• Hindi News
  • Rajya
  • Haryana
  • Sirsa
  • Sirsa News haryana news nine steps in cleanliness ranking after 3 years action plans now door to door garbage will be raised

स्वच्छता रैंकिंग में 3 साल से पिछड़ रही नप ने बनाया एक्शन प्लान, अब डोर-टू-डोर कचरा उठाया जाएगा

Sirsa News - स्वच्छता रैंकिंग में सुधार के लिए नगर परिषद ने व्यापक प्लानिंग कर ली है। अब शहवासियों से कूड़ा उठाने के नाम पर...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 08:35 AM IST
Sirsa News - haryana news nine steps in cleanliness ranking after 3 years action plans now door to door garbage will be raised
स्वच्छता रैंकिंग में सुधार के लिए नगर परिषद ने व्यापक प्लानिंग कर ली है। अब शहवासियों से कूड़ा उठाने के नाम पर मंथली फीस नहीं वसूली जाएगी। कूड़ा उठाने के लिए रेहड़ी व्यवस्था को बदलकर अब नये वाहन लगा दिए हैं। इसी के साथ शहर में वह कूड़ा प्वाइंट भी खत्म कर दिए गए हैं जहां खुले में कूड़ा फेंका जाता था। नगर परिषद अधिकारियों ने गुरुवार को वार्ड-4 से नई व्यवस्था की शुरूआत करवा दी।

पिछले तीन साल से स्वच्छता रैंकिंग में सिरसा पिछड़ रहा था। स्वच्छता सर्वेक्षण 2019 में 270वां रैंक हासिल करने पर भी अधिकारी संतुष्ट नहीं हुए और अब रैंकिंग सुधारने के लिए और प्रयास कर दिए हैं। जो कमियां रह गई थी, उन्हें अब दूर किया जा रहा है। सरकार के भी आदेश हैं कि नगर परिषद प्रशासन ही शहर के प्रत्येक घर से डोर-टू-डोर कूड़ा एकत्र करवाने की व्यवस्था करे। इसलिए नगर परिषद प्रशासन ने कूड़ा उठाने वाली एजेंसी डिंगमैन पावर को निर्देश जारी कर दिए। एजेंसी ने स्पेशल वाहनों की व्यवस्था कर दी है। शुरुआती तौर पर करीब 8 स्पेशल वाहन शुरू भी कर दिए हैं जिन्हें विभिन्न कॉलोनियों में जाकर डोर-टू-डोर कूड़ा एकत्र करने के लिए काम पर लगा दिया गया है। खास बात ये है कि इस नई व्यवस्था के तहत शहरवासियों को किसी भी तरह का भुगतान करने की भी जरूरत नहीं है। इतना ही नहीं जल्द ही सभी 31 वार्डों के लिए कम से कम 31 वाहनों की व्यवस्था करने की भी प्लानिंग शुरू कर दी है। इसका लाभ यह होगा कि स्वच्छता सर्वेक्षण में सिरसा की रैंकिंग में सुधार होगा कि फ्री सर्विस उपलब्ध करवाई जा रही है।

वार्डवासियाें को जागरूक करते नगर परिषद कार्यकारी प्रधान रणधीर सिंह, मुख्य सफाई निरीक्षक देवेंद्र बिश्नोई व अन्य।

खुले में कचरा वाले प्वाइंट बंद करवाए

शहर के सीएमके कॉलेज रोड पर और अनाज मंडी के पास राजकीय स्कूल के निकट खुले में कूड़ा फेंका जाता था। इसका कारण यह था कि उस क्षेत्र में कूड़ा प्वाइंट नहीं था और कई-कई दिन तक रेहड़ी वाले भी कचरा नहीं उठाते थे। इसलिए अब नप प्रशासन ने ये दोनों प्वाइंट ही खत्म करवा हैं। अब इन दोनों जगहों पर खुले में कूड़ा नहीं फेंका जा सकेगा। इससे शहर में स्वच्छता काे बढ़ावा मिलेगा।

बुधवार को रेहड़ी चालकों ने किया था प्रदर्शन

शहर में रेहड़ी चालक घर-घर जाकर कूड़ा उठाने का काम कर रहे हैं। नगर परिषद प्रशासन ने इन्हें हटा दिया है ताकि नये वाहन लगाए जाएं। लेकिन इस व्यवस्था के खिलाफ रेहड़ी चालकों ने बुधवार को भाजपा नेता गोकुल सेतिया के नेतृत्व में लघु सचिवालय पहुंचकर विरोध प्रदर्शन किया था। इस दौरान प्रशासनिक अधिकारियों ने आश्वासन दिया था कि इस व्यवस्था को यथावत रखा जाएगा। लेकिन एक दिन बाद ही नये वाहनों को हरी झंडी दिखा दी गई।

रोज निकलता है 80 टन कूड़ा

प्रतिदिन 80 टन से अधिक कचरा एकत्र होता है। इस कचरे को पहले शहर के विभिन्न क्षेत्रों में बने कचरा प्वाइंट पर एकत्र किया जाता है। इसके बाद वहां से बड़े वाहन में लादकर बकरियांवाली स्थिति कचरा प्रबंधन प्लांट पर शिफ्ट किया जाता है। नप द्वारा ठेकेदार को शहर से एकत्रित किए गए कचरे के वजन के अनुसार ही भुगतान किया जाता है। प्लांट पर ही कचरे का वजन होता है। मगर, शहर में कचरा एकत्रित करने की व्यवस्था न होने के कारण लोग अपना कचरा खुले में ही फेंक देते थे। जिसके कारण कचरा डंपिंग स्टेशन पर नहीं पहुंचता था।

3 साल की स्वच्छता रैंकिंग

वर्ष रैंकिंग

2017 274

2018 294

2019 270

नप अधिकारियों ने किया वार्डवासियों को जागरूक, वाहनाें को दिखाई हरी झंडी

नगर परिषद की ओर से शहर के वार्ड 4 में गुरुवार को लोगों को जागरूक किया गया कि उन्हें अब कूड़ा उठवाने के लिए मंथली भुगतान करने की जरूरत नहीं है बल्कि नप प्रशासन ने शहर की सफाई व्यवस्था को सुधारने के लिए शहर के हर घर से फ्री कूड़ा लेने की मुहिम चलाई गई।डोर-टू-डोर कूड़ा लेने के लिए गाड़ी लगाई गई। यह निशुल्क घर-घर से कूड़ा लेगी। इस व्यवस्था का शुभारंभ वार्ड 4 से नगर परिषद के कार्यकारी प्रधान रणधीर सिंह ने किया। उन्होंने वाहनों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इस अवसर पर मुख्य सफाई निरीक्षक देवेंद्र बिश्नोई, सफाई निरीक्षक जोगिंद्र सिंह, अवतार सिंह, ठेकेदार के सुपरवाइज़र जतिन, सुनील कंबोज, रिछपाल सिंह सोढ़ी, डॉ. गुरचरण सिंह, गुरदीप सिंह औलख, जोगिंदर सिंह औलख, गुरुदर्शन सिंह सोढ़ी, जोगिंद्र सिंह कंबोज, दलेर सिंह भूमण, अजीत सिंह, परमजीत कौर, राज रानी, निंदर सिंह उपस्थित थे।

स्वच्छत सर्वेक्षण में यहां रही थी कमी, जिस कारण पिछड़ा सिरसा







कचरा उठाने के लिए लगाए आठ वाहन: मुख्य सफाई निरीक्षक


शिकायत रहती थी, इसलिए बदला सिस्टम


X
Sirsa News - haryana news nine steps in cleanliness ranking after 3 years action plans now door to door garbage will be raised
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना