Hindi News »Haryana »Sampla» पिता पर लगे प्रताड़ना के आरोपों की जांच करने पहुंची बाल अधिकार संरक्षण आयोग की टीम

पिता पर लगे प्रताड़ना के आरोपों की जांच करने पहुंची बाल अधिकार संरक्षण आयोग की टीम

राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग की एक टीम सोमवार को कस्बे में पहुंची। टीम एक शिकायत की जांच करने आई थी। सांपला...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 13, 2018, 04:40 AM IST

राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग की एक टीम सोमवार को कस्बे में पहुंची। टीम एक शिकायत की जांच करने आई थी। सांपला के एक दंपती के बीच चल रहे मनमुटाव को लेकर महिला के भाई ने आयोग को जनवरी में शिकायत दी थी। इसी मामले में बाल कल्याण समिति के अध्यक्ष राज सिंह सांगवान के नेतृत्व में डीसीपीओ नरेंद्र कुमार,सीडब्लूसी गणेश कुमार सहित सांपला थाना प्रभारी जगदीश चंद्र व सीडब्लूओ सतीश कुमार बच्चों के पास पहुंचे। टीम ने बच्चो के माता-पिता को आपने सामने बैठा कर सवाल जवाब किए। राज सिंह सांगवान ने बताया कि 11 जनवरी को आयोग के दिल्ली कार्यालय में एक पत्र मिला था। इसमें सांपला के एक शख्स पर अपने बच्चों और प|ी के प्रति बुरे व्यवहार के आरोप लगाए गए थे। राष्ट्रीय आयोग ने मामले की गंभीरता को देखते हुए बाल कल्याण समिति रोहतक के अध्यक्ष को जांच करने के लिये कहा।

राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग को लिखे पत्र में सांपला के ही रहने वाले युवक ने आरोप लगाया कि उसकी बहन की शादी 2011 में सांपला के ही एक युवक के साथ हुई थी। शादी के कुछ समय बाद ही दोनों के बीच झगड़ा होना शुरू हो गया । करीब सात साल से दोनोंं अलग रह रहे है। इसके बाद भी युवक उसकी बहन व बच्चों को प्रताड़ित कर रहा है।

बच्चों को जान से ज्यादा

प्यार करता हूं

दोनो बच्चो के पिता का कहना है कि वह अपने बच्चों से बहुत प्यार करता है। वह प्रति माह बच्चों के भरण पोषण के लिये 5000 रुपए अपनी प|ी को दे रहा है। इसके अलावा हर माह उनके लिये बैंक में पैसा जमा कर रहा है। उसने जांच टीम से कहा कि वह अपनी प|ी के साथ रहने को तैयार है।

बच्चों को प्रताड़ित करने पर हो सकती है जेल

बाल कल्याण समिति रोहतक के अध्यक्ष डाक्टर राजसिंह सांगवान का कहना है कि जेजे एक्ट 2015 अंडर सेक्शन 75 के तहत कोई भी मां, बाप, दादा, दादी, चाचा, चाची व अन्य रिश्तेदार बच्चों को किसी भी प्रकार से प्रताड़ित नहीं कर सकता है। अगर कोई ऐसा करने का दोषी पाया जाता है तो उसे जेल की सजा हो सकती है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Sampla News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: पिता पर लगे प्रताड़ना के आरोपों की जांच करने पहुंची बाल अधिकार संरक्षण आयोग की टीम
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Sampla

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×