• Hindi News
  • Haryana News
  • Sampla
  • रोहतक में अवैध माइनिंग कर सोनीपत व झज्जर में की जा रही है मिट्‌टी सप्लाई
--Advertisement--

रोहतक में अवैध माइनिंग कर सोनीपत व झज्जर में की जा रही है मिट्‌टी सप्लाई

क्षेत्र में अवैध माइनिंग का धंधा बेरोक टोक चल रहा है। यह सब कुछ जानते हुए भी प्रशासन कार्रवाई नहीं कर रहा है। आलम यह...

Dainik Bhaskar

May 12, 2018, 03:25 AM IST
रोहतक में अवैध माइनिंग कर सोनीपत व झज्जर में की जा रही है मिट्‌टी सप्लाई
क्षेत्र में अवैध माइनिंग का धंधा बेरोक टोक चल रहा है। यह सब कुछ जानते हुए भी प्रशासन कार्रवाई नहीं कर रहा है। आलम यह है कि रोहतक के ग्रामीण क्षेत्रों में अवैध माइनिंग कर सोनीपत और झज्जर में सप्लाई की जा रही है। खानापूर्ति के नाम पर कुछ दिन पूर्व सीएम फ्लाइंग टीम ने समचाना से मटिंडू मार्ग पर अवैध खनन करते हुए 5 ट्रैक्टर और 2 जेसीबी मशीनों को मौके से जब्त किया था। इसके बाद से प्रशासन ने इस तरफ ध्यान नहीं दया। इस अवैध धंधे से जुड़े लोग बेरोक टोक माइनिंग कर मोटा मुनाफाकमा रहे हैं।

एक ट्रक से 2 से 5 हजार की जा रही वसूली : एक ट्रक से 2 हजार से लेकर 5 हजार रुपए तक वसूले जा रहे हैं। रेट दूरी के हिसाब व खरीदार को देख तय होता है। वहीं, एक डंपर को प्रतिदिन 15 से 20 चक्कर लगाने होते हैं। इसलिए दिन-रात के लिए वाहनों पर अलग से चालक रखे गए हैं। यह धंधा दिन-रात चल रहा है। गांव भैसरू खुर्द, समचाना, हसनगढ़ से अवैध माइनिंग कर सोनीपत और झज्जर जिले में सप्लाई कि जा रही है। भैसरू खुर्द से झज्जर जिले की सीमा नजदीक है तो वहीं, हसनगढ़ के साथ सोनीपत जिला लग रहा है। अब हालात यह हो चुके हैं कि जहां कभी जमीन से 20 से 30 फीट ऊंची टीबे (थली)होती थी, वहां अब 30 फीट गहरे गड्ढे हो गए हैं। इसके बाद भी अवैध खनन का धंधा नहीं रुक रहा है।

सांपला. अवैध खनन के बाद मिट्टी ले जाता ट्रैक्टर चालक।

ये हैं नियम

प्रति एकड़ जमीन पर 3 से 5 फीट तक ही मिट्टी खनन हो सकता है। जमीन के पास डेढ़ किलोमीटर के दायरे में जंगल है तो भी खनन नहीं किया जा सकता। जमीन के पास हाइटेंशन वाले खंभे 40 मीटर और छोटे खंभे 5 मीटर के दायरे में हैं तब भी खनन नहीं किया जा सकता। खनन के लिए उपयोग में लाई जाने वाली जमीन के 15 मीटर के दायरे में कोई मकान नहीं होना चाहिए।

ऐसे मिलता है राजस्व

मिट्टी खनन की अनुमति देने वाले खनन विभाग को प्रति मीट्रिक टन खनन का 4 रुपए 38 पैसा के हिसाब से राजस्व प्राप्त होता है। इस प्रकार एक सामान्य ट्रैक्टर-ट्राली में 4 मीट्रिक टन मिट्टी आती है तो हर ट्राली पर विभाग को 17 रुपए 52 पैसा मिलता है।

शिकायत करने पर सख्त

कार्रवाई होगी


ये की जा सकती कार्रवाई

अगर अवैध खनन करके मिट्टी ढोई जाती है, तब प्रति ट्रैक्टर ट्राली का 12 हजार रुपए जुर्माना मौके पर ही किया जा सकता है। वहीं, मिट्टी से भरे डंपर पर 5 से 10 गुणा जुर्माना लग सकता है। इस प्रकार बिना अनुमति वाली जमीन पर 5 फीट से ज्यादा मिट्टी खनन मौके पर पकड़े जाने पर अदालत उस जमीन के कलेक्टर रेट के हिसाब से जुर्माना लगा सकता है।

X
रोहतक में अवैध माइनिंग कर सोनीपत व झज्जर में की जा रही है मिट्‌टी सप्लाई
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..