• Home
  • Haryana News
  • Shahbad
  • मीरी-पीरी में आईसीयू वार्ड शुरू, एनओसी लटकी
--Advertisement--

मीरी-पीरी में आईसीयू वार्ड शुरू, एनओसी लटकी

शाहाबाद स्थित शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के महत्ती प्रोजेक्ट मीरी-पीरी मेडिकल इंस्टीट्यूट आॅफ मेडिकल...

Danik Bhaskar | Jun 08, 2018, 03:45 AM IST
शाहाबाद स्थित शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के महत्ती प्रोजेक्ट मीरी-पीरी मेडिकल इंस्टीट्यूट आॅफ मेडिकल साइंसिस व रिसर्च में अब आईसीयू वार्ड की सुविधा भी शुरू हो गई। एसजीपीसी के वरिष्ठ उपाध्यक्ष रघुजीत सिंह विर्क ने गुरुवार को आईसीयू वार्ड का उद्घाटन किया। साथ ही डेंटल विंग का भी शुभारंभ किया। उनके साथ एसजीपीसी के वरिष्ठ उपप्रधान जत्थेदार बलदेव सिंह, जत्थेदार हरभजन सिंह मसाना, जत्थेदार भूपिंदर सिंह असंध, अमरजीत सिंह मंगी, बीबी करतार कौर, तजिंदरपाल सिंह ढिल्लो और एसजीपीसी सचिव अवतार सिंह, अस्पताल के प्रभारी डाॅ. संदीपइंदर सिंह चीमा भी मौजूद रहे।

50 लाख में बना वार्ड | विर्क ने बताया कि आईसीयू वार्ड व आधुनिक मशीनों पर 50 लाख रुपए खर्च हुए हैं। ताकि मरीजों को कोई परेशानी न हो। कहा कि अस्पताल की आधुनिक सुविधाओं का फायदा निश्चित तौर पर मरीजों को मिलेगा। संस्थान में डायलसिस और स्लाइस सिटी स्कैन मशीनें जनता को समर्पित की जा चुकी हैं। बता दें कि मीरीपीरी इंस्टीट्यूट की एनओसी का मामला लंबे समय बाद सुलझ तो गया। लेकिन एनओसी नहीं मिल पाई। विर्क का कहना है कि कॉलेज को एनओसी दिलाने की औपचारिकताएं जल्द पूरी कर ली जाएगी। उन्होंने आरोप लगाया कि मीरी-पीरी मेडिकल कॉलेज के निर्माण में कांग्रेस सरकारों ने अडंगा डाला हुआ था। लेकिन अब भाजपा और स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज पूरा सहयोग कर रहे हैं।

शाहाबाद | आईसीयू वार्ड का निरीक्षण करते एसजीपीसी के वरिष्ठ उपप्रधान।

जल्द शुरू होगी सुपरस्पेशलिटी ओपीडी

मीरी पीरी इंस्टीट्यूट के अस्पताल में जल्द ही सुपरस्पेशलिटी ओपीडी की सुविधा भी मिलेगी। इस ओपीडी को शुरू करने की तैयारियां चल रही हैं।

अपने दम पर लड़ेगी शिअद : रघुजीत सिंह

विर्क ने बताया कि शिरोमणि अकाली दल के राष्ट्रीय प्रधान सुखबीर सिंह बादल ने 27 मई को किला लौहगढ़ में घोषणा की थी कि उनकी पार्टी हरियाणा में अपने दम पर चुनाव मैदान में उतरेगी। मौके पर सिख मिशन हरियाणा प्रभारी मंगप्रीत सिंह, परमजीत सिंह दुनियामाजरा, सुखवंत सिंह, मनजीत सिंह, जगीर सिंह, प्रताप सिंह करनाल मौजूद रहे।