• Hindi News
  • Haryana
  • Rohtak
  • आवेदकों की ‘गरीबी’ जाचंने की मांग पर अड़े स्कूल, 30 को प्राइवेट स्कूल करेंगेे हड़ताल
--Advertisement--

आवेदकों की ‘गरीबी’ जाचंने की मांग पर अड़े स्कूल, 30 को प्राइवेट स्कूल करेंगेे हड़ताल

Rohtak News - स्कूल संचालकों की ओर से नियम 134 ए के तहत दाखिला प्रक्रिया के लिए अावेदन करने वाले अभिभावकों की प्राॅपर्टी व आय की...

Dainik Bhaskar

Apr 17, 2018, 03:20 AM IST
आवेदकों की ‘गरीबी’ जाचंने की मांग पर अड़े स्कूल, 30 को प्राइवेट स्कूल करेंगेे हड़ताल
स्कूल संचालकों की ओर से नियम 134 ए के तहत दाखिला प्रक्रिया के लिए अावेदन करने वाले अभिभावकों की प्राॅपर्टी व आय की जांच कराने की मांग जोर पकड़ने लगी है। सरकार की ओर से चुनावी घोषणापत्र में किए गए वादों को पूरा न करने पर स्कूल संचालकों ने रोष जताया है। हरियाणा प्राइवेट स्कूल संघ ने 30 अप्रैल को प्रस्तावित धरना-प्रदर्शन के कार्यक्रम को फाइनल टच देने के लिए 25 अप्रैल को स्कॉलर रोजरी स्कूल की जूनियर विंग में सांय 3 बजे बैठक बुलाई है। यह जानकारी सोमवार को संघ के जिला प्रधान रविंद्र नांदल ने दी। उन्होंने कहा कि प्रदेश स्तरीय बैठक में जिलावार विरोध प्रदर्शन करने के निर्णय अनुसार रोहतक जिले के समस्त निजी स्कूलों में कार्यरत हजारों की संख्या में अध्यापक, अध्यापिकाएं एवं अन्य स्टाफ के सदस्य 30 अप्रैल को सुबह 10 बजे स्थानीय मानसरोवर पार्क में एकत्रित होंगे। सरकार के खिलाफ रोष प्रदर्शन करते हुए लघु सचिवालय में उपायुक्त को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपेंगे।

हिसार में हुई राज्यस्तरीय बैठक में इन मुद्दों पर हुई थी चर्चा

हरियाणा प्राइवेट स्कूल संघ की राज्यस्तरीय बैठक प्रदेश अध्यक्ष सत्यवान कुंडू की अध्यक्षता में 14 अप्रैल को हिसार में हुई थी। जिसमें प्रदेश में चल रहे गैर मान्यता प्राप्त स्कूलों को बंद करने के नोटिस जारी करने, 134-ए के तहत गरीब बच्चों की जगह अमीरों के बच्चों को झूठे आय प्रमाण पत्रों के आधार पर दाखिला दिलवाने आदि गंभीर मुद्दों पर विचार-विमर्श किया था। बैठक में इस बात पर भी रोष प्रकट किया कि भाजपा सरकार ने चुनावी घोषणा पत्र में निजी स्कूलों में परमिशन व अस्थाई मान्यता प्राप्त स्कूलों को स्थाई करने व मान्यता के नियमों में छूट देने की घोषणा की गई थी। लेकिन सरकार ने आज तक घोषणा पत्र को छूकर भी नहीं देखा है।

रोहतक. लघु सचिवालय में कमिश्नर से मिलने पहुंचे अभिभावक संघ के सदस्य।

अभिभावकों ने दी आंदोलन की चेतावनी रोहतक | एडीसी की ओर से हाल ही में की गई बैठक में फीस व फंड के नाम पर मनमानी न किए जाने की हिदायत जारी की गई थी। लेकिन स्कूल संचालकों ने एडीसी की हिदायतों को दरकिनार करते हुए मनमर्जी की फीस व फंड वसूलने के साथ ही अभिभावकों को निजी प्रकाशकों की किताबें खरीदने को बाध्य कर रहे हैं। इससे अभिभावकों में रोष व्याप्त है। सोमवार का अभिभावक संघ की अगुवाई में अभिभावकों का एक प्रतिनिधिमंडल कमिश्नर कार्यालय पहुंचा। यहां पर ज्ञापन देने के बाद उन्होंने चेतावनी जारी की है कि यदि जल्द ही कमिश्नर व प्रशासन ने सख्त कदम नहीं उठाए तो संघ बड़ा आंदोलन करने को मजबूर होगा। जिला प्रधान यशवंत ने बताया कि प्राइवेट स्कूलों ने फार्म छह नहीं भरे हैं। फिर भी 30 फीसदी तक फीस व फंड में इजाफा कैसे कर सकते हैं।

X
आवेदकों की ‘गरीबी’ जाचंने की मांग पर अड़े स्कूल, 30 को प्राइवेट स्कूल करेंगेे हड़ताल
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..