• Hindi News
  • Rajya
  • Haryana
  • Sirsa
  • Sirsa News haryana news thousands of quintals mustard and wheat weed farmers demanded action against the caretaker officers of filling rain water

बरसाती पानी भरने से हजारों क्विंटल सरसों और गेहूं भीगा किसानों ने की लापरवाह अधिकारियों पर कार्रवाई की मांग

Sirsa News - भास्कर न्यूज | रानियां/ओढ़ां/सिरसा जिला में सोमवार देर रात को आई तेज आंधी और बरसात ने किसानों को भारी नुकसान...

Bhaskar News Network

Apr 17, 2019, 08:31 AM IST
Sirsa News - haryana news thousands of quintals mustard and wheat weed farmers demanded action against the caretaker officers of filling rain water
भास्कर न्यूज | रानियां/ओढ़ां/सिरसा

जिला में सोमवार देर रात को आई तेज आंधी और बरसात ने किसानों को भारी नुकसान पहुंचाया है। उनकी जहां खेत में खड़ी फसल भी प्रभावित हुई। वहीं रानियां, ओढ़ां और सिरसा मंडी में बेचने के लिए लाई गई सरसों और गेहूं बरसात के पानी में भीग गई। जिस कारण किसानों और व्यापारियों को नुकसान झेलना पड़ा है। प्रशासन की ओर से फसल को बरसात से बचाने के लिए मंडी में किए गए दावों की पोल भी खुल गई है।

किसानों ने अपनी फसल को बचाने के लिए मंडी में जमा बरसाती पानी को बाल्टियों से निकाला और भीगी सरसों और गेहूं को खुले में सुखाया है। सोमवार देर शाम अचानक मौसम में आए परिवर्तन के बाद रात्रि को तेज बारिश हुई। गेहूं भीग जाने से किसानों ने प्रशासन से नाराज होकर नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन किया। गुस्साए किसानों में सुखविंद्र सिंह, राम सिंह, अमीलाल ने बताया कि वे रानियां की अनाज मंडी में गेहूं बेचने के लिए लेकर आए जो कि बरसात की चपेट में आने से पानी से तरबतर हो गई। आरोप है कि मंडी अधिकारियों व आढ़तियों ने इसके लिए कोई पुख्ता इंतजाम नहीं किया ।जिसके कारण गेहूं की बोरिया भी बरसात के पानी में भीग गई गेहूं को बचाने के लिए किसानों ने अपने स्तर पर बरसाती पानी को बाहर निकाला। हालांकि मंडी अधिकारियों ने किसानों की सुविधाओं के लिए लंबे चौड़े दावे किए थे मगर मामूली बरसात में ही विभाग के दावों की पोल खोल दी है। गेहूं के भीग जाने से किसानों ने मंडी अधिकारियों व आढ़तियों के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए उचित कार्रवाई की मांग की है।

ओढां मंडी में पानी की निकासी का प्रबंध नहीं : अनाज मंडी में किसानों कि सरसों व गेहूं की फसल बरसाती पानी की निकासी न होने के कारण भीग गई व किसानों का हजारों का नुकसान हो गया । गांव पन्नीवाला मोटा के किसान राय सिंह ने बताया कि उसका 10- 12 क्विंटल गेहूं पानी में भीग गया । गांव किंगरा के किसान नायब सिंह, बलजिंदर सिंह का कहना है कि उनकी सरसों 11 अप्रैल को अनाज मंडी में आई थी व तुलाई न होने से 15 क्विंटल सरसों भीग गई। नुहियांवाली निवासी सूरजभान व मोहन राम, महेंद्र सिंह, आत्मा सिंह ने बताया कि तेज वर्षा होने के कारण उनका काफी नुकसान हो गया । व्यापारी महेंद्र जैन का कहना है कि अनाज मंडी में पानी की निकासी का प्रबंध न होने से किसानों की फसल में पानी भर जाता है और अनाज मंडी की एक तरफ चारदीवारी ही नहीं है।

ओढ़ां। किसान अपने गेहूं में से पानी निकलते हुए।

गुडियाखेड़ा में खरीद केंद्र कच्चा होने के कारण हुआ नुकसान

बरसात के कारण सिरसा मंडी और गुडियाखेड़ा खरीद केंद्र पर आई गेहूं की फसल भी भीगी। हालांकि व्यापारियों और किसानों की तरफ से गेहूं को बरसात से बचाने के प्रबंध किए गए थे। फिर भी गेहूं भीग गई। वहीं गांव गुडियाखेड़ा में खरीद केंद्र कच्चा होने के कारण गेहूं भीगी।किसानों ने सिरसा मंडी में गेहूं सुखाया है।

नमी के चलते अभी तक गेहूं की खरीद नहीं हुई शुरू

किसान मंडियों में गेहूं लेकर आने शुरू हो गए हैं, मगर गेहूं में नमी अधिक होने के चलते अभी तक खरीद नहीं हो पाई है। इसलिए किसान मंडी में ही गेहूं डालकर बैठे। यहां बता दें कि सरकार के नियम मुताबिक 12 प्रतिशत से अधिक नमी नहीं होनी चाहिए। अगर नमी अधिक है तो गेहूं की खरीद नहीं होगी।

जिम्मेदारी मंडी के आढ़ती की


X
Sirsa News - haryana news thousands of quintals mustard and wheat weed farmers demanded action against the caretaker officers of filling rain water
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना