Hindi News »Haryana »Shahbad» सरकार ने किसानों के खाते में सीधे पैसा डालने का फैसला वापस लिया, आईडी कार्ड होगी खरीद

सरकार ने किसानों के खाते में सीधे पैसा डालने का फैसला वापस लिया, आईडी कार्ड होगी खरीद

भास्कर न्यूज | कुरुक्षेत्र-शाहाबाद-लाडवा सरकार द्वारा गेहूं का भुगतान सीधे किसानों के खातों में करने के फैसले...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 01, 2018, 03:00 AM IST

सरकार ने किसानों के खाते में सीधे पैसा डालने का फैसला वापस लिया, आईडी कार्ड होगी खरीद
भास्कर न्यूज | कुरुक्षेत्र-शाहाबाद-लाडवा

सरकार द्वारा गेहूं का भुगतान सीधे किसानों के खातों में करने के फैसले को लेकर आढ़तियों ने दूसरे दिन सोमवार को भी हड़ताल रखी। जहां दिनभर खरीद नहीं की। वहीं मार्केट कमेटी कार्यालय व लघु सचिवालय पर धरना देकर रोष जताया। हालांकि शाम होते-होते सरकार भी बैकफुट पर आ गई।

सीधे भुगतान का फैसला वापस ले लिया। हरियाणा आढ़ती एसोसिएशन के अध्यक्ष अशोक गुप्ता व जगतार सिंह काजल ने कहा कि सरकार ने बेतुका फैसला लिया है। यदि सरकार को यूपी व अन्य राज्यों की गेहूं पर रोक लगानी है तो इसके दूसरे साधन भी हैं। उन्होंने कहा कि दूसरे राज्यों से वैसे भी इतना गेहूं नहीं आता, जितने को लेकर सरकार हल्ला मचा रही है।

शाहाबाद में भी बैठे धरने पर आढ़ती : सरकार द्वारा पैसे का भुगतान सीधे किसानों को करने के विरोध में शाहाबाद के सैकड़ों आढ़ती दूसरे दिन भी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर रहे। सभी आढ़ती अनाज मंडी परिसर में इकट्ठे हुए। सरकार विरोधी नारेबाजी की। करनाल में सीएम से आढ़तियों का शिष्टमंडल मिला था। हालांकि इस शिष्टमंडल में जिले से कोई आढ़ति एसोसिएशन सदस्य शामिल नहीं था।

कुरुक्षेत्र | नई अनाज मंडी में मार्केट कमेटी कार्यालय के बाहर मांगों को लेकर धरने पर बैठे आढ़़तियों से बातचीत करते एसडीएम।

मार्केट कमेटी कार्यालय के बाहर किया प्रदर्शन

लाडवा | लाडवा अनाज मंडी में मार्केट कमेटी कार्यालय के बाहर सोमवार को लगातार दूसरे दिन अनाज मंडी के व्यापारियों ने भाजपा सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। प्रदर्शन की अध्यक्षता लाडवा अनाज मंडी एसोसिएशन के प्रधान बिमलेश गर्ग ने की। इसमें प्रदेश की अनाज मंडियों के अध्यक्ष अशोक गुप्ता ने भी हिस्सा लिया। लाडवा विधायक डॉ. पवन सैनी ने व्यापारियों को समझाने के लिए मौके पर पहुंचे। डॉ. सैनी ने कहा कि व्यापारियों व किसानों का एक दूसरे के बिना काम नहीं चल सकता। व्यापारी किसान के लिए एटीएम से कम नहीं है। उन्होंने कहा कि देश में पारदर्शिता लाने के लिए मोदी सरकार सभी काम ऑनलाइन करने में लगी है। ताकि देश व प्रदेश में भ्रष्टाचार को खत्म किया जा सके। उन्होंने व्यापारियों से कहा कि वे जल्द से जल्द अपना धरना प्रदर्शन खत्म करें। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री से व्यापारियों की समस्या के बारे में बातचीत की जाएगी और कोई बीच का रास्ता निकाला जाएगा।

आढ़तियों की हड़ताल के चलते नहीं बिकी गेहूं

इस्माइलाबाद | सरकार द्वारा गेहूं की ऑनलाइन खरीद को लेकर सरकार व आढ़तियों के बीच खींचतान के चलते किसानों की गेहूं सोमवार को बिना बिकवाली के खुले आसमान के नीचे पड़ी रही। आढ़तियों के अलावा किसानों ने भी गेहूं की ऑनलाइन बिकवाली का विरोध किया। किसान विष्णुदत्त शर्मा, राजेश जलबेहड़ा, दीपचंद, सौरव, राजू शर्मा और बलदेव ने कहा कि सरकार द्वारा गेहूं की ऑनलाइन खरीद करने से आढ़ती व किसान का तालमेल नहीं बनता। पिछले दो दिन से गेहूं बिना बिकवाली के मंडी में पड़ी हुई है। खरीद चालू करवाने के लिए आढ़तियों से बातचीत चल रही है।

आढ़तियों ने किया प्रदर्शन

बाबैन : प्रदेश सरकार द्वारा किसानों की गेहूं की फसल का भुगतान सीधा किसानों के खातों में करने के विरोध में सोमवार को आढ़तियों ने दुकानें बंद रखकर प्रदर्शन किया। व्यापारियों ने मार्केट कमेटी कार्यालय बाबैन में सरकार के खिलाफ धरना देकर नारेबाजी की। आढ़तियों ने कहा कि अगर सरकार ने किसान व व्यापारी विरोधी इस फैसले को तुरंत वापस नहीं लिया तो वे अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले जाएंगे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Shahbad

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×