Home | Haryana | Sampla | गंदे पानी की निकासी से फसलें हो रहीं खराब

गंदे पानी की निकासी से फसलें हो रहीं खराब

गांधरा गांव के किसानों ने फसल खराब होने की आंशका पर शनिवार को राष्ट्रीय राजमार्ग नौ पर चुलियाणा मोड़ के पास...

Bhaskar News Network| Last Modified - Feb 11, 2018, 04:20 AM IST

गंदे पानी की निकासी से फसलें हो रहीं खराब
गंदे पानी की निकासी से फसलें हो रहीं खराब
गांधरा गांव के किसानों ने फसल खराब होने की आंशका पर शनिवार को राष्ट्रीय राजमार्ग नौ पर चुलियाणा मोड़ के पास प्रदर्शन किया। किसान गांधरा की ग्राम प्रधान रजनी के पति सोनू के नेतृत्व में सुबह रजबाहे पर पहुंचे। उन्होंने वहां ग्राम प्रधान के पति को गेहूं की फसलों में हो रहे नुकसान को दिखाया। राजेंद्र मलिक, सज्जन सिंह, रामरूप मलिक, राजे मलिक, आजाद मलिक, लीलू,रणबीर, दलबीर मलिक, राजेश ,महाबीर,तेजू, नरेश नंबरदार,जय भगवान सहित दर्जनों किसानोंं ने कहा कि कृषि फार्म हाउस के फार्म हाउस से रसायन युक्ति गंदा पानी रजबाहे में मिल रहा है। इस पानी से किसानों की फसल खराब हो रही है। खेतों में काम करने वाले मजदूर लगातार बीमारियों का शिकार हो रहे है। फार्म मालिक को कई बार गंदा पानी बंद करने की गुहार लगा चुके है। हर बार आश्वासनों के अलावा कुछ नहीं हुआ है।

सांपला. फार्म हाउस के गंदे पानी की रजबाहे में हो रही निकासी को लेकर प्रदर्शन करते किसान

6000 बीघा जमीन की रजबाहे से कर रहे सिंचाई

दुल्हेड़ा माइनर से मोगा नंबर 31 ए से निकलने वाला रजबाहा करीब 6000 बीघा जमीन की सिंचाई करता है। किसानों का कहना है कि जब नहर में पानी आता है तो उस समय जिस खेत में पहले पानी जाता है उसकी फसल पूरी तरह खराब हो जाती है। इसका मुख्य कारण रजबाहे में पहले से ही फार्म का गंदा पानी जमा रहता है। नहरी पानी आने पर वह गंदा पानी नहरी पानी के साथ मिलकर खेतों में पहुंचता है। किसान राजेंद्र मलिक का कहना है कि उसकी 8.5 एकड़ गेहूं की फसल और फुलकवार ने बताया कि उसके पास करीब 15 एकड़ जमीन पर फसल खराब होने की कगार पर है। ग्रामीणों का कहना है कि इससे खेत में काम कर रहे मजदूरों को बुखार, उल्टी और खासी की परेशानी हो रही है। उन्होंने कहा कि समय रहते यह समस्या ठीक नहीं कि गई तो बची हुई फसल काटने के लिए मजदूर नहीं मिलेंगे।

किसानों से 15 दिन

का समय लिया

फार्म हाउस मालकिन के पुत्र रोहित का कहना है कि वह फार्म हाउस से निकलने वाले गंदे पानी की निकासी को दिया जाएगा। उसने किसानों से 15 दिनों का समय लिया है। वह अपने फार्म हाउस के अंदर ही टैंक बनवाकर बहार निकलने वाले पानी की समस्या को हल कर देगा ।

prev
next
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending Now