Hindi News »Haryana »Rohtak» सिंचाई विभाग ने आउट सोर्सिंग के 100 बेलदार हटाए

सिंचाई विभाग ने आउट सोर्सिंग के 100 बेलदार हटाए

सिंचाई विभाग ने जिले में अपने सौ बेलदारों को काम से हटा दिया गया है। ये सभी कर्मचारी विभाग ने आउट सोर्सिंग पर रखे...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 17, 2018, 03:20 AM IST

सिंचाई विभाग ने आउट सोर्सिंग के 100 बेलदार हटाए
सिंचाई विभाग ने जिले में अपने सौ बेलदारों को काम से हटा दिया गया है। ये सभी कर्मचारी विभाग ने आउट सोर्सिंग पर रखे थे। बेलदारों को काम से हटाने की वजह सिंचाई विभाग मुख्यालय के निर्देश और नहरों का क्लोजर 24 दिन की बजाए 32 दिन होने को कारण बताया गया है। तर्क है कि पानी चाल के समय ही बेलदारों की जरूरत होती है, जबकि प्रदेश की नहरों के वर्तमान शेड्यूल के अनुसार क्लोजर पीरियड 32 दिन का हो गया है। ऐसे में बेलदार मात्र 8 दिन काम करके पूरे महीने की तनख्वाह लेे रहे थे। सौ बेलदारों की तनख्वाह पर सिंचाई विभाग को लगभग हर माह 12 लाख रुपए खर्च करने पड़ रहे हैं। बीते छह महीने से बजट की कमी के चलते इनकी तनख्वाह भी बकाया चल रही है। वहीं हटाए गए बेलदारों के समर्थन में अब यूनियन आ गई है। यूनियन इन बेलदारों की बहाली पर अड़ गई है। मामले में यूनियन ने19 अप्रैल को सिंचाई भवन में धरना प्रदर्शन की चेतावनी दी है। यह निर्णय पीडब्ल्यूडी मैकेनिकल यूनियन संबद्ध सर्व कर्मचारी संघ की सोमवार को हुई गेट मीटिंग में किया गया।

पूरे प्रदेश में रोहतक में हुई छंटनी

यूनियन के जिला प्रधान शिव कुमार की अध्यक्षता में सिंचाई भवन में सोमवार को सुबह 10 बजे हुई बैठक मेें पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं ने कहा कि ये कर्मी बीते 3 वर्ष से बेलदार के पद पर कार्यरत रहे हैं। अब सिंचाई विभाग उन्हें क्यों हटा रहा है। पूरे प्रदेश में लगभग 3 हजार कच्चे बेलदार कार्यरत हैं। रोहतक को छोड़कर और कहीं भी ऐसी छंटनी नहीं की गई है। इस अवसर पर केंद्रीय कमेटी के जय भगवान दहिया, सर्व कर्मचारी संघ के देवेंद्र हुड्डा, सर्व कर्मचारी संघ के जिला प्रधान कर्मवीर सिवाच, सोनीपत से जिला प्रधान धर्मपाल मलिक, ब्रांच के प्रधान धर्मबीर हुड्डा, दिल्ली सर्कल से राजेश धनखड़, नरेश हुड्डा, ब्रांच सेक्रेटरी राकेश लाकड़ा आदि ने संबोधित किया। अंत में सर्व सम्मति से तय किया गया कि 19 अप्रैल को सुबह 9 बजे से सिंचाई भवन परिसर में बेलदारों की बहाली की मांग को लेकर प्रदर्शन किया जाएगा।

विभाग का तर्क 8 दिन काम के लिए 12 लाख देनी पड़ती थी सैलरी

नहरों के पानी चाल में जरूरत के मुताबिक कच्चे कर्मचारियों को दोबारा मिलेगी ड्यूटी

रोहतक. सिंचाई विभाग के कार्यालय में बेलदारों की बैठक को संबोधित करते नेता देवेंद्र ।

जिन बेलदारों को हटाया गया है वे डीसी रेट पर एजेंसी के माध्यम से काम करने वाले कच्चे कर्मचारी हैं। जरूरत के हिसाब से उनसे काम लिया जाता है। पानी चाल के समय जरूरत के अनुसार बेलदारों की तैनाती की जाएगी। नहरी पानी की सप्लाई किसी रूप में बाधित नहीं होगी। वैसे यह डिवीजन लेवल पर लिया गया निर्णय है। संजीव राठी, एसई सिंचाई विभाग

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Rohtak

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×