Hindi News »Haryana »Rohtak» Team Taken Cylender

गैस चोरी पकड़वाने वालों के सिलेंडर ले गई टीम, अब पड़ोसियों से मांग रहे उधार

घरेलू गैस चुराने के मामले का खुलासा करने वालों कमल कॉलोनी के लोगों को दो दिन बाद भी सिलेंडर नहीं मिला।

Bhaskar news | Last Modified - Nov 05, 2017, 05:19 AM IST

गैस चोरी पकड़वाने वालों के सिलेंडर ले गई टीम, अब पड़ोसियों से मांग रहे उधार
रोहतक. घरेलू गैस चुराने के मामले का खुलासा करने वालों कमल कॉलोनी के लोगों को दो दिन बाद भी सिलेंडर नहीं मिला। गुरुवार को सिलेंडर सप्लायर की बेईमानी पकड़वाने के बाद 10 सिलेंडरों को जब्त किया गया था। इन सिलेंडरों में दो से ढाई किलो गैस कम थी। इन 10 लोगों को दूसरा गैस सिलेंडर नहीं मिला है। इस वजह से मजबूरी में कई लोगों को पड़ोसियों से सिलेंडर उधार मांगकर लाना पड़ रहा है। वहीं, सोमवार को इस मामले में मापतोल विभाग में कार्रवाई पूरी होने का इंतजार है। इसके बाद उम्मीद है कि इन 10 लोगों को सिलेंडर मिल सकेगा।
गैस का दुरुपयोग
घरेलूगैस सिलेंडरों का दुरुपयोग अब भी जारी है। इनकी कालाबाजारी जोरों पर है। होटल, रेस्टोरेंट, ढाबे, ठेले समेत अनेक जगहों को घरेलू गैस सिलेंडरों का इस्तेमाल हो रहा है। हालांकि व्यावसायिक इस्तेमाल के लिए व्यावसायिक सिलेंडर हैं, मगर महंगे होने के चलते लोग इनसे परहेज बरतते हैं। यही नहीं इनकी सप्लाई भी कम है। इसी कारण घरेलू गैस सिलेंडरों की मांग है। इस मांग को कुछ लोग दूसरों के सिलेंडरों से गैस चोरी कर पूरा करने का गोरखधंधा चलाते हैं।
गैस निकालने के बाद दोबारा लगाते हैं सील
सिलेंडरमें कम गैस का खेल अकेले सप्लायर के बस की बात नहीं है। इस मामले में गैस एजेंसी के दूसरे अधिकारियों की मिलीभगत नजर रही है। इसकी वजह सिलेंडरों में से गैस निकालने के बाद उन पर दोबारा सील लगाना है। यह काम आम आदमी या एजेंसी से बाहर के व्यक्ति के बस का नहीं है। सील लगाने वाला उपकरण भले सौ रुपए का आता है, मगर सील के लिए इस्तेमाल होने वाला सामान एजेंसी का होता है। ऐसे में इस खेल में और लोगों के शामिल होने का अंदेशा है।
पड़ोसी से सिलेंडर लाए तब मिली चाय
घर में बुजुर्ग मां परिवार के दूसरे सदस्यों को परेशानी हो, इसलिए 10 दिन पहले सिलेंडर बुक कराया था। इसके बावजूद अब तक सिलेंडर नहीं मिला है। शनिवार सुबह सिलेंडर खाली हो गया। चाय तक नहीं बन पाई। पड़ोसी हरीश से उनका सिलेंडर उधार लेकर आया तो चाय मिली। गैस सप्लायर गुरुवार को सिलेंडर सप्लाई देने आए थे। इनमें दो से ढाई किलोग्राम गैस कम थी। इस बारे में प्रशासन को शिकायत करने के बाद अधिकारी कार्रवाई करने पहुंचे। अधिकारी सिलेंडर साथ ले गए। सिलेंडर मिलने की यह समस्या कॉलोनी के दूसरे लोगों की भी है। उनके सिलेंडर भी कभी भी खत्म हो सकते हैं। -डॉ.दलबीर, कमल कॉलोनी।
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Rohtak

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×