--Advertisement--

दूसरे दिन भी धरने पर बैठे सरपंच

प्रदेश सरकार की ओर से प्रदेशभर में ग्राम पंचायतों को ई-प्रणाली से जोड़ने की कवायद के विरोध में उठे सरपंचों के स्वर...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 03:40 AM IST
प्रदेश सरकार की ओर से प्रदेशभर में ग्राम पंचायतों को ई-प्रणाली से जोड़ने की कवायद के विरोध में उठे सरपंचों के स्वर रुकने का नाम नहीं ले रहे। इसी कड़ी में शनिवार को दूसरे दिन भी सिरसा खंड के तहत आने वाले सभी ग्राम पंचायतों के सरपंचों ने बीडीपीओ सिरसा के कार्यालय के समक्ष धरना दिया और सरकार विरोधी निर्णय के खिलाफ जबरदस्त नारेबाजी की।

सिरसा खंड के सरपंच एसोसिएशन के प्रधान आत्माराम ने कहा कि एक ओर राज्य सरकार ऑनलाइन प्रणाली को जबरन ग्राम पंचायतों पर थोपने की कोशिश कर सरपंचों को परेशान करने पर तुली है वहीं सरपंचों की धरातली समस्या को समझने की कोशिश नहीं कर रही। ग्राम हांडीखेड़ा के सरपंच आत्माराम सिहाग ने स्पष्ट कहा कि वे सरकार की हर कल्याणकारी योजनाओं को अपने गांवों में लागू कर ग्रामीणों को प्रेरित करते हैं। इस मुद्दे पर वे सरकार के खिलाफ नहीं बल्कि व्यवस्था के खिलाफ मुखर हैं। सिहाग ने कहा कि सरकार पर गांवों में ऑनलाइन प्रणाली के लिए इंफ्रास्ट्रक्चर को बेहतर बनाए, तभी ऑनलाइन प्रणाली लागू करे। उन्होंने कहा कि समुचित संसाधनों की उपलब्धता के साथ ही बेहतर व्यवस्था दी जा सकती है मगर अभी गांवों में संसाधनों की व्यापक कमी है जिसे दुरूस्त किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि वे अपनी मांगों के समर्थन में सोमवार को उपायुक्त को ज्ञापन भी सौंपेंगे।