• Home
  • Haryana News
  • Sampla
  • 6 भाइयों की हत्या के बाद अकेला रह गया धर्मपाल, 6 विधवा आईं पोस्टमार्टम करवाने
--Advertisement--

6 भाइयों की हत्या के बाद अकेला रह गया धर्मपाल, 6 विधवा आईं पोस्टमार्टम करवाने

भास्कर न्यूज | रोहतक/सांपला कारौर गांव में पिछले दो दशक से चल रहे गैंगवार में आनंद समेत छह सगे भाइयों की हत्या हो...

Danik Bhaskar | Apr 29, 2018, 03:55 AM IST
भास्कर न्यूज | रोहतक/सांपला

कारौर गांव में पिछले दो दशक से चल रहे गैंगवार में आनंद समेत छह सगे भाइयों की हत्या हो चुकी है। अब आनंद का सातवां भाई धर्मपाल ही बचा है। शनिवार काे आनंद के पोस्टमार्टम के दौरान धर्मपाल व उसके छह भाइयों की प|ियां ही पीजीआई पहुंची थीं। कई रिश्तेदार उनके साथ थे, लेकिन कारौर का कोई ग्रामीण नहीं पहुंचा। आनंद की प|ी मुकेश और गैंगवार में अपना सुहाग खो चुकी महिलाओं ने बताया कि गांव में ये सारे हालात पुलिस की लापरवाही से हुए हैं। उनका कहना था कि हत्याओं के मामले में वे भी अपने बच्चों सहित जेल काट चुकी हैं। इन महिलाओं का आरोप है कि अनिल छिप्पी जेल के अंदर बैठकर उनके परिवार के लोगों को मरवा रहा है। जिनमें अपराधियों को उसकी मां भी पनाह देती है।

पीजीआईएमएस के शवगृह में पहुंची आनंद की प|ी मुकेश बोली कि वह सुरक्षा को लेकर कई बार एसपी कार्यालय में शिकायत दे चुकी है, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हो रही। वे कई बार एसपी को गन के लाइसेंस को लेकर भी मिल चुके हंै। उन्होंने कई बार गार्द की भी मांग कर चुके है। इस पर उनको गांव में बनाई गई अस्थाई चौकी का हवाला दे दिया जाता है।

जींद में भी शिफ्ट हुआ था आनंद का परिवार

श्री भगवान व दिलबाग की पुलिस कस्टडी में हत्या के बाद आनंद के परिवार ने कुछ समय के लिए गांव छोड़ दिया था। वे जींद चले गए थे। इसके कुछ समय बाद ये वापस आ गए थे।

पुलिस से प|ी बोली-पहले सुरक्षा क्यों नहीं दी

रोहतक. पीजीआई में पोस्टमाटम के इंतजार में बैठीं आनंद के परिवार की महिलाएं।

पिछले हमले में पुलिस ने नहीं की कार्रवाई

आनंद के भाई धर्मपाल ने आरोप लगाया कि 28 दिसंबर को जब उन पर हमले का प्रयास किया गया था, उस वक्त पुलिस कंट्रोल में सूचना देकर पुलिस बुलाई थी। पुलिस का जवाब था कि आरोपी तो वहां से निकल रहे थे हमला करने का कोई प्लान नहीं था। जब वह चौकी में गया तो वहां पुलिस ने उसे कहा कि गन का लाइसेंस बनवाने के लिए झूठे आरोप लगा रहे।

पुलिस दो दिन बाद अनिल छिप्पी को प्रोडक्शन वारंट पर ले पूछताछ करेगी

सांपला | कारौर गावं के आनंद पहलवान की हत्या के बाद पुलिस ने आरोपियों की तलाश में शनिवार को कई जगह दबिश दी। गांव में अधिकतर आरोपियों के घरों पर ताले लटके हुए हैं। पुलिस ने इस मामले में आनंद के भाई धर्मपाल की शिकायत पर 20 लोगों पर हत्या का केस दर्ज किया है। वहीं पुलिस ने इस मामले में मुख्य आरोपी अनिल छिप्पी को जेल से प्रोडक्शन वारंट पर लाने की तैयारी कर ली है। सांपला पुलिस दो दिन बाद अनिल छिप्पी को प्रोडक्शन वारंट पर जेल से पूछताछ के लिए लाएगी। दूसरी ओर, पीजीआई में पोस्टमार्टम के बाद आनंद का गांव कारौर में अंतिम संस्कार हुआ। इस दौरान भारी संख्या में गांव में पुलिस बल तैनात रहा। खासबात ये रही कि अंतिम संस्कार के दौरान कारौर के अधिकतर ग्रामीण इसमें शामिल नहीं हुए। गैंगवार की रंजिश में 19 जान गंवाने वाले कारौर के ग्रामीण दबी जुबान में कह रहे हैं कि आनंद की हत्या के बाद अब ये सिलसिला फिर से बढ़ेगा। शनिवार को सारी गलियां पूरा दिन सुनसान रहीं। गांव में आनंद का शव पहुंचने के बाद भी लोगों ने ढांढस नहीं बंधाया।

एएसआई से उलझी आनंद की प|ी

पोस्टमार्टम हाउस पहुंची आनंद की प|ी मुकेश एक एएसआई से उलझ गई। मुकेश ने कहा कि अब पुलिस अा गई। उस दिन सुरक्षा की मांग कर रहे थे तब कोई सुनवाई नहीं की। वारदात के बाद भी अब तक कोई गिरफ्तार नहीं किया। मेरी छह साल की बेटी है। बार-बार पूछ रही है पापा कहां गए। बताओ उसे क्या जवाब दूं। बाद में परिवार की अन्य महिलाओं ने उसे शांत कराया।