Hindi News »Haryana »Sampla» ई-पंचायत व ग्राम सचिवों के निलंबन को लेकर धरने पर बैठे सरपंच

ई-पंचायत व ग्राम सचिवों के निलंबन को लेकर धरने पर बैठे सरपंच

अपनी मांगों के ना माने जाने और चंडीगढ़ ज्ञापन व प्रदर्शन के बाद डायरेक्टर पंचायती राज की ओर से 9 ग्राम सचिवों के...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 31, 2018, 04:25 AM IST

ई-पंचायत व ग्राम सचिवों के निलंबन को लेकर धरने पर बैठे सरपंच
अपनी मांगों के ना माने जाने और चंडीगढ़ ज्ञापन व प्रदर्शन के बाद डायरेक्टर पंचायती राज की ओर से 9 ग्राम सचिवों के निलंबन का विरोध बढ़ता जा रहा है। शुक्रवार को सरपंचों व ग्राम सचिवों ने रोहतक ब्लॉक ऑफिस को ताला लगा दिया और वहीं से अनिश्चित कालीन धरना शुरु कर दिया। इन सभी ने एक स्वर में निर्णय लिया कि जब तक हमारी मांगों को नहीं माना जाता और सचिवों का निलंबन वापस नहीं लिया जाएगा, तब तक विरोध प्रदर्शन जारी रहेगा। रोहतक ब्लाक कार्यालय पर प्रदर्शन करने वालाें में राकेश किलोई, सुमित सरपंच मकड़ौली, अनिल नसीरपुर समेत कई सरपंच मौजूद रहे।

यह हैं मुख्य मांगें

ई-पंचायत प्रणाली लागू करने से पहले तमाम तरह के संसाधन मुहैया करवाए जाएं जल्दबाजी में इसे लागू ना किया जाए।

हरियाणा पंचायती राज एक्ट 1994 को पूर्णतया: लागू किया जाए।

ग्राम सचिव की शैक्षणिक योग्यता स्नातक की जाए तथा ग्राम सचिव का वेतनमान पटवारी के समान ग्रेड-पे 2400 के हिसाब से निर्धारित किया जाए।

सांसदों एवं विधायकों की तर्ज पर सरपंचों/पंचों का मानदेय तुरंत प्रभाव से बढ़ाया जाए

बैठकों में भाग लेने जाने पर तथा सार्वजनिक व जनहित के कार्यों के लिए आने-जाने पर सरपंचों/पंचों का यात्रा भत्ता व दैनिक भत्ता निर्धारित कर सरकार की ओर से वहन किया जाए।

ग्राम सचिवों के 20 रुपए मासिक वाहन भत्ते को बढ़ाकर 5 हजार रुपए मासिक किया जाए।

गांवों में जल्द राशन कार्ड बनवाए जाएं तथा सर्वे करवाकर गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले परिवारों के बीपीएल कार्ड बनवाए जाए।

सरपंचों व ग्राम सचिवों ने कर्मियों को बाहर निकालकर ब्लॉक कार्यालय पर जड़ा ताला

रोहतक. अपनी मांगों और ग्राम सचिवों के निलंबन को लेकर ब्लॉक ऑफिस कार्यालय को ताला लगाते हुए विभिन्न गांव के सरपंच।

पहले पुलिस ने रोका भीड़ बढ़ी तो जड़ा ताला

महम | लाखनमाजरा बीडीपीओ कार्यालय को ताला जड़ने गए सरपंचों को पुलिस भारतीय किसान मोर्चा जिला उपाध्यक्ष राजेन्द्र तोमर ने धरने में पहुंचे सरपंचों का समर्थन दिया। पुलिस की ओर से रोके जाने के बाद सरपंच बाउंडरी दीवार के पास धरना देकर बैठ गए। कुछ समय बाद सरपंचों की संख्या बढ़ गई और उन्होंने अंदर जाकर गेट पर ताला लगा दिया। सरपंचों ने बताया कि जब तक उनकी बात नहीं मानी जाएगी तब तक वे अनिश्चितकाल के लिए धरना जारी रखेंगे। उन्होंने निलंबित सचिवों को वापस लेने की मांग दोहराई हैं।

भारतीय किसान मोर्चा ने दिया धरने को समर्थन

कलानौर| ई पंचायत प्रणाली को लागू करने के विरोध में खंड कलानौर के सरपंचों एवं ग्राम सचिव ने विरोध किया। उन्होंने खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी कार्यालय के मुख्य द्वार पर ताला लगा कर अनिश्चितकालीन धरने पर बैठ गए। भारतीय किसान मोर्चा जिला उपाध्यक्ष राजेन्द्र तोमर ने धरने में पहुंचे सरपंचों का समर्थन दिया। ब्लॉक पर ताला लगने पर रोहतक नायब तहसीलदार पवन बत्रा तथा कलानौर थाना प्रभारी जगदीश धरना स्थल पर पहुंचे और सरपंच ग्राम सचिवों से बातचीत की। उन्होंने मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन नायब तहसीलदार को सौंपा। इस मौके पर सरपंच एसोसिएशन के प्रधान विजेंद्र अहलावत, बलराज खासा, अमित कादयान, राकेश कुमार, श्री भगवान, नरेश शर्मा आिद मौजूद थे।

ई पंचायत प्रणाली वापस लेने की मांग

महम | पंचायतों पर ई-पंचायत प्रणाली लगाए जाने के विरोध में महम ब्लॉक के अंतर्गत आने वाले गांवों के अधिकतर सरपंच बीडीपीओ कार्यालय में एकत्रित हुए। उन्होंने कार्यालय में काम कर रहे सभी कर्मचारियों को बाहर निकालकर मुख्य दरवाजे पर ताला जड़ दिया। अजायब के सरपंच व ब्लॉक समिति प्रधान के पति समुंदर सिंह ने कहा है कि जब तक उनकी मांगे नहीं मानी जाएंगी तब तक वे ताले को नहीं खोलेंगे। धरने पर बैठे सरपंच मनोज बलंभा, रोहतास पहलवान, शैलेन्द्र, बिजेंद्र, अजय, जोगेंद्र भराण, कर्णसिंह, सुखदीप, मंजे खेडी, नरेश किशनगढ, कर्णा फौजी, सुरेन्द्र मोखरा, संदीप सीसर, रामनिवास आदि थे।

पुख्ता प्रबंध के चलते सांपला में नहीं हुई तालाबंदी

सांपला | पंचायत पर ई-पंचायत विरोध को लेकर सांपला क्षेत्र में ब्लॉक कार्यालय की तालाबंदी नहीं की गई। तालाबंदी को लेकर प्रशासन की ओर से भी पुख्ता इंतजाम किए गए थे। वहीं दूसरी आेर सभी सरपंच मौैके पर समय से नहीं पहुंच पाए। जिसके चलते सांपला में ब्लॉक कार्यालय की तालाबंदी नहीं कर सके। ई-प्रणाली को लेकर शुक्रवार को बेरी रोड पर विश्राम कार्यालय में पंच और सरपंचों ने लगभग 2 घंटे तक बैठक की। बैठक में फैसला लिया गया कि यदि मांगें नहीं मानी गई तो सोमवार को तालाबंदी करेंगे। बिजेंद्र खरावड़, महेंद्र पहलवान गिझी, प्रदीप कसरैंटी, मुकेश पाकस्मा, अनिल हसनगढ़, मनजीत मोरखेड़ी, विनोद कुलताना, सुशील भैसरू कला, राजेश भैसरू खुर्द आदि मौजूद रहे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Sampla News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: ई-पंचायत व ग्राम सचिवों के निलंबन को लेकर धरने पर बैठे सरपंच
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Sampla

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×