पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Sirsa News Haryana News Special Committee Will Be Formed To Solve The Problem In Promotion

पदोन्नति में समस्या के समाधान के लिए गठित होगी स्पेशल कमेटी

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
चाैधरी देवीलाल यूनिवर्सिटी की कार्यकारी परिषद यानी ईसी की मीटिंग का आयोजन किया गया। इस दौरान मीटिंग में कॉमर्स विभाग के प्राध्यापक की पदोन्नति का केवल एकमात्र मुद्दा विचार के लिए रखा गया क्‍योंकि कोर्ट में सीडीएलयू प्रशासन की ओर से जवाब दिया जाना है। मीटिंग में सभी सदस्यों की गुजारिश पर वीसी ने मीटिंग के दौरान आश्वासन दिया कि प्राध्यापक की पदोन्नति में आ रही समस्या के समाधान के लिए स्पेशल कमेटी का गठन किया जाएगा।

लघु सचिवालय के डीसी ऑफिस स्थित एनआईसी के रूम में बुधवार को सीडीएलयू कार्यकारी परिषद की मीटिंग का आयोजन किया गया। इस मीटिंग की अध्यक्षता वीसी प्रो. विजय कायत ने की। रजिस्ट्रार डॉ. राकेश वधवा सहित अन्य सदस्य भी उपस्थित थे। कुछ सदस्य वीडियो कांफ्रेंस से भी मीटिंग में शामिल हुए। इस मीटिंग के दौरान कॉमर्स विभाग के प्राध्यापक डॉ. डीपी वार्नें की पदोन्नति के लिए हुए इंटरव्यू के बाद सीलबंद किया गया लिफाफा खाेला गया। सूत्र बताते हैं कि इंटरव्यू में शामिल रिपोर्ट में लिखा हुआ था कि डॉ. वार्नें पदोन्नति के लिए योग्यता ही पूरी नहीं करते। डॉ. वार्नें की सेल्फ एप्रेजल रिपोर्ट (एसएआर) पर हस्ताक्षर ही नहीं थे। जबकि नियम ये है कि संबंधित विभाग का चेयरमैन एएसआर भेजता है और वीसी उस पर हस्ताक्षर करता है। डॉ. वार्नें की एसएआर पर हस्ताक्षर न होने के कारण इंटरव्यू कमेटी सदस्यों ने उन्हें इंटरव्यू के लिए बुलाया ही नहीं।

सीडीएलयू में ईसी की मीटिंग।

सदस्यों ने की पदोन्नति के लिए पॉजीटिव सोच रखने की मांग

मीटिंग में उपस्थित सदस्यों ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि इस मीटिंग के दौरान सदस्यों ने मांग की कि प्राध्यापक के प्रति पॉजीटिव सोच रखी जाए और पदोन्नति में आ रही बाधा को मिलजुल कर दूर किया जाए। इस पर वीसी प्रो. विजय कायत ने भी सकारात्मक रवैया दिखाते हुए आश्वासन दिया कि पदोन्नति में जो समस्या आ रही है, उसके समाधान के लिए अब एक स्पेशल कमेटी का गठन किया जाएगा। यह कमेटी उन समस्याओं पर मंथन के बाद समाधान भी करेगी।

अब सीडीएलयू प्रशासन कोर्ट में रखेगी अपना पक्ष

कॉमर्स विभाग के प्राध्यापक डॉ. डीपी वार्ने की पदोन्नति को लेकर लंबे समय से विवाद चल रहा है। इस पर उन्होंने कोर्ट में याचिका दायर कर दी। कोर्ट ने सीडीएलयू प्रशासन को नियम अनुसार पदोन्नति प्रक्रिया शुरू करने की हिदायत दी। लेकिन सीडीएलयू प्रशासन ने प्रक्रिया नहीं चलाई। इस पर डॉ. वार्नें ने कोर्ट की अवमानना का केस कर दिया। इसलिए कोर्ट ने सीडीएलयू प्रशासन ने जवाब तलब किया था। अब सीडीएलयू प्रशासन ने कोर्ट के समक्ष अपना पक्ष रखना है।

मीटिंग हो चुकी है: रजिस्ट्रार

कार्यकारी परिषद की इमरजेंसी मीटिंग बुधवार को हो गई है। इस दौरान डॉ. वार्ने की पदोन्नति के लिए हुए इंटरव्यू का लिफाफा खाेला गया है। अब सीडीएलयू प्रशासन कोर्ट में अपना पक्ष रखेगा।\\\'\\\' -डा. राकेश वधवा, रजिस्ट्रार, सीडीएलयू, सिरसा।

खबरें और भी हैं...