शाहाबाद

  • Home
  • Haryana News
  • Shahbad
  • कभी नहीं सोचा था कि मुझ पर बायोपिक बनेगी:संदीप
--Advertisement--

कभी नहीं सोचा था कि मुझ पर बायोपिक बनेगी:संदीप

भारतीय हॉकी में फ्लिकर सिंह के नाम से मशहूर अर्जुन अवॉर्डी संदीप सिंह का कहना है कि उन्होंने कभी नहीं सोचा था कि उन...

Danik Bhaskar

Jul 08, 2018, 03:00 AM IST
भारतीय हॉकी में फ्लिकर सिंह के नाम से मशहूर अर्जुन अवॉर्डी संदीप सिंह का कहना है कि उन्होंने कभी नहीं सोचा था कि उन पर बायोपिक भी बनेगी। अब उनके जीवन व संघर्ष पर बायोपिक सूरमा बनी है। यह निश्चित तौर पर युवाओं को प्रेरित करेगी। संदीप शनिवार को पैतृक नगर शाहाबाद पहुंचे थे। इस दौरान पत्रकारों से बातचीत में संदीप ने कहा कि वे यही चाहते हैं कि युवा नशों से दूर रहे । जीवन की किसी भी लड़ाई को हार जाने के बाद हिम्मत न हारे। उन्होंने कहा कि आज युवाओं में सहन शक्ति की कमी आ रही है। जिस कारण देश में आत्महत्या करने के मामले में सबसे ज्यादा युवाओं की संख्या है। वे चाहते हैं कि विशेष तौर पर बच्चे व युवा इस फिल्म को जरूर देखें। यह फिल्म उनके जीवन की महत्वपूर्ण घटनाओं को सच्चे ढंग से उजागर करती है।

मेरे सूरमा-मेरे भाई : जब संदीप से पूछा गया कि उनके जीवन में असली सुरमा कौन है तो उन्होंने कहा कि उस मुश्किल दौर में परिवार के हर सदस्य ने उसे हिम्मत दी। बड़े भाई विक्रम सिंह ने कदम कदम पर उन्हें प्रोत्साहित किया। उन्हें दोबारा से हॉकी खेलने लायक बनाने में खुद भी संघर्ष किया। मेरे लिए वही सूरमा हैं।

शाहाबाद| पत्रकारों से बातचीत करते संदीप ।

सन 2006 में लगी थी गोली

बता दें कि वर्ष 2006 में दिल्ली जाते समय ट्रेन में संदीप सिंह को गोली लग गई थी। जिस कारण वह लगभग 2 साल हॉकी खेलने से वंचित रहे। तब एक बारगी यही समझा जा रहा था कि उनका खेल करियर अब खत्म है। लेकिन संदीप ने हॉकी प्रति अपने जुनून के चलते हिम्मत नहीं हारी। कठिन मेहनत कर खुद को दोबारा से तैयार किया और टीम में वापसी की। पूर्व विधायक अनिल धंतौड़ी ने कहा कि शाहाबाद के संदीप ने हॉकी में न केवल क्षेत्र का बल्कि देश का नाम भी रोशन किया है। संदीप ने अनेक दर्द झेलते हुए खुद के जीवन को संवारा।

Click to listen..