Hindi News »Haryana »Shahbad» गन्ने की पेमेंट न मिली तो किसानों ने मिल में किया प्रदर्शन

गन्ने की पेमेंट न मिली तो किसानों ने मिल में किया प्रदर्शन

स्थानीय सहकारी चीनी मिल किसानों के बकाया गन्ने की पेमेंट को लेकर बुधवार को भाकियू कार्यकर्ताओं ने मिल परिसर में...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 12, 2018, 03:40 AM IST

गन्ने की पेमेंट न मिली तो किसानों ने मिल में किया प्रदर्शन
स्थानीय सहकारी चीनी मिल किसानों के बकाया गन्ने की पेमेंट को लेकर बुधवार को भाकियू कार्यकर्ताओं ने मिल परिसर में प्रदर्शन किया। मिल के एमडी गिरीश चावला से से बातचीत की। बाद में किसान नारेबाजी करते हुए मिल परिसर से बाहर निकल गए। देवी मंदिर परिसर के बाहर इक्ट्ठा हुए। जहां से नारेबाजी करते हुए एसडीएम कार्यालय पहुंचे। डीसी के नाम ज्ञापन तहसीलदार दिनेश ढिल्लो को सौंपा। भाकियू के प्रैस प्रवक्ता राकेश बैंस ने बताया कि वर्ष 2017-18 में किसानों की गन्ने की फसल की लगभग 80 करोड़ की राशि शाहाबाद सहकारी चीनी मिल पर बकाया है। मिल द्वारा पेमेंट नहीं की जा रही है। उन्होंने कहा कि किसान इस समय धान की रोपाई कर रहे हैं। जिससे उन्हें खाद व दवा लेने के लिए पैसों की जरूरत है। पेमेंट न मिलने के कारण किसान परेशान हैं। मांग की कि किसानों की बकाया राशि का भुगतान जल्द से जल्द किया जाए। इस अवसर पर कर्म सिंह, देसराज, मायाराम धंतौड़ी, इंद्र सिंह उगाला, तेजपाल, सुखविंद्र सिंह, जसबीर सिंह, पवन कुमार, बिंदा, गुरनाम सिंह, छोटू राम सहित अनेक किसान उपस्थित थे।

चीनी बेचकर देंगे 12 करोड़| मिल के एमडी गिरीश चावला ने बताया कि किसानों के गन्ने की 72 करोड़ रुपए की पेमेंट बकाया है। जिसमें से 25 करोड़ रुपए के लिए बैंक में सीसी लिमिट बढ़ाए जाने का अनुरोध किया गया है। इसके अलावा 74 करोड़ रुपए की पेमेंट के लिए शुगर फेडरेशन के पास फाइल भेजी है जिसमें से 64 करोड़ रुपए स्वीकृत हो चुके है। जैसे ही यह पेमेंट आएगी, आगे किसानों को भुगतान किया जाएगा। बताया कि 20 जुलाई तक चीनी बेचकर 12 करोड़ रुपए की पेमेंट किसानों को कर दी जाएगी।

गन्ने की पेमेंट न होने के विरोध में भाकियू 18 को करेगी प्रदर्शन : रतन सिंह मान

लाडवा | भारतीय किसान यूनियन की बैठक किसान विश्राम गृह में हुई। इसकी अध्यक्षता ब्लॉक प्रधान अजीत सिंह भूतमाजरा ने की। भाकियू के प्रदेशाध्यक्ष रतन सिंह मान ने कहा कि भाजपा सरकार अपने वादों से मुकर रही है। जिसके विरोध में 23 सितंबर को हरिद्वार से सरकार के खिलाफ आंदोलन यात्रा शुरू की जाएगी। यात्रा हरिद्वार से चलकर दिल्ली के राजघाट पर महात्मा गांधी की समाधि के आगे संपन्न होगी। इसमें देशभर के लाखों किसान हिस्सा लेंगे। उन्होंने कहा कि लाडवा और कुरुक्षेत्र से भी हजारों की संख्या में किसान आंदोलन में हिस्सा लेंगे। रतन मान ने कहा कि 18 जुलाई को गन्ने की पेमेंट न होने को लेकर कुरुक्षेत्र में भाकियू की ओर से प्रदर्शन किया जाएगा। इस अवसर पर प्रताप सिंह, बलजीत राठी, मदनपाल बपदा, मामचंद बपदी, धर्मपाल बपदा, कर्म सिंह, लवली, चरण सिंह, ईश्वर, जगीर, जयपाल, जसमेर, पवन कुमार और सुभाष मौजूद थे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Shahbad

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×