रोहतक

  • Hindi News
  • Haryana
  • Rohtak
  • बॉक्सर अमित के परिजन पहुंचे डीसी दफ्तर, निराश होकर लौटे
--Advertisement--

बॉक्सर अमित के परिजन पहुंचे डीसी दफ्तर, निराश होकर लौटे

राेहतक. मायना के ग्रामीण गली की समस्या को लेकर डीसी से मिलने पहुंचे। भास्कर न्यूज | रोहतक कॉमनवेल्थ गेम्स में...

Dainik Bhaskar

Apr 17, 2018, 03:20 AM IST
बॉक्सर अमित के परिजन पहुंचे डीसी दफ्तर, निराश होकर लौटे
राेहतक. मायना के ग्रामीण गली की समस्या को लेकर डीसी से मिलने पहुंचे।

भास्कर न्यूज | रोहतक

कॉमनवेल्थ गेम्स में सिल्वर मेडल जीतकर बाक्सर अमित पंघाल ने देश का नाम तो रोशन कर दिया। लेकिन उसे और उसके परिजनों को जिला प्रशासन की अनदेखी का शिकार होना पड़ रहा है। बाॅक्सर अमित के घर के बाहर की सड़क का निर्माण कराने के लिए खुद सीएम मनोहर लाल खट्टर ने 17 लाख 42 हजार रुपए देने की घोषणा की थी। एक साल बाद भी सीएम की घोषणा फाइलों में ही दबी हुई है। परिजन व गांव की पंचायत अफसरों के चक्कर काटकर परेशान हो गई है। लेकिन सड़क निर्माण अभी तक नहीं हाे सका है। कॉमनवेल्थ गेम्स में सिल्वर मेडल दिलाने वाले अमित के घर के बाहर सड़क निर्माण के लिए भी जिला प्रशासन अब भी नहीं चेत रहा है। 15 अप्रैल के अंक में भास्कर में मायना गांव की दुर्दशाग्रस्त गली से आवागमन में क्षेत्रीय लोगों को होने वाली दिक्कतों काे प्रमुखता से प्रकाशित किया गया था।

डीसी नहीं मिले

सरपंच प्रतिनिधि दिनेश व बाॅक्सर अमित के पिता विजेंद्र सिंह अन्य ग्रामीण सोमवार को डीसी दफ्तर में पहुंचे। यहां पर पता चला कि डीसी दफ्तर में नहीं हैं। कॉमनवेल्थ गेम्स के मेडल विजेता खिलाड़ी के पिता विजेंद्र व सरपंच प्रतिनिधि दिनेश ने नाराजगी जताते हुए दफ्तर से वापस लौट गए। पिता विजेंद्र सिंह ने बताया कि बेटे अमित ने मेडल जीतकर देश का नाम रोशन किया है और जिला प्रशासन खिलाड़ी के गांव की समस्या दूर कराने की सुध नहीं ले रहा है। सरपंच प्रतिनिधि दिनेश ने कहा कि 19 अप्रैल को बाॅक्सर अमित का स्वागत करना है।

X
बॉक्सर अमित के परिजन पहुंचे डीसी दफ्तर, निराश होकर लौटे
Click to listen..