--Advertisement--

सरपंचों ने दी भूख हड़ताल की चेतावनी

ई-पंचायत प्रणाली के विरोध में पंच और सरपंचों ने ब्लॉक कार्यालय पर ताला लगा दिया। सरपंचों के ताला लगाने से खंड...

Danik Bhaskar | Apr 03, 2018, 03:45 AM IST
ई-पंचायत प्रणाली के विरोध में पंच और सरपंचों ने ब्लॉक कार्यालय पर ताला लगा दिया। सरपंचों के ताला लगाने से खंड कार्यालय में कार्य पूरी तरह से प्रभावित रहा। विभाग के कर्मचारी बाहर बैठने को विवश रहे। सरपंचों ने कहा कि जब तक उनकी मांगों को पूरा नहीं किया जाता तब तक उनका धरना जारी रहेगा। उन्होंने मांगें पूरी नहीं होने पर भूख हड़ताल पर भी जाने की चेतावनी दी। सोमवार सुबह 10 बजे खंड के पंच और सरपंच ब्लॉक कार्यालय पहुंचे। वहां उन्होंने कार्यालय पर ताला लगाकर लगातार दूसरे दिन धरने पर बैठ गए। तालाबंदी की सूचना पाकर थाना प्रभारी प्रवीन मलिक मौके पर पहुंचे। तहसीलदार सुभाष जून ने भी सरपंचों से ताला खुलवाने का प्रयास किया। सरपंच अपनी जिद पर अड़े रहे। सरपंच बिजेंद्र मलिक, सुरेंद्र दत्तौड़, जसबीर नयाबांस, मुकेश राणा, लीला ठेकेदार, सोनू मलिक, विनोद शर्मा, अनुप ठेकेदार, संजय, सुशील, प्रदीप, मंजीत व एडवोकेट राजेन्द्र सहित अन्य सरपंच मौजूद रहे।

सरपंचों ने आज ब्लॉक कार्यालय पर ताला जड़ा

सांपला. मांगों को लेकर बीडीपीओ कार्यालय पर ताला लगाते सरपंच।

काम में किया असहयोग

रोहतक| भाजपा सरकार के खिलाफ ब्लाक कार्यालयों पर बेमियादी धरना दे रहे सरपंचों और ग्राम सचिव का धरना सोमवार को भी जारी रहा। हालांकि सोमवार को भी धरना जारी रहा। ब्लाक कार्यालय खुलते ही आए कर्मचारियों को सरपंचों ने काम करने से मना कर दिया। इसके बाद कर्मचारी काम नहीं कर पाए। सरपंचों और ग्राम सचिव का कहना है कि वे मंगलवार को ब्लाक कार्यालय को खुला तो रखेंगे, लेकिन काम नहीं किया जाएगा और ही करने देंगे। सरकार का पूरा असहयोग किया जाएगा। इस दौरान मुख्य तौर पर सरपंच अनिल नसीरपुर, खिड़वाली से ओमप्रकाश हुड्डा, चमारिया से राेशन, मायना से दिनेश, सुमित सरपंच मकड़ौली मौजूद रहे।

महम में सरपंचों के धरने पर सुनी रागिनी

महम | खंड विकास एवं पंचायत कार्यालय पर सरपंचों का धरना सोमवार को चौथे दिन भी जारी रहा। धरनास्थल पर मनोरंजन करने के लिए बुलाए गए रागिनी गायक कलाकारों ने दिनभर मनोरंजन किया।

इनसो ने दिया समर्थन : कलानौर | ई पंचायत प्रणाली को लागू करने के विरोध में चौथे दिन भी कलानौर के सरपंचों एवं ग्राम सचिव ने विरोध प्रकट किया। इनसो खंड कलानौर के अध्यक्ष रवींद्र तोमर ने सरपंचों को इनसो की तरफ से समर्थन दिया। उन्होंने निलंबित ग्राम सचिवों को बहाल करने की मांग की है।