• Home
  • Haryana News
  • Satnali
  • गर्मियों में पक्षियों के लिए हो पानी का प्रबंध
--Advertisement--

गर्मियों में पक्षियों के लिए हो पानी का प्रबंध

कनीना | गर्मियों में वन्य जीवों को बचाने के लिए पानी का प्रबंध किया जाए। ये विचार पीपुल फॉर एनिमल के उपप्रधान...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 02:45 AM IST
कनीना | गर्मियों में वन्य जीवों को बचाने के लिए पानी का प्रबंध किया जाए। ये विचार पीपुल फॉर एनिमल के उपप्रधान राजेंद्र सिंह ने कहे। उन्होंने कनीना में अपने साथियों को गर्मी के दिनों में पक्षियों की रक्षा करने की शपथ दिलाई। उन्होंने कहा कि गर्मी ने दस्तक दे दी है, वहीं सरसों की फसल की कटाई शुरू हो रही है। गर्मी के दिनों में पक्षियों को दूर-दराज तक पानी एवं चुग्गा नहीं मिलता है जिसके चलते उनकी मौत हो जाती है। ऐसे में वर्षों से पक्षियों के लिए जल एवं चुग्गा का प्रबंध करते आ रहे राजेंद्र सिंह ने यह बीड़ा उठाने का निर्णय लिया है। उनका मानना है कि जब गर्मी के दिनों में इंसान की हालात बदहाल हो जाती है तो पानी के बगैर पक्षियों पर क्या बीतती होगी? उन्होंने पीएफए के सदस्यों सहित सभी जीव प्रेमियों से प्रार्थना की है कि वे अपने घरों, आस पास, जंगलों में पानी के बर्तन पेड़ों से टंगवाएं। करीरा के निवासी एवं पीएफए के सदस्य बालकिशन, सुनील कुमार बिसोहा, किसान सूबे सिंह, अजीत कुमार का कहना है कि वे अपने घर की छत पर पक्षियों के लिए चुग्गे का प्रबंध करेंगे तथा पानी के बर्तन रखवाएंगे। उन्होंने कहा कि पक्षियों की सुरक्षा से उनकी सुरक्षा संभव है। उन्होंने भी अपने गांव में जितना हो सके पक्षियों के लिए पानी का प्रबंध करने का निश्चय लिया है।

पक्षियों के लिए छतों पर रखे दाना-पानी पात्र

नारनौल | स्काई हेल्प आर्गेनाइजेशन के सदस्यों ने शुक्रवार को अपने घरों में छतों पर पक्षियों के लिए दाना-पानी पात्र रखे। संगठन के अध्यक्ष सुधीर कुमार ने कहा कि आज के इस भौतिक युग में मनुष्य केवल खुद तक ही सीमित रह गया है। जिसके कारण गर्मी के मौसम में अनेक जीव दाना-पानी के अभाव तड़पते हुए देखे जाते है। भीषण गर्मी से बचाने के लिए जीवों की सुरक्षा हम सभी का दायित्व बनता है। पक्षियों को दाना-पानी उपलब्ध कराना पुण्य का काम है। बेजुबानों से भी हमदर्दी करना ना भूलो ये बगैर लफ्जों के दुआएं देते हैं। उन्होंने लोगों से अपील की है कि वे भी इस गर्मी के मौसम को देखते हुए अपने घरों की छतों व अन्य जगह पर बेजुबान जीवों के लिए पात्र रखकर उसमें दाना-पानी का प्रबंध करे। इस अवसर पर दीपक सैनी, अजय यादव, इंदु यादव, मोहित यादव, हेमंत सैनी, सुनील कुमार, मनोज शर्मा व दिलजीत यादव आदि मौजूद थे।