सफीदों

  • Hindi News
  • Haryana News
  • Safidon
  • ‘जब तक सरकार निलंबित ग्राम सचिवों को बहाल नहीं करती, तब तक सरपंचों का धरना जारी रहेगा’
--Advertisement--

‘जब तक सरकार निलंबित ग्राम सचिवों को बहाल नहीं करती, तब तक सरपंचों का धरना जारी रहेगा’

शनिवार को सफीदों ब्लॉक के सरपंचों, ग्राम सचिवों ने बीडीपीओ कार्यालय में अपना अनिश्चितकालीन धरना शुरू कर दिया।...

Dainik Bhaskar

Apr 01, 2018, 02:45 AM IST
‘जब तक सरकार निलंबित ग्राम सचिवों को बहाल नहीं करती, तब तक सरपंचों का धरना जारी रहेगा’
शनिवार को सफीदों ब्लॉक के सरपंचों, ग्राम सचिवों ने बीडीपीओ कार्यालय में अपना अनिश्चितकालीन धरना शुरू कर दिया। इसकी अध्यक्षता सरपंच एसोसिएशन के ब्लॉक प्रधान सरपंच अजित पाल चट्ठा ने की। इसमेंं सरपंचों व ग्राम सचिवों की मांग है कि जब-तक सरकार निलंबित किए गए ग्राम सचिवों को बहाल नहीं करती, तब तक उनका धरना जारी रहेगा। धरने के पहले दिन गांव हाट सरपंच बिजेंद्र सिंगला, पवनमान पाजूखुर्द व सरपंच रामफल टीटोखेड़ी ने अनशन किया। उन्होंने कहा कि सरकार तानाशाह रवैये से काम करने में लगी है। सरकार की कार्य शैली जनविरोधी होने के कारण ही प्रदेश में अशांति का माहौल बना हुआ है।

पंचायती कार्यों का करेंगे बहिष्कार : सरपंच प्रधान अजित पाल चट्ठा ने बताया कि प्रदेश भर में दो अप्रैल से पांच अप्रैल तक ग्राम सभाओं का दौर चलाया जाना था, जिसका सरपंच व ग्राम सचिवों द्वारा बहिष्कार किया गया है। उन्होंने कहा कि जब तक सरकार मांगें नहीं माने लेती तब तक गांव में कोई कार्य नहीं करवाया जाएगा। उन्होंने कहा कि दो अप्रैल को सरकार द्वारा किए जाने वाले चौकीदार सम्मेलन में भी प्रत्येक गांवों के चौकीदारों को जाने नहीं दिया जाएगा। धरने पर पहुंचे सरपंच एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष सुरेंंद्र राणा ने कहा कि सरकार जल्द से जल्द निलंबित किए सभी ग्राम सचिवों को बहाल करके उनकी मांगों को पूरा करें, नहीं तो उन्हें मजबूरन बड़े आंदोलन की शुरुआत करनी पड़ेगी।

सफीदों. बीडीपीओ कार्यालय प्रांगण में धरने देते सरपंच व ग्राम सचिव। फोटो | भास्कर

सरपंचों ने बीडीपीओ कार्यालय पर जताया रोष

अलेवा | ई-टेंडरिंग प्रणाली के विरोध में शनिवार को सरपंचों ने बीडीपीओ कार्यालय के मेन गेट पर ताला जड़कर धरना दिया। धरने की अध्यक्षता सरपंच एसोसिएशन केे प्रधान नरवीर नेहरा ने की। उन्होंने सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए रोष जताया। प्रधान नरवीर नेहरा ने कहा कि सरकार ई-टेंडरिंग जैसी योजना लागू कर प्रदेश के विभिन्न गांवों में हो रहे विकास कार्यों में बाधा पहुंचाने का कार्य कर रही है। इस ई-टेंडरिंग से कोई भी कार्य करना सरपंच के दायरे से बाहर होने के साथ ही ठीक नहीं है। प्रदेश की सरपंच एसोसिएशन सरकार के इस गलत रवैये से परेशान होकर धरना देने को मजबूर है। सरकार जब तक सरपंचों की मांगें पूूरी नहीं करती सरपंच एसोसिएशन का धरना जारी रहेगा। इस मौके पर सरपंच सत्यवान, कप्तान, कुलदीप, धर्मपाल व राममेहर मौजूद रहे।

X
‘जब तक सरकार निलंबित ग्राम सचिवों को बहाल नहीं करती, तब तक सरपंचों का धरना जारी रहेगा’
Click to listen..