• Home
  • Haryana News
  • Sampla
  • बेलगाम नकलची परीक्षा केंद्र के अंदर पहुंच रहे मोबाइल बाहर आ रहे पेपर
--Advertisement--

बेलगाम नकलची परीक्षा केंद्र के अंदर पहुंच रहे मोबाइल बाहर आ रहे पेपर

हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड की 10वीं की परीक्षा में पहले दिन ब्लू टूथ लगाकर पकड़े गए परीक्षार्थी के बाद अब हिंदी...

Danik Bhaskar | Mar 11, 2018, 03:35 AM IST
हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड की 10वीं की परीक्षा में पहले दिन ब्लू टूथ लगाकर पकड़े गए परीक्षार्थी के बाद अब हिंदी की परीक्षा में भी एक छात्र को फोन से पेपर के फोटो करते हुए पकड़ा है। भारती कन्या सीनियर सेकेंडरी स्कूल में बीईओ वीरेंद्र मलिक ने इस छात्र को पकड़कर सुपरिंटेंडेंट के हवाले कर दिया। इस छात्र का यूएमसी बना दिया गया है। वहीं हैरानी की बात यह रही कि दोपहर साढ़े 12 बजे शुरू होने वाली परीक्षा से तीन मिनट पहले ही हिंदी के प्रश्न पत्र के चारों सेट की कॉपी को फोन पर वायरल कर दिया गया। इससे दिनभर फ्लाइंग टीम भी छानबीन करती रही।

बीईओ वीरेंद्र मलिक की टीम भारती कन्या सीनियर सेकेंडरी स्कूल में दौरा करने पहुंचे। टीम सेंटर नंबर 31 के कमरा नंबर 8 में पहुंची तो गेट पर खड़े होकर बीईअेा वीरेंद्र मलिक ने देखा कि कमरे से एक चमक लगी, यह फोन के कैमरे की फ्लैश थी। इसे देखकर बीईओ अंदर गए तो पाया कि एक छात्र स्मार्टफोन के जरिए प्रश्न पत्र की फोटो कर रहा था। इसे पकड़कर जांच की गई तो पाया कि यह छात्र बी सेट के पेपर के 7 पेजों की फोटो कर चुका था और आठवें की फोटो करने की तैयारी में था। इसके चलते इस छात्र का यूएमसी भी बना दिया गया। छात्र की पहचान कच्ची गढ़ी मोहल्ला के युवक के तौर पर हुई है। पुलिस ने उसके खिलाफ एफआईआर भी दर्ज कर दी है।

सेंटर में छात्र प्रश्नपत्र के 7 पेजों की खींच चुका था फोटो, 8वें में फ्लैश चमकी तो पकड़ा, दूसरी जगह से पेपर वायरल

सोशल मीडिया पर छाया रहा पेपर...

रोहतक. 10वीं की परीक्षा के दौरान आउट हुए हिंदी के पेपर के साथ असली पेपर का मिलान करते हुए बच्चे।

यहां बनाए गए यूएमसी

फ्लाइंग जांचे केंद्र केस बनाए

डीसी रोहतक 8 2

डिप्टी डीईओ 4 3

बीईओ रोहतक 6 4

सांपला फ्लाइंग 4 1

नोट : 103 सेंटर जांचे, 13 केस बनाए।


वायरल पेपर के चारों सेट थे बिल्कुल सही

शहर के गांधी कैंप स्थित ब्वायज सीनियर सेकेंडरी स्कूल में चेयरमैन की विशेष फ्लाइंग टीम प्रिंसीपल नरेश कुमार के नेतृत्व में पहुंची। यहां पर दैनिक भास्कर संवाददाता ने इनसे पूछा कि पेपर वायरल होने की सूचना है और कुछ हिंदी पेपर के चारों सेट की फोटो फोन पर सोशल मीडिया में वायरल हो रही है। इसका जब डेढ़ बजे मिलान किया गया तो पाया कि ये सभी फोटो सही पेपर की ही थी। इसकी सूचना बोर्ड के अधिकारियों को भी दी गई, लेकिन कोई उचित जवाब नहीं मिला और पेपर लीक कहां से हुआ इसकी ही जांच चलती रही। पेपर रद नहीं किया जा सका।




नकल का ऐसे चलता रहा खेल

रोहतक. काठ मंडी स्थित भारतीय कन्या सीसे स्कूल में हिंदी की परीक्षा के दौरान नकल करवाते बाहरी युवा।