• Home
  • Haryana News
  • Sampla
  • बीईओ से अभद्रता व सरकारी कार्य में बाधा डालने पर डीएसपी ने दर्ज किए बयान
--Advertisement--

बीईओ से अभद्रता व सरकारी कार्य में बाधा डालने पर डीएसपी ने दर्ज किए बयान

स्कूल संचालक के खिलाफ अभद्रता और प्रिंसिपल के खिलाफ सरकारी कार्य में बाधा डालने के केस में शुक्रवार से जांच शुरू...

Danik Bhaskar | Mar 31, 2018, 04:25 AM IST
स्कूल संचालक के खिलाफ अभद्रता और प्रिंसिपल के खिलाफ सरकारी कार्य में बाधा डालने के केस में शुक्रवार से जांच शुरू हाे गई। सांपला थाना के अतिरिक्त एसएचओ जगदीश चंद्र, महिला एसआई चांदकोर निजी स्कूल में बयान लेने पहुंचे। जांच टीम ने प्रिंसिपल पूनम, सुपरिंटेंडेंट अोपी खत्री और आॅब्जर्वर हरीश चावला के बयान दर्ज किए। बताया जाता है कि बीईओ कृष्णा फौगाट से महिला एसआई चांदकोर ने 15 मिनट की पूछताछ में चार सवालों के जवाब मांगे। शाम को डीएसपी गजेंद्र सिंह ने प्रिंसिपल, शिक्षिकाओं व सुपरिंटेंडेंट और आॅब्जर्वर से पूछताछ की। डीएसपी के बुलाए जाने के बाद भी शिकायतकर्ता बीईओ कृष्णा जांच प्रक्रिया में हिस्सा लेने नहीं पहुंची। प्रिंसिपल पूनम ने बताया कि दोपहर 12 बजे के करीब सांपला थाना से अतिरिक्त एसएचओ जगदीश चंद्र के साथ जांच टीम आई थी। 40 मिनट तक रुककर उन्होंने बारी-बारी से बीईओ सहित सभी के बयान दर्ज किए। शाम को हम लोगों को डीएसपी कार्यालय में बयान के लिए बुलाया गया था। उन्होंने कहा कि हम लोगों की नीयत साफ है, इसीलिए हमें जांच प्रक्रिया में सहयोग करने में कतई आपत्ति नहीं है। बीईओ के पास बिना अनुमति सुपरवाइजर बदलने की पावर नहीं थी तो उन्होंने कैसे फैसला लिया। जब हमने इस पर उच्चाधिकारियों को अवगत कराया तो बीईओ ने रंजिशन थाने में हम लोगों के खिलाफ सरकारी कार्य में बाधा डालने और अभद्रता करने का केस दर्ज करा दिया। डीएसपी गजेंद्र सिंह ने कहा कि केस की जांच कर रहे हैं। दोनों पक्षों को पूछताछ करने के लिए बुलाया है। स्कूल स्टाफ ने आकर बयान दर्ज कराए हैं, लेकिन बीईओ जांच प्रक्रिया में शामिल होने नहीं आईं।