• Home
  • Haryana
  • Rohtak
  • दुकानें बचाने को 4 से 6 फीट जमीन छोड़ने का भेजेंगे प्लान
--Advertisement--

दुकानें बचाने को 4 से 6 फीट जमीन छोड़ने का भेजेंगे प्लान

गोहाना रेलवे रूट पर डबल फाटक से सेक्टर 6 के आरओबी के बीच 315 करोड़ रुपए के एलीवेटेड रेलवे ट्रैक की चौड़ाई 42 फुट ही रखी...

Danik Bhaskar | May 18, 2018, 03:35 AM IST
गोहाना रेलवे रूट पर डबल फाटक से सेक्टर 6 के आरओबी के बीच 315 करोड़ रुपए के एलीवेटेड रेलवे ट्रैक की चौड़ाई 42 फुट ही रखी जाएगी। ट्रैक के सेंटर से लगभग 7 से 8 फीट जगह छोड़कर इसका निर्माण किया जाएगा। इस लिहाज से नए गांधी कैंप बाजार में रेलवे की कुल जमीन 54 फीट में से लगभग 4 से 6 फीट शेष बचेगी। प्रदेश सरकार इस पर एक्सपर्ट व्यू लेने के बाद गांधी कैंप मार्केट की निशानदेही वाले एरिया में इस 4 से 6 फुट जमीन को छोड़ने का प्रस्ताव रेलवे को भेजने की तैयारी में है। ऐसा हुआ तो कुल 59 निर्माण में लगभग दो तिहाई दुकानें सुरक्षित हो सकती हैं। सरकार की मंशा है कि इस दौरान एलीवेटेड ट्रैक के दायरे में आने वाली बाकी 20 से 22 दुकानों में भी कम नुकसान हो ऐसा प्रयास रहेगा।

गांधी कैंप मार्केट की दुकानों को बचाने के लिए सरकार के प्रयास शुरू

एलीवेटेड रेलवे ट्रैक के निर्माण में किसी का नुकसान नहीं होने देंगे

सहकारिता मंत्री मनीष ग्रोवर ने बताया कि गांधी कैंप मार्केट की दुकानों को बचाने के लिए मुख्यमंत्री से बातचीत हुई है। इस पर रेलवे की टीम काम कर रही है। टारगेट देश के पहले एलीवेटेड रेलवे ट्रैक के निर्माण के साथ किसी भी दुकान के नुकसान को रोकना है।

5 मई को रेलवे ने गांधी कैंप मार्केट

में दिया था 59 भवनों को नोटिस

इधर बजरंग भवन से रोहतक स्टेशन की ओर ट्रैक के किनारे स्थित गांधी कैंप मार्केट में रेलवे ने अपनी जमीन हासिल करने के लिए 5 मई काे दुकान व मकान सहित 59 निर्माण पर निशानदेही की। इसके बाद यहां के प्रभावित दुकानदारों से बातचीत के बाद सहकारिता मंत्री मनीष ग्रोवर ने 15 मई को मुख्यमंत्री मनोहर लाल से मुलाकात की। रेलवे के इंजीनियरों के साथ दो चक्र हो चुकी मीटिंग में एलीवेटेड रेलवे ट्रैक प्रोजेक्ट में बिना किसी फेरबदल किए दुकानों को बचाने के विकल्प पर चर्चा हुई। इसमें निशानदेही वाले एरिया में रेलवे से 4 से 6 फीट जमीन छोड़ने की सिफारिश का मसौदा तैयार किया गया है।