• Hindi News
  • Haryana
  • Rohtak
  • स्कूल बंद रख संचालकों ने मंत्री के ऑफिस के बाहर लगाए नारे
--Advertisement--

स्कूल बंद रख संचालकों ने मंत्री के ऑफिस के बाहर लगाए नारे

नियम 134ए को खत्म करने की मांग को लेकर प्राइवेट स्कूल संचालक सोमवार को सड़कों पर उतरे और जमकर नारेबाजी की। प्राइवेट...

Dainik Bhaskar

May 01, 2018, 03:30 AM IST
स्कूल बंद रख संचालकों ने मंत्री के ऑफिस के बाहर लगाए नारे
नियम 134ए को खत्म करने की मांग को लेकर प्राइवेट स्कूल संचालक सोमवार को सड़कों पर उतरे और जमकर नारेबाजी की। प्राइवेट स्कूल संचालक प्रदर्शन करते हुए मानसरोवर पार्क से सहकारिता मंत्री के कैंप कार्यालय तक गए। करीब 20 मिनट तक प्रदर्शन के बाद भी कोई सुनवाई ना होने पर लघु सचिवालय का रूख किया। लघु सचिवालय पहुंचने पर बीडीपीओ राजपाल चहल को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा गया। साथ ही 3 मई तक सीएम से मुलाकात करवाने और 8 सूत्री मांगों के पूरा करने की चेतावनी दी।

हरियाणा प्राइवेट स्कूल संघ के जिलाध्यक्ष रवींद्र नांदल ने बीडीपीओ को नियम-134-ए के तहत फर्जी दस्तावेजों के आधार पर कानून का दुरुपयोग करने वाले अभिभावकों की जायदाद, आमदनी व यातायात के साधनों की फिजिकल वेरीफिकेशन करवाने की मांग की, ताकि फर्जी दस्तावेजों के आधार पर धनी परिवारों की ओर से गरीब बच्चों का हक मारने वालों का पर्दाफाश हो तथा गरीब का हक गरीब को मिले नहीं तो इस नियम को बिल्कुल समाप्त करें।

दस्तावेजों को फर्जी बताकर की जांच की मांग

भाजपा को याद दिलाया

घोषणा पत्र में किया वादा

दूसरा भाजपा के घोषणा पत्र में पहले के अस्थाई या परमिशन प्राप्त निजी स्कूलों को नियमों में वन टाईम एग्जेमपशन फॉर एग्जिस्टिंग पॉलिसी के तहत स्कूलों को ढील देकर प्रत्येक स्कूल को चाहे वह सशर्त ही मान्यता प्रदान करे ताकि साल दर साल स्कूल संचालकों को सड़कों पर उतरकर समय व पैसे की बर्बादी न करनी पड़े और न ही सरकार को कोर्ट में रोज-रोज मान्यता के पचड़ों में न पडऩा पड़े। इस अवसर पर बीडीपीओ राजपाल चहल ने आश्वासन दिया कि ये सभी मांगे जायज हैं और मांगों को मुख्यमंत्री तक पहुंचा दिया जाएगा। बता दें कि जिले में 578 प्राइवेट स्कूल हैं। इनमें 950 बच्चों में से अब तक 50 फीसदी के दाखिले हो चुके हैं।

शिक्षा विभाग ने दी चेतावनी,

मान्यता करेंगे रद्द

वहीं एसडीएम राकेश कुमार ने 17 स्कूलों को शिक्षा विभाग के मार्फत नोटिस भी जारी करवाए। इसके तहत स्कूल संचालकों से जवाब मांगा गया कि वे आखिर दाखिला क्यों नहीं दे रहे हैं। इनमें से सिर्फ 3 स्कूलों ने ही जवाब दिया। अब बचे हुए 14 स्कूल संचालकों से भी जवाब मांगा जाएगा। ऐसे में 57 अभिभावकों ने लिखित में एसडीएम को शिकायत की है। अब एसडीएम की ओर से दोबारा से जवाब न देने वाले स्कूलों को नोटिस भेजा गया है।

रोहतक . मांगों को लेकर प्रदर्शन करते हरियाणा प्राईवेट स्कूल संघ के सदस्य।

रोहतक . हरियाणा प्राईवेट स्कूल संघ के पदाधिकारी लघु सचिवालय के बाहर डीडीपीओ राजपाल चहल को ज्ञापन देते हुए।।

इधर, दाखिले से मना करने वाले 17 स्कूलों से विभाग ने मांगा जवाब

मंत्री को भी कोसा, नहीं लिया ज्ञापन

जिले के सभी स्कूल संचालकों ने सबसे पहले सरकार के सहकारिता मंत्री मनीष ग्रोवर को भी ज्ञापन की प्रति देने का निर्णय लिया था, लेकिन वे नहीं मिले। इसके चलते स्कूल संचालकों ने कैंप कार्यालय के बाहर बैठकर 11 बार गायत्री मंत्र जाप करते हुए मंत्री को सद्बुद्धि देने के लिए जाप किया। हरियाणा प्राइवेट स्कूल संघ के जिलाध्यक्ष रविन्द्र नांदल ने बताया कि बड़े खेद की बात है कि हमारे सहयोग से बनी सरकार के मंत्री ने ही मिलना तो दूर फोन पर भी बात करना वाजिब नहीं समझा। न ही उनके कार्यालय के किसी कर्मचारी ने स्कूल संचालकों का ज्ञापन लेना मुनासिब समझा।

खुले रहे कुछ स्कूल : जिले में प्राइवेट स्कूलों की हड़ताल के बावजूद भी कुछ स्कूल खुले रहे और उनके रोजाना की तरह की कक्षाएं लगी। छुट्टी के बाद बसों के जरिए उन्हें छोड़कर भी आए। इसे लेकर संघ के जिलाध्यक्ष रविंद्र नांदल का कहना है कि कम्युनिकेशन गैप के चलते ऐसी स्थिति रही। हालांकि जिले के सभी 578 प्राइवेट स्कूल इस विरोध में शामिल हैं।


3 मई को सीएम के रोड

शो में उठाएंगे मुद्दा

ज्ञापन प्रदान करते हुए जिला कार्यकारिणी के सभी सदस्यों एवं जिला कॉर्डिनेटर डॉ. रवि गुगनानी, अंशुल नरवाल, मीनू गिरधर, नंदा रेहानी, सुरेन्द्र मलिक, रमन परूथी, रविन्द्र दांगी, सलाहकार कमेटी के मुख्य सलाहकार अंशुल पठानिया, सुरजीत सिंह, अनिल कुंडू, देवेन्द्र वशिष्ठ , राजेन्द्र भारद्वाज, अशोक कुमार, सुमित चावला, सरोज मलिक, अनुराग सिंगल, रमेश गुप्ता, कृष्ण नरवाल, चन्द्र गर्ग, ओपी वर्मा, सुरेन्द्र फौगाट आदि ने बीडीपीओ राजपाल चहल से कहा कि जिला प्रशासन 3 मई को मुख्यमंत्री के रोड शो के दौरान इन मांगों से अवगत भी करवाएं अन्यथा प्रदेश के अन्य जिलों के स्कूल संगठनों को आमंत्रित करके रोहतक से एक बड़े आंदोलन का बिगुल बजाने में देर नहीं लगाएंग।

स्कूल बंद रख संचालकों ने मंत्री के ऑफिस के बाहर लगाए नारे
X
स्कूल बंद रख संचालकों ने मंत्री के ऑफिस के बाहर लगाए नारे
स्कूल बंद रख संचालकों ने मंत्री के ऑफिस के बाहर लगाए नारे
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..