Hindi News »Haryana News »Sampla» जिले में एटीएम उखाड़ने की अब तक हो चुकी आठ वारदात, किसी का भी खुलासा नहीं कर सकी पुलिस

जिले में एटीएम उखाड़ने की अब तक हो चुकी आठ वारदात, किसी का भी खुलासा नहीं कर सकी पुलिस

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 01, 2018, 01:25 PM IST

जिले में एटीएम उखाडऩे का घटनाएं फिर से बढऩे लगी है, लेकिन मंगलवार रात को जिले में एटीएम चोरी की अब तक की सबसे बड़ी...
जिले में एटीएम उखाडऩे का घटनाएं फिर से बढऩे लगी है, लेकिन मंगलवार रात को जिले में एटीएम चोरी की अब तक की सबसे बड़ी वारदात को चोरों ने अंजाम दिया है। इस एटीएम में 27 लाख रुपए की नकदी रखी थी, जिसे चोर किसी वाहन से खींचकर चुरा ले गए। इससे पहले रोहतक जिले में इतनी नकदी समेत किसी एटीएम को नहीं चुराया गया है। हां, इससे पहले अक्टूबर 2017 में झज्जर के मातनहेल में एसबीआई के एटीएम को चोर उखाड़कर ले गए थे। इसमें साढ़े 37 लाख रुपए भरे हुए थे।

हैरानी की बात यह है कि एक दिन पहले ही इस एटीएम में नकदी को डाला गया था, चूंकि बुधवार को रविदास जयंती का अवकाश था और लोगों को एटीएम से ही सुविधा मिल सके। इससे पहले इस एटीएम में सोमवार को करीब 14 से 15 लाख रुपए की राशि डली हुई थी।

सात एटीएम उखड़ने के बाद भी नहीं सुधरे हालात

जिस एजीएस कंपनी के एटीएम को मंगलवार रात को उखाड़ा गया है, उस कंपनी के अब तक रोहतक जिले से ही करीब 7 एटीएम उखाड़े जा चुके हैं। बीती रात एक एटीएम इसी कंपनी का रेवाड़ी से भी उखाड़ा गया है। यह दावा खुद कंपनी के कोऑर्डिनेटर का है। इतनी वारदातें होने के बाद भी इस एटीएम को लगाने वाली फाउंडेशन को मजबूत नहीं किया गया था। सिर्फ फर्श की टाइल के सहारे ही नट लगाकर इस एटीएम को लगाया गया था। जैसे ही एटीएम खींची गई तो वह एक ही झटके में बाहर आ गई।

रोहतक. चोरों ने एटीएम कक्ष में लगे कैमरे पर स्प्रे किया काला रंग।

एटीएम उखाड़ने के मामले

6 दिसंबर 2014 : जसिया गांव में चोर पंजाब नेशनल बैंक का एटीएम ही उखाड़ ले गए थे। एटीएम में 3 दिन पहले ही साढ़े 8 लाख रुपए डाले गए थे। एटीएम में न तो सुरक्षा गार्ड था और न ही कोई सुरक्षा गार्ड तैनात था, जिस कारण एटीएम को उखाडऩे की सूचना सुबह ही मिली। एटीएम का मॉनिटर भी खेतों में पड़ा हुआ मिला था।

20 दिसंबर 2014 : गांव मदीना मदीना स्थित स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के एटीएम बूथ में सुबह ग्रामीणों ने जाकर देखा तो एटीएम गायब मिला। चोर एटीएम उखाड़कर ले गए थे। एटीएम में करीब 12 लाख रुपए नकदी थी।

16 जनवरी 2015 : भिवानी चुंगी के पास स्थित पंजाब नेशनल बैंक के एटीएम को चोर उखाड़ ले गए थे। इस एटीएम में एक लाख 74 हजार रुपए थे। महम पुलिस से जानकारी मिली थी कि कोई एटीएम लाहली-बहु अकबरपुर रोड पर खेत में पड़ा हुआ मिला था।

9 जनवरी 2015 : दुर्गा कालोनी में चोर पंजाब नेशनल बैंक की एटीएम उखाड़ ले गए थे। बाद में पुलिस को एटीएम गांव घरौठी स्थित खेतों में क्षतिग्रस्त हालत में पड़ी मिली थी, जिसमें से कैश गायब था।

मार्केट में सीसीटीवी कैमरे लगे एक ऑफिस में जांच करते थाना इंचार्ज।

सांपला थाने में पड़ी एटीएम कर रही है इंतजार

खरावड़-नौनंद मार्ग पर 12 जनवरी को दो कारों में सवार होकर आए बदमाश कुएं में एटीएम मशीन डाल कर फरार हो गए थे। मशीन को जेसीबी की सहायता से पुलिस ने बाहर निकाल लिया था। सांपला पुलिस ने आस-पास के सभी थानों को इस बारे में अवगत करा दिया। मशीन पर कंपनी पर निर्माता का नाम व सीरियल नंबर के अलावा कोई दूसरी जानकारी नहीं मिली थी, लेकिन 15 दिन बीतने के बाद भी मशीन कहां से चोरी हुई पुलिस इस बारे में कोई तफ्तीश नहीं कर पाई। अब मशीन सांपला पुलिस थाना के बाहर पड़ी इंतजार कर रही है।

गाड़ी में लगाते हैं लिफ्ट

बड़ी गाडिय़ों को मॉडिफाई करवाकर अपराधी एटीएम उखाडऩे के लिए लिफ्ट तक लगवाते हैं। इस गाड़ी में अधिकतर एक चालक के बैठने का का ही स्थान बचता है, बाकी सीटों को निकाल दिया जाता है। दिसंबर 2015 में हाई प्रोफाइल एटीएम चोर गिरोह के सदस्य विनय निवासी सेक्टर-3 ने पुलिस रिमांड में सनसनीखेज खुलासा किया था। पुलिस ने इस गिरोह से मॉडिफाइड स्कार्पियो के बाद एक एयर लिफ्ट मशीन भी बरामद की थी। भारी एटीएम को उठाने में मशक्कत नहीं करनी पड़े, इसके लिए गिरोह ने एयर लिफ्ट मशीन ले रखी थी। आरोपी एटीएम उखाडऩे के बाद उसे गाड़ी में लोड करने के लिए इस मशीन का प्रयोग करते थे। यही कारण था कि एटीएम उखाडऩे के कुछ ही देर बाद आरोपी उसे गाड़ी में लोड कर फरार हो जाते थे।

एटीएम सुरक्षा का पुलिस ने

बनाया था प्लान, अब फेल

एटीएम की सुरक्षा को लेकर एसपी शशांक आनंद की ओर से बैंक मैनेजर्स को कहा गया था कि सायरन के साथ अलार्म सिस्टम शुरू कर दिया जाए। इससे अगर कोई एटीएम मशीन से चोरी करने की नीयत से छेड़छाड़ करेगा तो सायरन के साथ ही संबंधित थाने में घंटी बजेगी। इसे सिर्फ बैंकों ने अपने निजी एटीएम में तो लगाया, लेकिन प्राइवेट कंपनी के लो-कॉस्ट एटीएम आज भी पुराने ढर्रे पर ही चल रहे हैं। जिले के अधिकतर एटीएम का शटर आठ बजे ही डाउन हो जाएगा।

आरएम पर हो चुका है केस दर्ज

तीन साल पहले जनवरी 2015 में एटीएम की सुरक्षा में लापरवाही मिलने के बाद एजीएस कंपनी के रीजनल मैनेजर के खिलाफ भी केस दर्ज किया गया था। इसके बाद भी कंपनी ने एटीएम की सुरक्षा को लेकर कोई कदम नहीं उठाया।

लापरवाही करने वालों पर

होगी कार्रवाई : डीसी

एटीएम का सुरक्षा को लेकर एसपी और एलडीएम से बात की जाएगी। सुरक्षा के मामले में यदि कंपनी की लापरवाही सामने आती है तो उसे भी बख्शा नहीं जाएगा। एटीएम में 24 घंटे सुरक्षाकर्मी की ड्यूटी सुनिश्चित कराने के लिए सख्ती की जाएगी। - डॉ. यश गर्ग, डीसी, रोहतक।

मेरी ओर से एटीएम चोरी के मामले में केस दर्ज करवा दिया गया है। मेरे एरिया में सिर्फ रोहतक में ही अब तक सात एटीएम उखाड़े हुए हैं। रेवाड़ी में भी एक एटीएम उखाड़ा गया है। - नीरज कुमार, कोऑर्डिनेटर, एजीएस ट्रांजेक्ट लि. कंपनी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Sampla News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: जिले में एटीएम उखाड़ने की अब तक हो चुकी आठ वारदात, किसी का भी खुलासा नहीं कर सकी पुलिस
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

      रिजल्ट शेयर करें:

      More From Sampla

        Trending

        Live Hindi News

        0
        ×