सांपला

  • Hindi News
  • Haryana News
  • Sampla
  • समचाना में पानी किल्लत पर किया मटका फोड़ प्रदर्शन
--Advertisement--

समचाना में पानी किल्लत पर किया मटका फोड़ प्रदर्शन

गांव समचाना के पाना ग्रेवाल में ग्रामीण गंदा पानी पीने को विवश है। ग्रामीणों ने बताया कि पाना ग्रेवाल में पानी का...

Dainik Bhaskar

Jan 17, 2018, 04:45 AM IST
गांव समचाना के पाना ग्रेवाल में ग्रामीण गंदा पानी पीने को विवश है। ग्रामीणों ने बताया कि पाना ग्रेवाल में पानी का बुस्टर गांव में गंदे तालाब के साथ बना हुआ है। गंदा पानी बुस्टर में जा रहा है। जिससे घरों में गंदे पानी की सप्लाई हो रही है। गांव की महिलाएं स्वच्छ पेयजल की मांग को लेकर वार्ड 18 में मटका फोड़कर प्रदर्शन भी कर चुकी है।

संतोष, सत्यवती, रानी, मीणा, सोनू, बिमला, निर्मला, कांता और पूनम महिलाओं का कहना है गंदे पानी से गांव में अनेक बीमारियां होने का भय बना रहता है। वहीं इंदौरिया पाने में ग्रामीणों को गंदे पानी से होकर जाना पड़ रहा है। यहां पानी ओवरफ्लो होने के कारण सड़क पर जमा हो रहा है। सफाई की तरफ पंचायत भी ध्यान नहीं दे रही है। एसडीएम सांपला तरुण पावरिया ने भी ग्रामीणों को समस्या का आश्वासन दिया था। किंतु ग्रामीणों की समस्या को समाधान नहीं हुआ। ग्रामीण पहलवान रामकरण, राजू, पवन शर्मा, पंच पवन, राकेश व रमेश ने बताया कि यह चौक पहले गांव में होने वाले बड़े आयोजनों का केंद्र बिंदु था। पिछले कुछ समय से पंचायत द्वारा पानी की उचित निकासी का प्रबंध नहीं किया जा रहा है। बच्चों को स्कूल जाने में परेशानी उठानी पड़ रही है। समस्या को लेकर ग्रामीण कई बार अधिकारियों से गुहार लगा चुके है लेकिन कोई समाधान नहीं हुआ है। ग्रेवाल पाने के श्मशान घाट में चारों तरफ कोई दीवार नहीं बनी हुई है। आवारा पशु व जंगली जानवर यहां घूमते रहते है।

इंदौरिया चौक की लें सुध

प्रसिद्ध भजन गायक नरेंद्र कौशिक का कहना है कि सरपंच को पहल करके गांव की समस्याओं का समाधान करना चाहिए। इंदौरिया चौक का पुराना इतिहास रहा है। शीघ्र इस समस्या का कोई हल निकाले।

निकासी के प्रबंध नहीं

नंबरदार महाबीर ने कहा कि गांव में सरपंच के नहीं होने के कारण लगातार समस्याएं बढ़ती जा रही है। पहले ने बनी सीमेंट की नालियों की जगह लोहे की पाइप दबाई जा रही है, जबकि गांव से पानी निकासी का कोई प्रबंध ही नहीं तो यह पानी कहा जाएगा ।

सफाई का अभाव

ब्लाक समिति की सदस्य रेनू का कहना है कि सफाई कर्मचारियों के पास जब संसाधन ही नहीं होगे तो व सफाई कैसे कर सकते है। कचरा उठाने के लिए जो रेहड़ी थी वह टूट चुकी है। सरपंच को कई बार बोल चुके हैं, वह कोई प्रबंध नहीं कर रही।

रोहतक. समचाना गांव में गलियों में फैले गंदे पानी को दिखाते ग्रामीण।

पंप सेट लगवाएंगे

गांव समचाना की सरपंच कुसुमलता के पति राजेश का कहना है कि बीमारी के चलते कई बार कुसुमलता को इलाज करवाने दिल्ली आना पड़ता है। गांव में इंदौरिया चौक का पहले भी अपने खर्च से पानी निकलवाया गया है। अब भी पानी निकालने के लिये पंप सैट लगा दिया गया है। पाना ग्रेवाल में जल्दी ही नई पाइप लाइन दबाने का कार्य शुरू हो रहा है। गांव में सफाई कर्मचारियों का जो समान खराब हो रखा वह वह नया दिया जा रहा है।

डीडीपीओ अरविंद मलिक से बात कि तो उन्होंने बताया बुधवार वह गांव में जाकर मौके का मुआयना करेंगे। समस्या का जल्द समाधान करेंगे। उन्होंने कहा कि सांपला खंड का उनके पास अतिरिक्त चार्ज है। वहीं एसडीएम तरुण ने कहा कि वह ट्रेंनिग पर सोनीपत आए हुए है। इस प्रकार का कोई मामला उनके संज्ञान में नहीं आया है।

X
Click to listen..