Hindi News »Haryana »Sampla» सचपंच बोले, हम तो तैयार हैं, पहले प्रशासन कार्रवाई करे

सचपंच बोले, हम तो तैयार हैं, पहले प्रशासन कार्रवाई करे

प्रशासन ने कस्बे और गांव को पॉलीथिन मुक्त करने के लिए निर्देश दिए हैं। एडीसी ने भी हाल में सरपंचों की बैठक लेकर...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jan 15, 2018, 04:20 AM IST

प्रशासन ने कस्बे और गांव को पॉलीथिन मुक्त करने के लिए निर्देश दिए हैं। एडीसी ने भी हाल में सरपंचों की बैठक लेकर गांव को पॉलीथिन मुक्त करने की बात कही है। एडीसी की बैठक में सांपला थाने के तहत आने वाली 31 ग्राम पंचायतों में सिर्फ 10 सरपंचों ने भाग लिया था। अभियान एक जनवरी से शुरू होना था, लेकिन अभी तक एक भी पंचायत ने गांव को पॉलीथिन मुक्त करने के लिए कोई कदम नहीं उठाया है। सरपंचों का कहना है कि वे इस अभियान के साथ तैयार है, लेकिन प्रशासन को पहले पॉलीथिन के स्रोतों पर कार्रवाई करनी चाहिए। उनका कहना है शहर में थोक विक्रेताओं के पास पॉलीथिन आएगी तो दुकानदार गांव के हो या कस्बे के खरीदेंगे ही। इसके साथ ही जब पॉलीथिन बंद हो जाएगी तो क्या जूट और कपड़े का थैला सस्ती दरों पर आसानी से लोगों को उपलब्ध हो सकेंगे। इसकी भी कोई गारंटी नहीं है। सरपंच प्रशासन को सलाह दे रहे हैं कि अभियान के साथ वह इसके ड्रॉ बैक भी सही करें।

पॉलीथिन पर बैन

शहर में थोक विक्रेताओं के पास पॉलीथिन आएगी तो दुकानदार गांव के हो या कस्बे के खरीदेंगे ही

कस्बे में हर रोज बिकती है 40

किलोग्राम पॉलीथिन

कस्बे में करीब 60 दुकानों पर थोक विक्रेता पॉलीथिन की बिक्री करते हैं। यहां से हर रोज 40-50 किलो पॉलीथिन कस्बे व गांव की दुकानों, रेहड़ियों से होकर लोगों के घरों तक पहुंचती है। इसको नष्ट करने के लिए अभी तक कोई समाधान नहीं है।

चार साल पूर्व चला था अभियान

कस्बे में करीब चार पूर्व पहले पॉलीथिन मुक्त करने का अभियान चला था। इसमें थोक विक्रेता से लेकर रेहड़ी वालों पर जुर्माना लगाते हुए पॉलीथिन जब्त किया गया था। इसके बावजूद प्रशासन कस्बे में पॉलीथिन की बिक्री नहीं रोक सका। हाल यह है कि जब भी प्रशासन कोई अभियान चलता है वो जितने दिन तक चलता है उतने दिन तो लोग कुछ जागरूक लगते हैं।

प्रशासन रोक नहीं लगाएगा नहीं मिलेगी कामयाबी

चुलियाणा के प्रधान हरेंद्र कुमार का कहना है कि प्रशासन की शहर और गांव को पॉलीथिन मुक्त बनाने की पहल अच्छी है। हम भी चाहते हैं कि ये अभियान चले, लेकिन जब तक प्रशासन थोक विक्रेता व्यापारियों पर रोक नहीं लगाएगा, तब तक कामयाबी नहीं मिलने वाली।

अभी तक अभियान चल रहा है बयानबाजी तक

सरपंच प्रदीप कुमार कसरेंटी का कहना है कि गणतंत्र दिवस तक अभियान-स्वच्छ भारत मिशन के तहत प्रशासन की ओर से 26 जनवरी तक शहर और गांव को पॉलीथिन मुक्त करने के निर्देश जारी हुए हैं। अभी तक अभियान बयानबाजी तक ही चल रहा है। लोगों के बीच नहीं। लोग रूची भी नहीं दिखा रहे हैं।

हम लोगों को समझा सकते हैं कार्रवाई नहीं

सरपंच महेंद्र पहलवान गिझी का कहना है कि ग्राम पंचायत सभा की बैठक में प्रस्ताव पास करके लोगों को पॉलीथिन का प्रयोग न करने के लिए प्रेरित करेंगे, मगर हम एक हद तक लोगों को समझा सकते हैं न की कार्रवाई कर सकते हैं। पहले प्रशासन ने शहर में समाधान करे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Sampla

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×