Hindi News »Haryana »Safidon» हंसराज तीर्थ को पर्यटन स्थल बनाने की प्रक्रिया शुरू, चीफ आर्किटेक्ट ने दौरा किया

हंसराज तीर्थ को पर्यटन स्थल बनाने की प्रक्रिया शुरू, चीफ आर्किटेक्ट ने दौरा किया

सफीदों. हंसराज तीर्थ का नक्शा देखतीं चीफ आर्केटेक्ट मैत्री गुप्ता व अन्य। हंसराज तीर्थ का डिजिटल लेआउट बनाने...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 01, 2018, 01:25 PM IST

सफीदों. हंसराज तीर्थ का नक्शा देखतीं चीफ आर्केटेक्ट मैत्री गुप्ता व अन्य।

हंसराज तीर्थ का डिजिटल लेआउट बनाने के निर्देश

भास्कर न्यूज | सफीदों

मुख्यमंत्री द्वारा की गई घोषणाओं को अब धरातल पर उतारने की जद्दोजहद शुरू हो गई है। शहर के मुख्य दो धार्मिक व ऐतिहासिक स्थानों को विश्वस्तरीय बनाने के लिए बुधवार को हरियाणा सरकार की चीफ आर्किटेक्ट मैत्री गुप्ता की टीम ने शहर का दौरा किया।

शहर के हंसराज तीर्थ व नागक्षेत्र तीर्थ को पर्यटन केंद्र के रूप में विकसित करने व सौंदर्यीकरण को बढ़ाने के लिए बारीकी से मुआयना किया गया। चीफ आर्किटेक्ट ने बीएंडआर के एसडीओ अर्जुन सिंह को 6 फरवरी तक हंसराज तीर्थ का डिजिटल लेआउट बनाने के आदेश दिए हैं। इस दौरान पूर्व चीफ इंजीनियर टीसी गर्ग, आर्किटेक्ट विजय अरोड़ा व कुरुक्षेत्र विकास बोर्ड के एसडीओ राजीव भी मौजूद रहे। हंसराज तीर्थ महाभारत के युद्ध से पहले का स्थल है। यहां एक ऐसा टीला होता था, जहां खड़े होकर संत महाभारत का युद्ध देखा करते थे। यहीं संतों का वास हुआ करता था, इसलिए इस तीर्थ की दार्शनिकता और बढ़ जाती है। इन्हीं बातों को ध्यान में रखते हुए मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने भी इस तीर्थ को पुनर्जीवित करने का मन बनाया है। नगरपालिका के प्रधान सेवाराम ने बताया कि अगस्त 2016 मेें खांसर चौक स्थित हंसराज तीर्थ का करीब 188 लाख रुपए का एस्टीमेट बनाकर सरकार के पास भेजा गया ताकि पालिका द्वारा तीर्थ का कायाकल्प किया जा सके।

तीर्थ की महत्ता बढ़ना प्राथमिकता

आर्किटेक्ट मैत्री गुप्ता ने बताया कि वे केवल स्थल का मुआयना करने के लिए आए हैं। यहां हम क्या-क्या बेहतर कर सकते हैं, इस पर विचार किया जा रहा है। मंगलवार तक बीएंडआर के अधिकारियों को कहा गया है कि वे रेवेन्यू रिकॉर्ड के अनुसार एक डिजिटल लेआउट बनाकर दें ताकि समुचित जगह पर ज्यादा से ज्यादा लोगों को सुविधाजनक व आस्था के अनुरूप माहौल दे सकें।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Safidon

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×