• Home
  • Haryana News
  • Sampla
  • आर्थिक तंगी के चलते रोहतक में ही करना पड़ा कमल का अंतिम संस्कार
--Advertisement--

आर्थिक तंगी के चलते रोहतक में ही करना पड़ा कमल का अंतिम संस्कार

परिवार की तमन्ना थी कि वह पूरे हिन्दू रीति के अनुसार कमल का अंतिम संस्कार उसके अपने गांव में किया। जहां वह पला बड़ा...

Danik Bhaskar | Jan 15, 2018, 04:20 AM IST
परिवार की तमन्ना थी कि वह पूरे हिन्दू रीति के अनुसार कमल का अंतिम संस्कार उसके अपने गांव में किया। जहां वह पला बड़ा हुआ है। लेकिन आर्थिक तंगी और सरकार की ओर से उचित मदद ना मिल पाने के चलते परिजनों को रोहतक में ही अंतिम संस्कार करना पड़ा। परिजनों ने कमल का रोहतक शीला बाईपास स्थित श्मशान घाट में ही दाह संस्कार कर दिया गया। वहीं मृतक की प|ी का पति के मौत के बाद बुरा हाल रहा। मृतक की प|ी ने फैक्टरी प्रबंधन पर फिलहाल कोई आरोप तो नहीं लगाया है। परिजन अभी रोहतक में ही डटे हुए हैं।

गौरतलब है कि बीती दस जनवरी को बेरी मार्ग पर उद्योगिक क्षेत्र में टायरों से तेल निकालने वाली आरएसपी फैक्टरी में मिथेन गैस के ज्यादा दबाव के चलते तेल का टैंक फट गया था। इसके फटने से पास ही काम कर रहे बिहार के गोपालगंज निवासी कमल खोलते तेल के टैंक में गिर गया तथा उसकी झुलसने से मौके पर ही मौत हो गई थी। वहीं फैक्टरी में काम कर रहे मुन्नालाल व सुनील घायल हो गए थे। असल में बिहार जाने तक शव ले जाने के लिए एंबुलेंस का किराया तक उनके पास नहीं था।

रोहतक. पीजीआई के सामने बैठी मतृक कमल की प|ी अपने बच्चे व परिजन के साथ।

फैक्टरी मालिक को किया

अदालत में पेश

हादसे वाली फैक्टरी के मालिक पंकज को पुलिस ने शनिवार को सांपला स्थित झज्जर पुल के पास से गिरफ्तार कर लिया था। पुलिस ने आरोपी पंकज को रविवार को अदालत में पेश किया,जहां से उसे जमानत मिल गई। थाना प्रभारी जगदीश चन्द्र का कहना था कि कमल के शव का पोस्टमार्टम करवा रविवार को परिजनों को सौंप दिया गया। परिजनों ने उसका रोहतक में ही दाह संस्कार कर दिया है। वहीं आरोपी फैक्टरी मालिक को अदालत में पेश किया गया, जहां से उसे जमानत मिल गई।