• Hindi News
  • Haryana
  • Shahbad
  • संदीप की जिंदगी की हकीकत कुछ-अफसाना कुछ, फिल्म में कोच बलदेव की जगह करतार सिंह
--Advertisement--

संदीप की जिंदगी की हकीकत कुछ-अफसाना कुछ, फिल्म में कोच बलदेव की जगह करतार सिंह

कुरुक्षेत्र | सूरमा में संदीप का करेक्टर निभाने वाले दिलजीत संदीप के परिवार के साथ। भास्कर न्यूज | कुरुक्षेत्र...

Dainik Bhaskar

Jul 14, 2018, 02:45 AM IST
संदीप की जिंदगी की हकीकत कुछ-अफसाना कुछ, फिल्म में कोच बलदेव की जगह करतार सिंह
कुरुक्षेत्र | सूरमा में संदीप का करेक्टर निभाने वाले दिलजीत संदीप के परिवार के साथ।

भास्कर न्यूज | कुरुक्षेत्र

शाहाबाद के हॉकी खिलाड़ी संदीप सिंह की जिंदगी के संघर्ष को दिखाती सूरमा शुक्रवार को रिलीज हुई। यह फिल्म संदीप की जिंदगी की हकीकत के साथ कुछ अफसाने भी खुद में समेटे हुए है। सूरमा में भी आम फिल्मों की तरह मसाले डाले गए। हालांकि सूरमा में कई करेक्टर हैं, लेकिन इनमें से कुछ के नाम भी बदल दिए। द्रोणाचार्य अवाॅर्डी व टीम इंडिया के कोच रहे चुके बलदेव सिंह जैसा करेक्टर फिल्म में है। लेकिन बलदेव की जगह नाम बदल दिया। तर्क है कि राइट के इश्यू के चलते ऐसा करना पड़ा।



शुक्रवार को रिलीज हुई संदीप के संघर्ष पर बनी फिल्म, कोच बलदेव बोले-संदीप ने 4 साल उनके पास सिखी हॉकी, मोंटी को भी सिखाया

बदला है बलदेव का करेक्टर

संदीप जैसे पुरुष हॉकी खिलाड़ियों के साथ ही शाहाबाद महिला हॉकी व कोच बलदेव सिंह के लिए भी प्रसिद्ध है। बलदेव सिंह ने ही यहां एक प्राइवेट स्कूल में हॉकी अकादमी की नींव रखी थी। फिल्म में बलदेव की जगह करतार सिंह को शाहाबाद में कोच दिखाया है। लेकिन करेक्टर बलदेव जैसा ही है। जिस तरह हकीकत में बलदेव की सख्ती दिखती, वैसे ही फिल्म में दिखाया।

कोच बलदेव जैसा करेक्टर है कोच करतार।

दोनों के बीच संबंध रखे खट्टे-मीठे

बताया जाता है कि बलदेव सिंह और संदीप के संबंधों में तनातनी भी रह चुकी है। यह सूरमा में भी दिखाई। इसमें संदीप हॉकी स्टेडियम में प्रैक्टिस करते तो दिखाए, लेकिन संदेश यही दिया कि बलदेव जैसे करेक्टर करतार से हॉकी नाममात्र ही सिखी। इसकी बजाए पटियाला स्थित स्पोर्ट्स सेंटर को दिखाया है।

जिससे प्यार: उससे नहीं दिखाई शादी

सूरमा का अंत सन 2010 में लंदन में पाकिस्तान के साथ मैच जीतने के साथ दिखाया है। जबकि संदीप की जिंदगी में 2009 से 2012 तक का समय हॉकी के लिहाज से गोल्डन पीरियड था। वहीं फिल्म में वे हॉकी खिलाड़ी हरप्रीत उर्फ प्रीतो से नैन लड़ाते दिखाए हैं। फिल्म भी हरप्रीत के द्वारा फ्लैशबैक का वर्णन है। हालांकि असल जिंदगी में उनका प्यार उनकी प|ी हरजिंद्र कौर हैं। हरजिंद्र से सन 2009 में उनकी शादी हो गई थी। जबकि फिल्म में ऐसा नहीं दिखाया।

मोंटी के जन्मदिन पर कराई रिलीज

सूरमा के लिए 13 जुलाई की रिलीज डेट इस वजह से रखी क्योंकि 13 जुलाई संदीप के बड़े भाई विक्रमजीत का जन्मदिन है। विक्रम को ही संदीप अपना सूरमा मानते हैं। विक्रम उर्फ मोंटी कहते हैं कि उक्त फिल्म का पार्ट टू व थ्री भी बनाने की योजना है। इसलिए 2010 तक का समय ही फिल्म में रखा है। माना कि कुछ करेक्टर के नाम बदले हैं। कहते हैं कि फिल्म की जरूरत के हिसाब से करेक्टर के नाम बदले हैं तो कुछ मसाला भी डाला। लेकिन अफसाना बेहद कम और हकीकत ज्यादा है। फिल्म संदीप के टीम इंडिया में शामिल होने व संघर्ष पर बेस्ड है।

पहले विक्रम पहुंचा, फिर संदीप : बलदेव

वहीं कोच बलदेव सिंह का दावा है कि संदीप और उनके भाई विक्रमजीत सिंह ने करीब चार साल उनके पास प्रैक्टिस की। सन 93 के आसपास पहले विक्रम पहुंचा था, फिर संदीप। अनुशासन के मसले को लेकर करीब 20-22 युवा पुरुष खिलाड़ियों को प्रैक्टिस कराना बंद किया था, इनमें विक्रम भी थे। हालांकि विक्रम काफी तेजतर्रार खिलाड़ी रहा है। कहते हैं कि सूरमा फिल्म के लिए उनसे कभी किसी ने संपर्क नहीं साधा।

संदीप की जिंदगी की हकीकत कुछ-अफसाना कुछ, फिल्म में कोच बलदेव की जगह करतार सिंह
संदीप की जिंदगी की हकीकत कुछ-अफसाना कुछ, फिल्म में कोच बलदेव की जगह करतार सिंह
X
संदीप की जिंदगी की हकीकत कुछ-अफसाना कुछ, फिल्म में कोच बलदेव की जगह करतार सिंह
संदीप की जिंदगी की हकीकत कुछ-अफसाना कुछ, फिल्म में कोच बलदेव की जगह करतार सिंह
संदीप की जिंदगी की हकीकत कुछ-अफसाना कुछ, फिल्म में कोच बलदेव की जगह करतार सिंह
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..