में तैनात हूं। दूसरे ने जज का गनमैन होने की धौस जमाई।

- इसके बाद आसपास के लोगों की भीड़ इकट्ठी होने पर अंदर से एक युवक और आया, जिसके साथ एक लड़की भी थी। एक ने खुद को सिविल लाइन थाने का कर्मचारी बताया।

- दो पुलिस कर्मियों ने उन पर पिस्तौल तान दी। कॉलोनीवासियों का विरोध बढ़ने पर चारों वहां से फरार हो गए। इसके कुछ समय बाद फिर पड़ोस के एक लड़के के पास फोन आया कि हम आ रहे हैं।

- रेखा का आराेप है कि आरोपी आते ही उसके मकान में घुसे और उस पर पिस्तौल तान दी और कहा कि आगे से ऐसा विरोध किया तो जान से मार देंगे। झगड़ा होने पर आसपास के लोगों की भारी भीड़ इकट्ठा हो गई। इसके बाद दोनों को पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया।

पुलिस वालों ने पीसीआर लेकर भागने की कोशिश की तो जमीन पर लेटे कॉलोनी में रहने वाले लोग

- पीसीआर को चारों तरफ से महिलाओं ने घेर लिया और विरोध जताने लगी। काफी बहस के बाद पुलिस कर्मचारी मौका मिलते ही वहां से पीसीआर निकालने लगे।

- इसी दौरान लोगों ने पीसीआर का पीछा कर उसको रास्ते में रुकवा लिया। इसी दौरान एक व्यक्ति पीसीआर के आगे लौट गया। इसके बाद काफी देर तक हंगामा चला। पुलिस कर्मचारियों ने लोगों को बड़ी मुश्किल से समझा-बुझाकर शांत किया।

गुस्साए कॉलोनी में रहने वाले लोगों ने थाने के बाहर धरना देने की दी चेतावनी

- गुस्साए लोगों एसपी आवास से लौटकर शिवाजी कॉलोनी थाने में पहुंच गए। उन्होंने दोनों पुलिस कर्मियों के खिलाफ उचित कार्रवाई की मांग की।

- इसी मांग को लेकर वे देर रात तक थाने के बाहर डटे रहे। लोगाें का कहना है कि कार्रवाई न होने पर वे धरना देंगे।


शिकायत पर जांच शुरू
रोहतक के एसपी पंकज नैन ने बताया कि काॅलोनी में रहने वालों की शिकायत दर्ज कर ली गई है। अगर जांच में कोई पुलिसकर्मी दोषी पाया गया तो उसके खिलाफ उचित कार्रवाई की जाएगी।