• Home
  • Haryana News
  • Satnali
  • सतनाली में सरसों खरीद आज से, पहले दिन बारड़ा और नांवा की खरीदी जाएगी फसल
--Advertisement--

सतनाली में सरसों खरीद आज से, पहले दिन बारड़ा और नांवा की खरीदी जाएगी फसल

सतनाली मंडी में सोमवार से सरसों की खरीद प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। जानकारी के अनुसार खरीद के प्रथम दिन खंड के गांव...

Danik Bhaskar | Apr 02, 2018, 02:55 AM IST
सतनाली मंडी में सोमवार से सरसों की खरीद प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। जानकारी के अनुसार खरीद के प्रथम दिन खंड के गांव बारड़ा व नांवा के किसानों की सरसों की खरीद की जाएगी। बता दें कि किसानों की मांग पर प्रो. रामबिलास शर्मा के प्रयासों से एवं मुख्यमंत्री मनोहर लाल के निर्देशानुसार इस बार सतनाली में हैफेड द्वारा सरसों खरीद का कार्य शुरू किया जा रहा है। बता दें कि सरसों खरीद प्रक्रिया शुरू करने से पूर्व संबंधित अधिकारियों द्वारा खंड के विभिन्न गावों की सूची तैयार की जाती है। तैयार सूची के अनुसार ही हैफेड संबंधित गांवों के किसानों की सरसों खरीद का कार्य करते हैं। अत: सूची के अनुसार ही किसान अपनी सरसों की फसल लेकर आएं, ताकि होने वाली अनावश्यक परेशानी से बचा जा सके। जगराम यादव हैफेड मैनेजर महेंद्रगढ़ ने बताया कि 7 अप्रैल तक की सरसों खरीद के लिए सतनाली खंड की सूची तैयार कर दी गई है।

यह रहेगा शेड्यूल







किसानों को नहीं मिल रहा है सरसों का समर्थन मूल्य : राव अर्जुन

मंडी अटेली | राव अर्जुन सिंह ने रविवार को कस्बा अटेली के मार्केट में व्यापारियों से मुलाकात कर समस्या सुनी। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा वर्ष 2016-17 में नोटबंदी व वर्ष 2017-18 में जीएसटी के माध्यम से व्यापारियों वर्ग की कमर तोड़ दी है। सरकार द्वारा व्यापारियों की समस्याओं की अनदेखी की जा रही है। क्षेत्र के जनप्रतिनिधि एवं सरकार सोई हुई है कानून व्यवस्था पूरी तरह ठप हो चुकी है अनाज मंडी के व्यापारियों ने बताया कि रबी कि फसल सरसो की न तो समय पर खरीद हो रही है और ना ही अच्छा भाव मिल रहा है।

अटेली में भी सरसों खरीद का शेड्यूल जारी

मंडी अटेली | अनाज मंडी में सोमवार 2 अप्रैल को खारीवाड़ा, कारिया, गिरधरपुर गांवों की खरीद होगी। मंडी में शनिवार 31 मार्च को 132 क्विंटल सरसों खरीदी गई थी। हैफेड के तकनीकी विशेषज्ञ योगेश शेखावत ने बताया कि मंडी में किसान अपनी सरसों को सुखा कर व साफ करके लाये। 8 प्रतिशत से ज्यादा नमी वाली सरसों को नहीं खरीदा जा रहा है। खरीद सरकार तय मापदंडों के अनुसार की जाएगी। किसान अपनी सरसों निर्धारित शेड्यूल के अनुसार 9 से 3 बजे के बीच लेकर जमीन की फर्द के साथ पटवारी द्वारा प्रमाणित गिरदावरी पत्र साथ लाएं। हैफेड के स्थानीय प्रबंधक संतराम ने बताया कि एजेंसी ने सरसों की खरीद के लिए सोसायटी ने खरीद केंद्र बनाया हुआ है। मंडी में कल 3 अप्रैल को गनियार, हसनपुर, सलीमपुर, सुजापुर गांवों के किसानों की खरीद होगी। किसान मंडी में बिक्री के लिए सरसों को सुखा व साफ करके मंडी में 8 प्रतिशत से ज्यादा नमी वाली सरसों को नहीं खरीदा जाएगा। खरीद सरकार तय मापदंडों के अनुसार की जाएगी। कमेटी सचिव आदित्य यादव ने बताया कि मंडी में किसानों को बिक्री करने में किसी प्रकार की दिक्कत ना हो इसके लिए समुचित व्यवस्था की गई है। मार्केट कमेटी चेयरमैन कर्मबीर बिहाली ने बताया कि मंडी में खरीद के लिए सभी प्रकार के प्रबंध कर लिए गए हैं। बिजली-पानी की समुचित व्यवस्था की गई है। जिन गांवों का खरीद की बारी चली गई उन गावों की फिर बारी आएगी। सरसों का समर्थन मूल्य 4 हजार के रेट से सरसों खरीदी जा रही है।

रेवाड़ी अनाजमंडी में लगी सरसों की ढेरी व मौके पर मौजूद किसान