• Home
  • Haryana News
  • Sampla
  • गंदे पानी की निकासी को लेकर ग्रामीण परेशान
--Advertisement--

गंदे पानी की निकासी को लेकर ग्रामीण परेशान

समचाना के ग्रामीणों ने गंदे पानी की निकासी नहीं होने के चलते लोकसभा चुनाव के बहिष्कार का निर्णय लिया। ग्रामीणों...

Danik Bhaskar | Jun 14, 2018, 03:45 AM IST
समचाना के ग्रामीणों ने गंदे पानी की निकासी नहीं होने के चलते लोकसभा चुनाव के बहिष्कार का निर्णय लिया। ग्रामीणों का आरोप है कि मैन गली के इंदौरिया पाना में गंदे पानी का जमावड़ा 3 साल से लगा हुआ है। युवा ग्रामीण संगठन के सदस्य जयदीप कौशिक ने बताया कि पानी निकासी के लिए ग्रामीणों ने जनवरी 2017 से 2 मई 2018 तक 10 बार सीएम विंडो पर भी शिकायत दी, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हो रही। बुधवार सुबह करीब 10 बजे ग्रामीण इंदौरिया पाना की चौपाल में एकत्रित हुए। ग्रामीणों ने आगामी लोकसभा व विधानसभा चुनाव में किसी भी पार्टी को वोट नहीं देने का निर्णय लिया। ग्रामीण पं. बलबीर, महेंद्र, रामकिशन, रामकरण, रामकिशन नंबरदार, पवन कुमार, सोनू, प्रदीप वकील, पारूल व प्रवीन आदि का कहना है कि सरपंच गांव से बाहर दिल्ली में रहती है। गांव के सभी विकास कार्य रुके पड़े है। गंदे पानी की निकासी न होने से गांव में बीमारियां फैलने का खतरा बना हुआ है।

उपायुक्त को दी शिकायत, उपायुक्त ने एडीसी और मंत्री ने डीडीपीओ को दिए जांच के आदेश

सांपला. इंदौरिया पाना के चौक पर जमा गंदा पानी।


सूचना के अधिकार से नहीं मिला खर्च ब्यौरा

पंच शमशेर व पवन ने सूचना के अधिकार के तहत गांव में खर्च का ब्यौरा सरपंच से मांगा लेकिन उन्होंने कोई जानकारी नहीं दी। इसके बाद पंच व अन्य ग्रामीण जिला उपायुक्त के पास पहुंचे। उपायुक्त ने ग्रामीणों की मांग को मानते हुए आगे की कार्रवाई के लिए एडीसी को जांच के लिए आदेश दिए। ग्रामीण मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ से रोहतक मिले और अपनी समस्या से अवगत कराया। मंत्री ने डीडीपीओ को तत्काल जांच कर रिर्पोट देने के आदेश दिए। गत शनिवार डीडीपीओ गांव पहुंचे और सरपंच से रिकार्ड मांगा।