• Home
  • Haryana News
  • Sampla
  • चेन स्नेचिंग बंदरों के अातंक से परेशान लोग सड़कों पर उतरे
--Advertisement--

चेन स्नेचिंग बंदरों के अातंक से परेशान लोग सड़कों पर उतरे

चेनस्नैचिंग और बंदरों के अातंक से छुटकारा दिलाने के साथ पीने के लिए स्वच्छ पानी मुहैया कराने को लेकर गुरुवार को...

Danik Bhaskar | Jan 05, 2018, 04:30 AM IST
चेनस्नैचिंग और बंदरों के अातंक से छुटकारा दिलाने के साथ पीने के लिए स्वच्छ पानी मुहैया कराने को लेकर गुरुवार को सीपीएम के कार्यकर्ताओं और विभिन्न कालोनियों के लोगों ने प्रदर्शन किया। मौका था, छोटूराम पार्क में भारत की कम्युनिस्ट पार्टी की जिला कमेटी रोहतक के 15वें जिला सम्मेलन का। इसमें नागरिक सुविधाओं के मुद्दों को लेकर जनसभा हुई। इन समस्याओं का हल कराने के लिए कार्यकर्ताओं ने सड़कों पर उतरकर तहसीलदार को जिला उपायुक्त के नाम ज्ञापन सौंपा। इससे पहले, सभा में पार्टी के राज्य सचिव कामरेड सुरेन्द्र सिंह ने कहा कि वर्तमान भाजपा सरकार देश और प्रदेश को बर्बाद करने पर तुली है। लोगों के लिए जो वादे चुनाव में किए थे, वह पूरे करने की बजाए लोगों को धर्म, जाति के नाम पर लड़ा रही है। यह बेहद शर्मनाक है। वहीं, पार्टी के जिला सचिव विनोद ने बताया कि शहर में भारी नागरिक सुविधाओं का अभाव बढ़ा है। पर, प्रशासन की ओर से कोई ठोस कदम नहीं उठाए जा रहे हैं। गाय का नाम ले वोट बटोरने वाली पार्टी आज आवारा पशुओं का प्रबंध नहीं कर पा रही है। इसके चलते किसानों की फसलें बर्बाद हो रही है। इस मौके पर सतबीर, प्रकाशचन्द्र, बलवान, कमलेश, राजकुमारी, बिजेंद्र, सोनू, संदीप मौजूद रहे।

नागरिक सुविधाओं के मुद्दाें को लेकर किया प्रदर्शन

इन मांगों को लेकर किया प्रदर्शन

आवारापशुओं और बंदरों के आंतक पर रोक लगाए। रोहतक निवासियों के लिए साफ-सुथरे पीने के पानी का प्रबंध किया जाए। सुनारिया चौक स्थित शुगर मिल के सरकारी सिलाई सेंटर में स्थाई तौर पर प्रशिक्षिका नियुक्त की जाए। शहर में बढ़ रही चैन स्नैचिंग, छेड़खानी गुंडागर्दी की घटनाओं पर रोक लगाई जाए और बिगड़ती कानून व्यवस्था दुरुस्त की जाए। हुड्डा सेक्टरों में एनसांहमेंट फीस की बढ़ाई गई दरों को वापस लिया जाए। निर्माण मजदूरों की समस्याओं का समाधान किया जाए और दिहाड़ी मारने वाले मालिकों के खिलाफ तुरंत कार्रवाई की जाए। फसल बीमा योजना के नाम पर किसानों की जबरदस्ती लूट पर रोक लगाई जाए। सभी गांवों में मनरेगा को लागू किया जाए मजदूरों के बकाया वेतन का भुगतान किया जाए। सांपला माइनर समेत सभी माइनरों पर टेलों तक सिंचाई के पानी की समुचित व्यवस्था की जाए।